ब्रेड कई गंभीर बीमारियों को देती है दावत, जाने कैसे हैं सेहत के लिए नुकसानदायक

Ad
खबर शेयर करें

समाचार सच, स्वास्थ्य डेस्क। ज्यादातर लोग सुबह शाम के नाश्ते में ब्रेड खाना पसंद करते हैं, खास कर बच्चे। नाश्ते में ब्रेड बेशक एक हल्की डाइट है लेकिन यह स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक है। आपको बता दें ब्रेड या ब्रेड से बने डिश खाने में जितना स्वादिष्ट होता है उससे कई गुना यह हमारी सेहत पर बूरा प्रभाव डालता है। दरअसल, ब्रेड में मौजूद पोटेशियम ब्रोमेट स्वास्थ्य के लिए काफी हानिकारक है। इसका नियमित तौर पर सेवन करना सेहत के लिए और भी खतरनाक है। इससे कई गंभीर बीमारियां शरीर को घेर लेती है। खासकर पोषण के मामले में व्हाइट ब्रेड बिल्कुल शून्य है। आज हम आपकों सफेद ब्रेड के बारे में विस्तार से बताएंगे कि यह हमारी सेहत के लिए किस तरह नुकसानदेय है-

यह भी पढ़ें -   मुलेठी एक ऐसी आयुर्वेदिक औषधि है जो कई प्रकार की बीमारियों से बचाती है

जानें कैसे बनता है सफेद ब्रेड?
व्हाइट ब्रेड बनाने के लिए गेहूं के आंटे को विभिन्न रसायनों का इस्तेमाल कर उसे ब्लीच किया जाता है जिससे आटा सफेद दिखाई देता है। वहीं इस मैदे में पैरोक्साइड, क्लोरीन डाइऑक्साइड और पोटेशियम ब्रोमेट जैसे रसायन मिलाए जाते हैं। इन रसायनों का प्रयोग किया जाता है, जोकि स्वास्थ्य के लिए काफी खतरनाक हो सकता है।

सेहत के लिए नुकसानदायक है व्हाइट ब्रेड-
सभी ब्रेड में लगभग कैलोरी की मात्रा एक समान पाई जाती है। वहीं सफेद ब्रेड के एक टुकड़े में करीब 77 कैलोरी की मात्रा होती है। लेकिन इसमें ग्लाइसेमिक इंडेक्स उच्च मात्रा में पाया जाता है। इसमें पोषक तत्व की मात्रा लगभग शून्य के बराबर होती है।

यह भी पढ़ें -   रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करेंगे दादी मां के घरेलू नुस्खे

ब्लड शुगर को बढ़ाता है-
सफेद ब्रेड में ग्लाइमेक्स का लेवल काफी हाई होता है,जिससे ग्लूकोज के स्तर में तेजी से वृद्धि होती है और रक्त शर्करा के स्तर को तेजी से बढ़ाता है। ब्रेड का अधिक सेवन शुगर के मरीजों के लिए खतरनाक है, यह ब्लड शुगर लेवल में तेजी से वृद्धि करता है। और कई गंभीर बीमारियों को न्योता देता है।

मोटापा बढ़ाए-
सफेद ब्रेड मोटापा बढ़ाता है। इसलिए भूलकर भी सफेद ब्रेड का सेवन ना करें। व्हाइट ब्रेड वजन में तेजी से वृद्धि करता है। इसमें पोषक तत्वों और फाइबर की कमी होती है। रिफाइंड कार्ब्स से बना यह ब्रेड आपके रक्त शर्करा के स्तर को भी बढ़ा सकता है। इसलिए व्हाइट ब्रेड से परहेज करे।

यह भी पढ़ें -   देसी घी,अदरक और दालचीनी जैसे घरेलू उपायों से कम होगा माईग्रेन का दर्द, जानिए कैसे

डिप्रेशन
सफेद ब्रेड आपके मूड को नकारात्मक रूप से प्रभावित करता है। अमेरिकन जर्नल ऑफ न्यूट्रिशन में प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार, सफेद ब्रेड का सेवन करने से 50 से ऊपर की महिलाएं डिप्रेशन का शिकार हो सकती है। इतना ही नहीं सफेद ब्रेड से थकान, उल्टी, मिचली जैसी शिकायत भी हो सकती है।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *