Satnve bhav

आइए जानते हैं कुंडली के सप्तम भाव में राहु हो तो क्या फल देता है

समाचार सच, अध्यात्म डेस्क। सप्तम भाव में स्थित राहु जातक को अच्छा जीवनसाथी प्रदान करता है। जातक और उसके जीवनसाथी के बीच प्रेम बना रहता है। कुंडली के सप्तम भाव में शुभ राहु जातक को अच्छी नौकरी प्रदान करते हैं…

rahu chata

आइए जानते हैं कुंडली के छठे भाव में राहु हो तो क्या फल देता है

समाचार सच, अध्यात्म डेस्क। वैदिक ज्योतिष में जन्मकुंडली के पांचवें भाव को सहज भाव या पराक्रम भाव भी कहा जाता है। इस भाव से किसी भी जातक के छोटे भाई बन, नौकर चाकर, धैर्य, साहस, बल कंधे और हाथ आदि…

gas se hone bala sir dard

पेट में गैस के कारण हो रहा है सिरदर्द तो आजमाएं ये घरेलु उपाय, जल्द मिलेगी राहत

समाचार सच, स्वास्थ्य डेस्क। पेट में गैस के बनने पर पेट में जलन, खट्टी ढकार, सिरदर्द और सीने में दर्द तक की शिकायत हो सकती है। गैस की वजह से सिरदर्द होने पर अक्सर लोग दवाई का सहारा लेते हैं।…

khana

स्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को भोजन करते देखना शुभ होता है या अशुभ? जानिए

समाचार सच, अध्यात्म डेस्क। खाना परोसते हुए स्वयं को देखनास्वप्न शास्त्र के अनुसार यदि कोई व्यक्ति सपने में खुद को दूसरे लोगों को खाना परोसते हुए देखता है तो इस सपने का मतलब है कि आपको जल्द ही कोई सेवा…

pancve ghar rhau

आइए जानते हैं कुंडली के पांचवें भाव में राहु हो तो क्या फल देता है

समाचार सच, अध्यात्म डेस्क। वैदिक ज्योतिष में जन्मकुंडली के पांचवें भाव को सहज भाव या पराक्रम भाव भी कहा जाता है। इस भाव से किसी भी जातक के छोटे भाई बन, नौकर चाकर, धैर्य, साहस, बल कंधे और हाथ आदि…

Chote bhav mai rahu

आइए जानते हैं कुंडली के चौथे भाव में राहु हो तो क्या फल देता है

समाचार सच, अध्यात्म डेस्क। वैदिक ज्योतिष में जन्मकुंडली के चौथे भाव को सहज भाव या पराक्रम भाव भी कहा जाता है। इस भाव से किसी भी जातक के छोटे भाई बन, नौकर चाकर, धैर्य, साहस, बल कंधे और हाथ आदि…

Mala jaap

पूजा के समय किन देवी-देवता के मंत्र जाप के लिए कौन-सी माला की उपयोग करना चाहिए, आइए जानते हैं

समाचार सच, अध्यात्म डेस्क। यदि आप मंत्र जाप करते हैं तो इसके लिए आपको इस बारे में जानकारी होना आवश्यक है कि देवी-देवता के मंत्र जाप के लिए कौन सी माला का प्रयोग करना सही रहता है। मान्यता है कि…

tire ghar ka rahu

आइए जानते हैं कुंडली के तृतीया भाव में राहु हो तो क्या फल देता है

समाचार सच, अध्यात्म डेस्क। वैदिक ज्योतिष में जन्मकुंडली के तीसरे भाव को सहज भाव या पराक्रम भाव भी कहा जाता है। इस भाव से किसी भी जातक के छोटे भाई बन, नौकर चाकर, धैर्य, साहस, बल कंधे और हाथ आदि…

rahu dusre

आइए जानते हैं कुंडली के द्वितीय भाव में राहु हो तो क्या फल देता है

समाचार सच, अध्यात्म डेस्क। वैदिक ज्योतिष में सभी नौ ग्रहों में राहु को विशेष स्थान प्राप्त है। ज्योतिष शास्त्र में वैसे तो राहु को एक क्रूर ग्रह की संज्ञा दी गई है, पर माना जाता है कि जिस भी जातक…