बढ़ती महंगाई व बेरोजगारी पर केन्द्र व प्रदेश में मूंदी आंखें: परविंदर कौर

Ad
खबर शेयर करें

समाचार सच, हल्द्वानी। देश में बढ़ती महंगाई, बेरोजगारी जैसे विषयों पर केन्द्र व राज्य की सरकारों द्वारा आंखें मूंद लेना यह दर्शाता है कि सरकारों को जनता के सरोकार नहीं है उक्त विचार महिला कांग्रेस की प्रदेश प्रभारी परविंदर कौर ने आज एक निजी बैंकट हॉल में महिला कांग्रेस के द्वारा आयोजित कार्यक्रम में बोलते हुए कहा कि आज देश में बढ़ती महंगाई, बेरोजगारी जैसे विषयों पर केंद्र और राज्य सरकारों ने आंखें मूंद रखी हैं वहीं देश में डीजल, पेट्रोल के दामों का आसमान छूना, जरूरत की चीजों को पूरी तरीके से आम जनता की पहुंच से बाहर करता नजर आ रहा है। केन्द्र में राज्य सरकार जनता को किसी भी तरीके से राहत देने का काम नहीं कर रही है। महानगर अध्यक्ष महिला नीमा भट्ट, राष्ट्रीय सचिव महिला कांग्रेस मंजू तिवारी, प्रदेश उपाध्यक्ष महिला कांग्रेस मधु सांगुड़ी विमला सांगुड़ी, महानगर उपाध्यक्ष विद्या देवी, सरस्वती देवी, सीमा भटनागर, चंपा चिलवाल ने कहा कि महंगाई डायन से डायनासोर का रूप ले चुकी है, जब एक आम गृहणी अपनी रसोई की ओर देखती है तो उसे अपने दूसरे दिन की चिंता महंगाई की वजह से सताने लगती है। संचालन कर रहे महानगर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राहुल छिम्बाल, पूर्व प्रमुख भोला भट्ट ब्लॉक अध्यक्ष संजय बिष्ट, महानगर महामंत्री संदीप भेसौड़ा ने केंद्र सरकार व राज्य सरकार को इतिहास की सबसे असफल सरकार बताते हुए कहा कि आज जिस तरीके से पूरे देश में महंगाई व बेरोजगारी को लेकर आम जनता त्राहिमाम त्राहिमाम कर रही है वहीं दूसरी ओर देश के प्रधानमंत्री अपने उद्योगपति दोस्तों को लाभ दिलाने में मदमस्त नजर आ रहे हैं। महिला कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष सरिता आर्य प्रदेश कोऑर्डिनेटर हरमीत कौर ने कहा कि आज पूरे प्रदेश की जनता, गृहणियां व बच्चे जिस तरह से बेरोजगार व महंगाई के चलते अपना जीवन कष्टमय व्यतीत करने को मजबूर हैं वही दूसरी ओर भाजपा सरकार प्रदेश को मुख्यमंत्रियों की प्रयोगशाला बना कर आम जनता को ठगने का काम कर रही है ऐसी सरकार को उखाड़ फेंकने का समय आ गया है। कार्यक्रम में कमला पंत, विद्या जोशी, रेनू पांडे, कुंती बिष्ट, दीपक बिष्ट, मधु पांडे, चंद्रा मेहरा, जानकी पांडे, लीला देवी, भगवती देवी, भगवती बिष्ट, मालती देवी, पुष्पा देवी, विमला देवी, बसंती देवी, धनी दुम्का आदि मौजूद थी

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *