उत्तराखण्ड में सोनिया गांधी और प्रदेश प्रभारी पर मुकदमे के खिलाफ धरने पर बैठें कांग्रेसी

खबर शेयर करें

देहरादून में कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष प्रीतम तथा हल्द्वानी में नेता प्रतिपक्ष इंदिरा नेतृत्व में सामाजिक दूरी के जरिए दिया धरना

समाचार सच, हल्द्वानी/देहरादून। कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी के खिलाफ कर्नाटक में एफआईआर दर्ज करने के खिलाफ उत्तराखण्ड कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष प्रीतम सिंह के नेतृत्व में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए कार्यकर्ताओं ने प्रदेश कार्यालय प्रांगण में धरना दिया। साथ ही इस कार्रवाई को केन्द्र की मोदी सरकार के इशारे पर राजनैतिक प्रतिशोध एवं बदले की भावना से कांग्रेस के शीर्ष नेताओं के उत्पीड़न की कार्रवाई बताया। इस दौरान प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि राष्ट्रीय अध्यक्ष के खिलाफ कर्नाटक में एफआईआर दर्ज किया जाना कोरोना महामारी में केन्द्र सरकार की नाकामी को छुपाने के लिए विपक्षी दल के नेताओं के खिलाफ बदले की भावना से राजनैतिक षड़यंत्र के तहत फर्जी मुकदमें दर्ज कर उनका उत्पीड़न किया जा रहा है। कहा कि केन्द्र सरकार के इशारे पर कांग्रेस नेताओं पर अलोकतांत्रिक तरीके से मुकदमें दर्ज किये जा रहे हैं, जो निन्दनीय है, जिसकी कांग्रेस पार्टी कड़े शब्दों में भर्त्सना करती है। उन्होंने भाजपा पर आरोप लगाते हुए कहा कि केन्द्र की भाजपा सरकार के इशारे पर लोकतंत्र के सभी मानकों एवं मापदण्डों पर कुठाराघात करते हुए अलोकतांत्रिकता का अपना घिनौना चेहरा सबके सामने लाते हुए कांग्रेस पार्टी के शीर्ष नेतृत्व को जनता की आवाज उठाने से रोकने के लिए उनके विरूद्ध झूठे मुकदमें दर्ज कर उन्हें प्रताड़ित एवं अपमानित किया जा रहा है।

धरने में पूर्व प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय, प्रदेश महामंत्री संगठन विजय सारस्वत, उपाध्यक्ष सूर्यकान्त धस्माना, आर्येन्द्र शर्मा, पूर्व मंत्री शूरवीर सिंह सजवाण, प्रदेश महामंत्री हरिकृष्ण भट्ट, नवीन जोशी, राजेन्द्र शाह, गोदावरी थापली, पूर्व मंत्री अजय सिंह, विशेष आमंत्रित सदस्य सुभाष चौधरी, महानगर अध्यक्ष लालचन्द शर्मा पूर्व विधायक राजकुमार, जिलाध्यक्ष गौरव चौधरी, जिलाध्यक्ष संजय किशोर, प्रभुलाल बहगुणा समेत कई कांग्रेसी मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें -   समाज कल्याण मंत्री ने किया विद्यालय परिसर में वृक्षारोपण

इधर हल्द्वानी में कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी पर की गई एफआईआर के विरोध में बुद्ध पार्क में नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश ने धरना दिया। इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए कांग्रेसी कार्यकर्ताओं धरना दिया।

इस मौके पर नेता प्रतिपक्ष डॉ इंदिरा हृदयेश ने कहा कि भाजपा तानाशाही पर उतर आई है। उत्तराखंड कांग्रेस प्रभारी अनुग्रह नारायण सिंह पर भी मुकदमा दर्ज किया गया है। केंद्र से लेकर राज्यों तक में विपक्ष की आवाज को दबाने का प्रयास किया जा रहा है। प्रधानमंत्री राहत कोष को लेकर सोनिया गांधी द्वारा दिए बयान को लेकर विवाद खड़ा होने पर उप्र, बिहार और कर्नाटक तक में मुकदमा दर्ज किया गया है। इसके अलावा प्रदेश प्रभारी अनुग्रह नारायण के खिलाफ किसी अन्य मामले में इलाहबाद में कार्रवाई की गई। उनका कहना था कि भाजपा दमनकारी हथकंडे अपनाकर विपक्ष को कमजोर करने में जुटी है। मजदूरों की पीड़ा उठाने पर पार्टी के नेताओं के खिलाफ दबाव में आकर पुलिस-प्रशासन कार्रवाई करता है।

यह भी पढ़ें -   टुकटुक से जा रही महिला की सोने चेन हुई गायब, पीड़िता ने लगायी पुलिस से गुहार

धरना देने वालों में जिला अध्यक्ष सतीश नैनवाल, पूर्व दर्जा राज्यमंत्री महेश शर्मा एवं पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष हेमंत बगड़वाल मौजूद थे। धरने के समर्थन में पूर्व प्रमुख भोला भट्ट, हुकुम सिंह कुवर, जगमोहन चिल्वाल, प्रदेश महामंत्री गोविन्द बिष्ट, हर्ष पान्डे सहित कई वरिष्ठ नेताओं ने अपने अपने घरों में रहकर ही सोनिया गांधी पर लगे मुकदमे के विरोध मे धरना दिया।

Apply Online admission 2020-21 visit :-
https://www.edumount.org/

उधर पिथौरागढ़ में भी कांग्रेसियों ने धरना दिया। कांग्रेस कार्यालय में दिए गए धरने में कांग्रेसियों ने भाजपा के दबाव में सोनिया गांधी के खिलाफ फर्जी मुकदमा दर्ज करने का आरोप लगाया। सरकार पर पीएम केयर फंड का ब्यौरा नही दिए जाने कोरोना से निपटने के लाकडाउन की नीति फेल होने पर देश की जनता का ध्यान बटाने के लिए फर्जी मुकदमा दर्ज करने का आरोप लगाया। सोनिया गांधी पर दर्ज मुकदमा वापस लेने की मांग की गई।

Ad - Harish Pandey
Ad - Swami Nayandas
Ad - Khajaan Chandra
Ad - Deepak Balutia
Ad - Jaanki Tripathi
Ad - Asha Shukla
Ad - Parvati Kirola
Ad - Arjun-Leela Bisht

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440

Leave a Reply

Your email address will not be published.