शुगर कंट्रोल करेगी आयुर्वेदिक सोंठ, जानिए कैसे करें सेवन

Ad
खबर शेयर करें

समाचार सच, स्वास्थ्य डेस्क। भारतीय रसोई में पकवान का स्वाद बढ़ाने के लिए सोंठ का इस्तेमाल किया जाता है। मगर, औषधीय गुणों से भरपूर सोंठ सेहत के लिए भी बहुत फायदेमंद है। प्राचीन काल से इसका इस्तेमाल आयुर्वेदिक दवा बनाने के लिए भी होता आ रहा है। चलिए आपको बताते हैं कि सोंठ से सेहत को क्या-क्या फायदे मिलते हैं और गर्मियों में कितनी मात्रा में सेवन करें।
सोंठ की तासीर
अदरक की तरह सोंठ की तासीर भी गर्म होती है इसलिए गर्मियों में कम मात्रा में इसका सेवन करना चाहिए। गर्मियों में अधिक सोंठ खाने से सीने में जलन, डायरिया, पेट संबंधी रोग होने की आशंका बढ़ जाती है। अगर नियमित सोंठ ले रहे हैं तो चुटकीभर सेवन करें। पूरे महीने में 1 चम्मच से ज्यादा सोंठ ना लें।
सूजन कम करे
काले नमक के साथ सोंठ पाउडर का सेवन करें। इससे शरीर की सूजन कम होती है और दर्द से भी आराम मिलता है।
अपच से छुटकारा
अपच के कारण पेट में दर्द व परेशानी हो जाती है। ऐसे में सोंठ पाउडर का सेवन कब्ज से छुटकारा दिलाता है और दर्द को भी दूर करता है।
कोलेस्ट्राल कम करे
शोध के मुताबिक, सोंठ कोलेस्ट्रॉल व ट्राइग्लिसराइड के स्तर को कम करता है। साथ ही इससे दिल की बीमारियों का खतरा भी कम होता है।
ब्लड शुगर कंट्रोल
एक गिलास गर्म पानी में चुटकीभर नमक और 1 चम्मच सोंठ पाउडर मिलाकर पीएं। यह शरीर में ग्लूकोज व रक्त शर्करा को नियंत्रित करता है।
जी मचलाना
प्रेगनेंसी में जी मचलाना या मॉर्निंग सिकनेस को दूर करने के लिए 1 गिलास गर्म पानी में 1/2 चम्मच सोंठ पाउडर व शहद मिलाकर पीएं।
पीरियड्स दर्द से आराम
मासिक धर्म में असहनीय दर्द, पीठ व कमर में दर्द, मांसपेशियों में ऐंठन की समस्या हो जाती है तो गर्म पानी के साथ सोंठ पाउडर लें। इससे आपको आराम मिलेगा।
वजन घटाए
इसमें थर्माेजेनिक गुण होते हैं, जो मेटाबॉलिज्म को बूस्ट और ग्लूकोज लेवल को कंट्रोल करता है। साथ ही इससे फैट भी बर्न होता है, जिससे वजन घटाने में मदद मिलती है।
माइग्रेन में लाभकारी
सोंठ में आयरन, फाइबर भरपूर होते हैं, जिससे शरीर व ब्रेन में ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है। साथ ही इससे मस्तिष्क में ऑक्सीजन सही मात्रा में पहुंचती है, जिससे माइग्रेन दर्द से राहत मिलती है।
इम्यूनिटी बढ़ाएं
1-2 चुटकी सोंठ व शहद को गर्म पानी को साथ नियमित लेने से इम्युनिटी बढ़ती है। इससे शरीर को मौसमी बीमारियों से लड़ने की ताकत मिलती है।
बॉडी डिटॉक्स करे
1 गिलास दूध में 1/2 चम्मच सोंठ व शहद मिलाकर हफ्ते में 1 बार पीने से शरीर के विषैले पदार्थ बाहर निकल जाते हैं। साथ ही इससे गठिया व जोड़ों के दर्द से भी आराम मिलता है।
कब ना करें सोंठ का सेवन?

  • शरीर में बहुत ज्यादा जलन, पेशाब में जलन हो या घाव हो तो सोंठ का सेवन ना करें।
  • गर्मी के दिनों में सोंठ का सेवन बिल्कुल ना करें
  • जिन्हें पित्त बढ़ने के कारण फीवर हो उन्हें सोंठ नहीं लेनी चाहिए।
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *