आयुष्मान योजना से वंचित राज्य के पांच लाख लोगों को मिली बड़ी राहत

खबर शेयर करें

समाचार सच, देहरादून। उत्तराखंड में राशन कार्ड नहीं होने की वजह से आयुष्मान योजना से वंचित राज्य के पांच लाख लोगों को बड़ी राहत मिल गई है। राज्य स्वास्थ्य प्राधिकरण ने ऐसे परिवारों के गोल्डन कार्ड 2011 के सामाजिक आर्थिक सर्वे के आधार पर बनाने का निर्णय लिया है।

पांच लाख रुपये तक के निशुल्क इलाज की आयुष्मान योजना के गोल्डन कार्ड अभी तक 2014-15 के राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना के डेटा के आधार पर बनाए जा रहे थे। इसके अलावा इसी अवधि की वोटर लिस्ट भी इसका आधार बनाई गई थी। लेकिन बड़ी संख्या में ऐसे भी लोग हैं जो उस अवधि में राज्य में नहीं थे और अब लौट आए। लेकिन राज्य में होने के बावजूद आयुष्मान योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा था। इन लोगों को योजना का लाभ दिलाने के लिए अब आयुष्मान सोसायटी ने सामाजिक आर्थिक सर्वे 2011-12 के पूरे डेटा को भी शामिल करने का निर्णय लिया है। अभी तक इस सर्वे से केवल बीपीएल परिवारों का ही डेटा लिया जा रहा था। ऐसे में अब उन लोगों के कार्ड बन जाएंगे जिनके पास 2014 से पहले के राशन कार्ड तो नहीं हैं लेकिन उनका नाम सर्वे में शामिल है। आयुष्मान योजना के अधिकारियों का कहना है कि इससे पांच लाख के करीब लोगों को लाभ मिलेगा।

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440

Leave a Reply

Your email address will not be published.