मुहिम रिश्तों की फुलवारी और एमबीपीजी के हिन्दी विभाग ने की बीज-पौध वितरण कार्यक्रम की शुरूआत

Ad
Ad
खबर शेयर करें

समाचार सचए हल्द्वानी। मुहिम रिश्तों की फुलवारी और एमबीपीजी के हिन्दी विभाग के संयुक्त प्रयास से बीज.पौध वितरण कार्यक्रम की शुरुआत की गयी। इस दौरान मुहिम के संयोजक कमल उप्रेती ने प्राचार्य डॉ बीआर पंत के माध्यम से पीपलए अनारए पपीताए बरगदए नींबू आदि के पौधेए सहजनए पपीताए गेलार्डियाए तुलसी कॉसमॉस आदि के बीज प्राध्यापकों व कर्मचारियों को वितरित किये।

यह भी पढ़ें -   राज्यों के भाजपा मुक्त होने के साथ देश होगा महंगाई मुक्त : हरीश रावत

कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए प्राचार्य डॉ बीआर पन्त ने कहा कि कोरोना काल में जब हम सब रिश्तों से दूर होते जा रहे हैंए ऐसे समय में फूलए फल के बीजए पौधेए कटिंग आदि एक.दूसरे को देकर मेलजोल बढ़ा सकते हैं..यादों में बने रह सकते हैं।

मुहिम को आगे बढ़ाने की अपील करते हुए कमल उप्रेती ने आग्रह किया कि रिश्तों की फुलवारी मुहिम से अधिक से अधिक संख्या में लोग जुड़ें। शहर के प्रकृति प्रेमी फूलए फलए सब्ज़ी के पौधेए बीजए कटिंग संग्रह केंद्र श्री मार्बलए जगदम्बानगर पर जमा कर सकते हैं और जिसे जरूरत हो वे ले भी जा सकते हैं।

यह भी पढ़ें -   पुलिस को हत्थे चढ़ा स्मैक बेचने वाला

पौध वितरण के पश्चात हिन्दी विभाग में प्रकृति पर आधारित काव्य गोष्ठी का आयोजन किया। कार्यक्रम का संचालन डॉ जयश्री भंडारी द्वारा और धन्यवाद ज्ञापन विभागाध्यक्ष डॉ प्रभा पंत द्वारा किया गया।
कार्यक्रम में डॉ एसएन सिद्धए राजेश पंतए राकेश पाण्डेए डॉ आशा हर्बोलाए डॉ चंद्रा खत्रीए डॉ जगदीश जोशीए डॉ विमला सिंहए डॉ देवयानी भट्टए डॉ दीपा गोबाड़ीए डॉ सन्तोष मिश्रए महेन्द्र स्यूनरी सहित शोधार्थीए विद्यार्थी उपस्थित रहे।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *