राज्य आंदोलनकारियों के विरूद्ध हुए मुकदमें से नाराज आंदोलनकारी संयुक्त समिति ने फूंका सरकार का पुतला

Ad
खबर शेयर करें

समाचार सच, देहरादून। चिन्हित राज्य आंदोलनकारी संयुक्त समिति के मुख्य संरक्षक और उत्तराखंड कांग्रेस के उपाध्यक्ष धीरेंद्र प्रताप ने उत्तराखंड सरकार द्वारा 14 जुलाई को आंदोलनकारियों द्वारा किए गए राजभवन घेराव मे शामिल राज्य निर्माण आंदोलनकारियों के विरुद्ध मुकदमे दर्ज किए जाने को सरकार का आंदोलनकारी विरोधी कदम बताते हुए इसके विरूद्ध राज्य भर में आंदोलन तेज किये जाने की चेतावनी दी है।

राजधानी दून मे चिन्हित राज्य आंदोलनकारी संयुक्त समिति ने उत्तराखंड सरकार का पुतला दहन किया। इस अवसर पार धीरेंद्र प्रताप ने कहा की 10 प्रतिशत आरक्षण आंदोलनकारियों को मिल नहीं जाता तब तक आंदोलन जारी रहेगा। धीरेंद्र प्रताप ने कहा की आंदोलनकारियों की नौकरियों को बहाल किया जाये। उन्होंने कहा की राज्य आंदोलनकारियों पर दर्ज किये गये मुकदमे वापस लिए जाये। समिति के केंद्रीय संयोजक मनीष कुमार के संचालन में आज हुए सत्याग्रह में धीरेंद्र प्रताप मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हुए और पुतले को मुखाग्नि दी। मनीष कुमार ने कहा कि देहरादून समेत राज्य भर के आंदोलनकारियों की जिस तरह से उपेक्षा और अपमान हुआ है और चिन्हिकरण से जैसे उन्हें वंचित रखा गया है आंदोलनकारी ये बर्दाश्त नहीं करेंगे। और सरकार की ईट से ईट बजा देंगे। चिन्हित राज्य आंदोलनकारी संयुक्त समिति उत्तराखंड के केंद्रीय संयोजक व पूर्व राज्य मंत्री मनीष कुमार ने कहा की भाजपा सरकार ने साडे 4 साल में राज्य आंदोलनकारियों के लिए कोई भी कार्य नहीं किया है, जिसके लिए उन्हें राज्य की जनता से माफी मांगनी चाहिए। अनेकों बार ज्ञापन के माध्यम से सरकार को चेताने का काम राज्य आंदोलनकारियों ने किया है परंतु सरकार के कान में जूं तक नहीं रेंग रही है। आंदोलनकारियों की मांगों के मामले में भाजपा की राज्य सरकार गूंगी बहरी बन जाती है। मीडिया कमेटी के चेयरमैन व प्रदेश कांग्रेस महामंत्री नवीन जोशी ने इस अवसर पर कहा कि राज्य सरकार के जो दो पूर्व मुख्यमंत्री गए उनकी नकारात्मकता का ही परिणाम है कि राज्य आंदोलनकारी अपनी समस्याओं का समाधान करवाने के लिए आज सड़कों पर धक्के खा रहे हैं। इसके लिए भाजपा सरकार दोषी है और आने वाले समय में जनता इनको सत्ता विहीन करके सबक सिखाएगी। समस्याओं का समाधान ना होने तक राज्य आंदोलन करियो का संघर्ष जारी रहेगा।

यह भी पढ़ें -   मुख्यमंत्री ने किया नरेंद्रनगर में 45वां सिद्धपीठ श्री कुंजापुरी पर्यटन एवं विकास मेले का उद्घाटन

पुतला जलाने वालों में मुख्य रूप से पूर्व राज्य मंत्री व चिन्हित राज्य आंदोलनकारी संयुक्त समिति उत्तराखंड के केंद्रीय संयोजक मनीष कुमार, मीडिया कमेटी के चेयरमैन व प्रदेश कांग्रेस महामंत्री नवीन जोशी, आंदोलनकारी नेता पूरन सिंह रावत, प्रदेश उपाध्यक्ष पीयूष, विजेश नवानी, विशंभर बौंठियाल, महेश जोशी, अशोक मल्होत्रा, सुनील सैनी, श्रीमती मधु थापा, कैलाश ठाकुर, अजय सैनी, दीपक प्रजापति, मलकीत सिंह, संतोष भारती, सावित्री थापा, अजय किशोर भंडारी, पुष्कर रावत, अंकित बिष्ट, शिवराम, शरद, बिजेंदर कनौजिया, छोटेलाल गौतम, सुदामा सिंह, मोहन सिंह रावत आदि उपस्थित थे।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *