दिल्ली उपमुख्यमंत्री मनीष ने किया रुद्रपुर में व्यापारियों के साथ संवाद, कहा-आप करती है संवाद पर यकीन

खबर शेयर करें

समाचार सच, रुदपुर। दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया अपने चार दिवसीय कुमाऊं दौरे के अन्तिम दिन रविवार को रुद्रपुर में व्यापारियों के साथ संवाद किया। इस दौरान स्थानीय व्यापारी नेताओं ने प्रश्न पूछते हुए उनसे समाधान मांगा।

Ad

यहां रूद्रपुर में एक होटल में देवभूमि बिजनेस डायलॉग कार्यक्रम में उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने बोलते हुए कहा कि वास्तविक समाधान निकालने की योजना हमारी है। लोग अब आम आदमी पार्टी पर भरोसा कर रहे हैं। संवाद पर हम यकीन करते हैं। उन्होंने बताया कि दिल्ली में आप की सरकार जब सरकार बनी तो 325 करोड़ केंद्र से मिलते थे। इस बजट से क्या-क्या काम करते। 30 हजार करोड़ के बजट में 24 हजार 600 का बजट वेतन पर खर्च हो जाता था। आप की सरकार ने छोटे व्यापारियों के साथ संवाद किया। इसके बाद बजट तैयार किया। व्यापारियों से संवाद में चार चीजें निकलकर सामने आईं। रेड राज पूरी तरह हावी है। यह वसूलने के लिए आता है, सरकार को कुछ नहीं देता। जिसके बाद आप सरकार ने रेड राज बंद करने के आदेश दिए और प्रवर्तन विभाग पूरी तरह बंद कर दिया गया।

यह भी पढ़ें -   रेस्टोरेंट में शराब पिलाने पर रेस्टोरेंट मालिक गिरफ्तार

श्री सिसोदिया ने कहा कि बजट में टिम्बर पर साढ़े 12 की बजए पांच फीसद टैक्स लिया। इस प्रक्रिया में एक फीसद ज्यादा टैक्स मिला। 2020 में 60 हजार करोड़ का टैक्स मिला। यह ईमानदारी की राजनीति का प्रतिफल था। बिजलीं को लेकर फील्ड में टीमों को लगाया। जिसके बाद 24 घण्टे बिजली मिलने लगी। इन्वर्टर का व्यापार खत्म हो गया। कागज पूरे न होने की समस्या पर 454 तरीके के एफिडेविट, बंद कराए। व्यापारियों को लाइन लगाने से मुक्ति मिली। एक और कदम उठाया कि 1076 नंबर उपलब्ध कराया कि 140 तरह की सेवाएं दीं। इससे व्यापारियों को परेशानी से मुक्ति मिली। श्री सिसोदिया कहा कि व्यापारियों को सरकार को चोर समझना बन्द करना होगा। तभी व्यापारी और व्यापार का विकास होगा।

यह भी पढ़ें -   श्री राम चरण धाम में आयोजित अखंड श्री रामायण पाठ की पूर्णाहुति, हुआ विशाल भंडारा

संवाद कार्यक्रम में मुख्य रूप से प्रांतीय उद्योग व्यापार मंडल के अध्यक्ष संजय जुनेजा, राईस मिलर्स एसोसिएशन के प्रदेह अध्यक्ष पीडी अग्रवाल, नीलांसु अरोरा, दीप्ति अरोरा सहित भारी संख्या में व्यापारीगण मौजूद रहे।

Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *