आशाओं ने लगाया सरकार पर वादा खिलाफी का आरोप, पुनः शुरू किया कार्यबहिष्कार

Ad
खबर शेयर करें

समाचार सच, हल्द्वानी। ऐक्टू से संबद्ध उत्तराखण्ड आशा हेल्थ वर्कर्स यूनियन ने अपनी घोषणा को अमल में लाते हुए उत्तराखंड की भाजपा सरकार पर वादाखिलाफी का आरोप लगाते हुए मंगलवार से पुनः हड़ताल शुरू कर दी। आशाओं का कहना है कि जब तक राज्य की धामी सरकार अपना वादा पूरा नहीं करती तब तक अनिश्चिकालीन कार्यबहिष्कार जारी रहेगा।

इस मौके पर उत्तराखण्ड आशा हेल्थ वर्कर्स यूनियन की प्रदेश अध्यक्ष कमला कुंजवाल ने जारी बयान में कहा कि राज्य सरकार जब झूठा वादा करेंगी तो फिर किस पर भरोसा किया जायेगा। उन्होंने सीएम पर आरोप लगाते हुए कहा कि आशाओं ने खटीमा में मुख्यमंत्री के 20 दिन में शासनादेश जारी करने के स्पष्ट आश्वासन पर ही अपनी हड़ताल स्थगित की थी, लेकिन राज्य के मुख्यमंत्री ने अपनी घोषणा पर अमल न करके आशाओं का भरोसा तोड़ा है। तभी आशाएँ सरकार के वादाखिलाफी के रवैये से तंग आकर पुनः हड़ताल पर आने को बाध्य हुई हैं। यदि राज्य की भाजपा सरकार में जरा सी भी नैतिकता बची है तो उसे अपना वादा निभाना चाहिये। अन्यथा सरकार को आशाओं का गुस्सा झेलने के लिए तैयार रहना चाहिए।

यह भी पढ़ें -   मुख्यमंत्री ने की कोविड-19 से बचाव कार्यों की समीक्षा, जिलाधिकारियों को दिये निर्देश-डेंगू से बचाव को व्यापक स्तर पर चलाया जाये जन जागरूकता अभियान

महिला अस्पताल में नारेबाजी के साथ प्रदर्शन करने वालों में प्रदेश अध्यक्ष कमला कुंजवाल, रिंकी जोशी, रीना बाला, सरोज रावत, भगवती बिष्ट, डॉ कैलाश पाण्डेय, पुष्पा जोशी, रजनी, हंसी बेलवाल, सायमा सिद्दीकी, अलीमा सिद्दीकी, रेशमा, प्रियंका, सुनीता अरोड़ा, गीता देवी, चन्द्रकला अधिकारी, मीना शर्मा, चंपा मंडोला, सुनीता सक्सेना, सैला, लता, नीमा, पूनम, लीला, ममता, सुनीता, माधुरी, कमला, जानकी, शाइस्ता, दीपा, रेखा आदि शामिल रहे।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *