काठगोदाम में निर्माणाधीन सड़कों एवं पुलों पर 10 दिन के भीतर लगे सीसीटीवी कैमरे: दीपक रावत

खबर शेयर करें

कुमाऊं आयुक्त के निर्देश-अधिकारी सप्ताह में एक बार स्थलीय निरीक्षण करने के साथ-साथ रखे निर्माण कार्यों में समयबद्वता एवं गुणवत्ता का विशेष ध्यान

समाचार सच, हल्द्वानी। आयुक्त कुमाऊं मण्डल दीपक रावत ने कहा कि काठगोदाम में निर्माणाधीन सड़कों एवं पुलों पर मानिटरिंग को सीसीटीवी कैमरे लगाये जाये। श्री रावत शुक्रवार को यहां काठगोदाम स्थित सर्किट हाउस में एनएचएआई, पीएमजीएसवाई, लोनिवि एवं एनएच के मण्डलस्तरीय अधिकारियों के साथ निर्माणाधीन सड़कों एवं पुलों की समीक्षा बैठक ले रहें थे। इस दौरन उन्होंने मण्डलीय अधिकारियों को निर्देश दिये कि ेजिन स्थलों में निर्माण कार्य चल रहा है वहां 10 दिन के भीतर सीसीटीवी कैमरे स्थापित किए जाए ताकि समय-समय पर कार्यों की मानिटरिंग की जा सके। उन्होंने अधिकारियों को सप्ताह में एक बार स्थलीय निरीक्षण करने, निर्माण कार्याे मे समयबद्वता एवं गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखने के निर्देश दिए।

समीक्षा बैठक में अधिशासी अभियन्ता वर्ल्ड बैंक ने बताया कि मण्डल में लगभग 196 करोड लागत के लगभग 28 पुलांे पर निमार्ण कार्य चल रहा है। आयुक्त ने अधिशासी अभियन्ता को निर्देशित किया कि वर्तमान में जितने भी पुलों पर निर्माण चल रहा है उनकी पाक्षिक प्रगात से फोटोग्राफ सहित आख्या उपलब्ध कराई जाए। बैठक मे अधीक्षण अभियंता लोनिवि ने बताया कि मण्डल मे लोनिवि के 242 कार्याे के सापेक्ष 169 योजनाओं पर कार्य गतिमान हैं जिसमे से 23 मामले वनभूमि हस्तान्तरण के कारण लम्बित, 22 योजना पर निविदा कार्य गतिमान, 04 मामलों में समरेखण विवाद, 02 मामले न्यायालयों मे लम्बित व अन्य कारणों से 22 प्रकरण लम्बित है।

यह भी पढ़ें -   चोरों ने उड़ाया घर के बाहर से ऑटो, पीड़ित ने लगाई पुलिस से गुहार

भीमताल-रानीबाग-काठगोदाम बाईपास सडक, वन भूमि हस्तान्तरण प्रकरण के कारण लम्बित है आयुक्त ने प्रकरण के निस्तारण हेतु अधीक्षण अभियंता लोनिवि को पत्र प्रेषित कर शासन में फालो अप के भी निर्देश दिये। उन्हांेने कहा कि मण्डल मंे जितने भी कार्य वन भूमि प्रकरण के कारण लम्बित है उनका शीघ्रता से निस्तारण किया जाए। आयुक्त ने निर्देश दिये कि जिन स्थलों पर पुलों का निर्माण कार्य पूर्ण हो जाता है उन पुलों को नाम से रेखांकित किया जाए एवं महत्वपूर्ण स्थानों पर साईन बोर्ड लगायें। उन्होंने कहा कि आगामी बैठक में जो भी पावर प्रजेनटेशन दिया जाए मुख्य रूप से सम्बन्धित कार्याे की फोटोग्राफ, कार्य प्रारम्भ करने की तिथि एवं लागत के साथ ही कार्य समाप्ति की तिथि भी दर्शाना सुनिश्चित करें। उन्होंने दुर्घटना सम्भावित स्थानों पर दुर्घटना से रोकने के लिए कारगर कार्यवाही करने के निर्देश दिये। बैठक में पीएमजीएसवाई के अधिशासी अभियंता के एस बिष्ट ने बताया कि फतेहपुर-बेलबसानी-पटुवाडांगर-नैनीताल मोटर मार्ग जून 2022 तक कार्य पूर्ण हो जायेगा।

यह भी पढ़ें -   भीमताल में होगा 16 से 21 जुलाई तक हरेला मेला, तैयारियां जोरशोर से शुरू

बैठक में मुख्य वन संरक्षक कुमाऊं डा0 तेजस्वनी पाटिल, उपनिदेशक अर्थ एवं संख्याधिकारी राजेन्द्र तिवारी,मुख्य अभियंता कुमाऊ पीएमजीएसवाई हर्ष कुमार, अधीक्षण अभियंता नागेन्द्र बहादुर, अधिशासी अभियंता वर्ल्ड बैक सीएस नेेगी, जीपीसी जोशी, एसई लोनिवि एबी काण्डपाल,एसई ओम प्रकाश,एसई जीसी आर्य, पीडी एनएचएआई योगेन्द्र शर्मा, अधिशासी अभियंता हेमन्त जोशी, एसई लोनिवि राजेन्द्र सिह, अधिशासी अभियंता अशोक कुमार, एसई लोनिवि डीके यादव, एसई लोनिवि एमपीएस रावत, एसई एनएच अरूण पाण्डे आदि महकमों के अधिकारी उपस्थित थे।

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440

Leave a Reply

Your email address will not be published.