अखिलेश यादव करहल विधानसभा सीट को छोड़ सकते हैं, केंद्र की राजनीति पर करेंगे फोकस

खबर शेयर करें

समाचार सच, यूपी/लखनऊ। उत्तर प्रदेश में शानदार जीत दर्ज करने के बाद अब समाजवादी पार्टी के चीफ अखिलेश यादव विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष का पद छोड़कर सेंट्रल पॉलिटिक्स पर फोकस करेंगे। बता दें कि इस लोकसभा इलेक्शन में उत्तर प्रदेश में 37 लोकसभा सीटों पर जीत हासिल की है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, अखिलेश यादव करहल विधानसभा सीट को छोड़ सकते हैं और फिलहाल अभी सेंट्रल पॉलिटिक्स पर फोकस करेंगे। समाजवादी पार्टी ने इस बार यूपी में अब तक का बेहतर प्रदर्शन किया है। अखिलेश के सीट छोड़ने के बाद तेज प्रताप यादव का नाम तेजी से चर्चाओं में बना हुआ है। तेज प्रताप पहले पूर्व सीएम मुलायम सिंह यादव और इस चुनाव में डिंपल यादव के साथ मैनपुरी में चुनाव प्रचार कर चुके हैं। वह मैनपुरी से सांसद भी रह चुके हैं।

यह भी पढ़ें -   हल्की बारिश के दौरान छींक से राहत पाने के लिए आप घर में ही कौन-कौन से उपाय करें

आज समाजवादी पार्टी के जीते हुए सांसदों की लखनऊ में पार्टी के मुख्यालय में मीटिंग हुई थी। इस मीटिंग में सभी नए सांसद एक मजबूत विपक्ष के रूप में अपने-अपने क्षेत्र में कैसे काम करेंगे और जनता के मुद्दों को सड़क से संसद तक कैसे ले जायेंगे। इस बात पर भी काफी चर्चा हुई। सपा मुखिया अखिलेश यादव कन्नौज लोकसभा सीट से चुनाव जीते हैं।

यूपी में नेता प्रतिपक्ष बन सकते हैं शिवपाल यादव
वहीं, अब सभी के सामने एक बड़ा सवाल ये खड़ा हुआ है कि समाजवादी पार्टी के मुखिया के दिल्ली में राजनीति संभालने के बाद उत्तर प्रदेश में प्रतिपक्ष का पद कौन संभालेगा। ऐसे में यह कयास लगाया जा रहा है कि शिवपाल यादव को विधायक दल का नेता बनाया जा सकता है। क्योंकि शिवपाल यादव अब विधायक दल में सबसे वरिष्ठ नेता है। इसलिए ऐसा माना जा रहा है कि उन्हें नेता प्रतिपक्ष का पद दिया जा सकता है। फिलहाल इस पर अंतिम फैसला समाजवादी पार्टी चीफ अखिलेश यादव ही लेंगे।

यह भी पढ़ें -   कमरे में मिला संदिग्ध परिस्थितियों में पंतनगर एयरपोर्ट कर्मचारी का शव, महिला की वेशभूषा धारण किए हुए था मृतक

सपा नेता ने जीती कन्नौज लोकसभा सीट
उत्तर प्रदेश की कन्नौज लोकसभा सीट से सपा प्रमुख अखिलेश यादव को डेढ़ लाख से ज्यादा वोटों से जीत मिली। अखिलेश को कुल 6 लाख 42 हजार 292 वोट हासिल हुए। वहीं, भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार सुब्रत पाठक को 4 लाख 71 हजार 370 मत मिले। बहुजन समाज पार्टी के इमरान बिन जफर को 81 हजार 639 वोटों से ही संतोष करना पड़ा।

Ad Ad Ad Ad Ad
Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440