बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष का निकाय चुनावों में देरी के आरोपों पर पलटवार, कांग्रेस ओबीसी विरोधी, नहीं चाहती उन्हें मिले निकायों में अधिकार

खबर शेयर करें

समाचार सच, देहरादून। भाजपा ने निकाय चुनावों में देरी के आरोपों पर पलटवार कर कहा, कांग्रेस ओबीसी विरोधी है और नही चाहती उन्हे निकायों में हक मिले। प्रदेश अध्यक्ष श्री महेंद्र भट्ट ने निकाय चुनाव की प्रक्रिया के पीछे होने को लेकर कांग्रेसी बयानबाजी की कड़ी आलोचना की है।

उन्होंने कहा, सभी जानते हैं कि चुनावों में ओबीसी को प्रतिनिधित्व देने को लेकर सुप्रीम कोर्ट के स्पष्ट निर्देश हैं। इस संवैधानिक बाध्यता का सम्मान करते हुए सरकार ने एक सदस्यीय आयोग बनाया है जो इस महत्वपूर्ण विषय पर अपनी रिपोर्ट तैयार कर रहा है। जैसे ही यह रिपोर्ट सामने आयेगी, उसको देखते हुए सभी निकायों में आरक्षण का निर्धारण किया जाएगा। वहीं दूसरी तरफ नए निकायों के बनने और निकायों की सीमा में विस्तार होने के कारण मतदाता सूची तैयार करने का काम चल रहा है। जहां तक सवाल है भाजपा का तो हम चुनाव के लिए पूरी तरह तैयार हैं, बस चुनाव आयोग की घोषणा का इंतजार है।

यह भी पढ़ें -   हल्द्वानी में होने वाले ईजा बैणी महोत्सव में शामिल होने वाली बसों का रूट प्लान एवं पार्किंग की व्यवस्था होगी यह

उन्होंने आरोप लगाते हुए कि कांग्रेस भी संवैधानिक बाध्यता की सच्चाई को अच्छी तरह से जानती। लेकिन कांग्रेस हमेशा से ओबीसी विरोधी रही है और वो नही चाहती है कि ओबीसी समाज को निकाय चुनावों में उनका अधिकार मिले। अन्यथा अपने शासन में सामान्य परिस्थितियों में भी कभी निकाय चुनावों को समय पर नहीं कराने वाली कांग्रेस इस तरह की बयानबाजी नही करती। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि चुनाव अभी हो या कुछ समय बाद, कांग्रेस का कुछ नही होने वाला और जनता भाजपा के पक्ष में रिकॉर्ड मतदान करने का मन बना चुकी है। क्योंकि भाजपा सरकार अपने जनकल्याणकारी योजनाओं एवं कामों और पार्टी संगठन अपनी सक्रियता से हमेशा जनता के मध्य रहती है।

Ad Ad Ad Ad Ad

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440