नीट पेपर लीक के बाद अब UGC-NET भी रद्द, मोदी सरकार को विपक्ष ने घेरा, जानिए किसने क्या कहा…

खबर शेयर करें

समाचार सच, नई दिल्ली। नीट पेपर लीक मामले के बीच बुधवार को शिक्षा मंत्रालय ने देर शाम यूजीसी-नेट की परीक्षा भी रद्द कर दी। मंत्रालय ने अपने इस फैसले के पीछे परीक्षा की ईमानदारी को खतरे में पड़ना बताया है। नीट पेपर लीक और नेट की परीक्षा रद्द होने के बाद विपक्ष खासा नाराज है। मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस ने मोदी सरकार को आड़े हाथों लेते हुए पीएम से पूछा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कब नीट परीक्षा पर चर्चा करेंगे। कांग्रेस ने नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार को “पेपर लीक सरकार“ करार दिया और पूछा कि क्या अब शिक्षा मंत्री जिम्मेदारी लेंगे। कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा ने यूजीसी-नेट 2024 के विकास को लेकर केंद्र पर निशाना साधा और जवाबदेही तय करने की मांग की।

कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने अपने एक्स हैंडल पर पूछा कि नरेंद्र मोदी जी, आप परीक्षाओं की बहुत चर्चा करते हैं, लेकिन आप ’नीट परीक्षा पे चर्चा’ कब आयोजित करेंगे। यूजीसी-नेट परीक्षा रद्द करना लाखों छात्रों के जुनून की जीत है। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ’यह मोदी सरकार के अहंकार की हार है, जिसके कारण उन्होंने हमारे युवाओं के भविष्य को रौंदने का घृणित प्रयास किया।’

यह भी पढ़ें -   उत्तराखण्ड में साइबर ठगों ने एडिट कर युवती और उसके दोस्त की बना दी अश्लील फोटो, फिर कर दी 2 लाख की रकम की मांग

खरगे ने हमला जारी रखते हुए कहा कि केंद्रीय शिक्षा मंत्री पहले कहते हैं कि नीट में कोई पेपर लीक नहीं हुआ था, लेकिन जब बिहार, गुजरात और हरियाणा में शिक्षा माफिया की गिरफ्तारी हुई, तो मंत्री स्वीकार करते हैं कि कुछ घोटाला हुआ है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने पूछा कि नीट परीक्षा कब रद्द की जाएगी? खड़गे ने आगे कहा कि मोदी जी, नीट परीक्षा में भी अपनी सरकार की धांधली और पेपर लीक को रोकने की जिम्मेदारी लें।

इस बीच, कांग्रेस ने आरोप लगाया कि मोदी सरकार युवाओं के भविष्य के साथ खेल रही है। उन्होंने कहा कि कल देश के विभिन्न शहरों में यूजीसी-नेट परीक्षा आयोजित की गई थी। आज पेपर लीक होने के संदेह में परीक्षा रद्द कर दी गई। पहले नीट का पेपर लीक हुआ था और अब यूजीसी-नेट का पेपर। मोदी सरकार ’पेपर लीक सरकार’ बन गई है।

यह भी पढ़ें -   १८ जुलाई २०२४ बृहस्पतिवार का पंचांग, जानिए राशिफल में आज का दिन कैसा रहेगा आपका…

परीक्षा रद्द किए जाने पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने यह भी आरोप लगाया कि भाजपा सरकार का भ्रष्टाचार और ढिलाई युवाओं के लिए हानिकारक है। उन्होंने कहा कि नीट परीक्षा में घोटाले की खबर के बाद अब 18 जून को हुई नेट परीक्षा भी अनियमितताओं के डर से रद्द कर दी गई है। क्या अब जवाबदेही तय हो जाएगी? क्या शिक्षा मंत्री इस ढिलाई की जिम्मेदारी लेंगे? प्रियंका गांधी ने हिंदी में एक पोस्ट में पूछा। केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय ने मेडिकल प्रवेश परीक्षा नीट को लेकर चल रहे विवाद के बीच यूजीसी-नेट को रद्द करने का आदेश दिया और मामले की जांच सीबीआई को सौंप दी।

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440