पर्याप्त पानी ना मिलना और तनाव होने से बनती है बार- बार गैस

Ad
खबर शेयर करें

समाचार सच, स्वास्थ्य डेस्क। आज की भागदौड़ और अस्त-व्यस्त जीवनशैली की वजह से बहुत से लोग पेट में गैस बनने की समस्या से परेशान रहते हैं। इसे हमेशा इग्नोर करना सही नहीं है। डॉ. माजिद अलीम बताते हैं कि अक्सर देर रात तक जगे रहना, जल्दबाजी में कुछ भी खा-पी लेना, दिनभर शरीर को पर्याप्त पानी ना मिलना और तनाव होना। ये कुछ ऐसे कारण हैं, जिनकी वजह से आपका पेट खराब हो जाता है। इससे पेट में गैस बनने लगती है और पेट फूलने लगता है। वैसे तो यह एक आम समस्या है, लेकिन कई बार यह समस्या गंभीर भी बन जाती है।

गैस बनने का कारण

जब हम भोजन करते हैं तो हमारे पेट में बनने वाले तमाम एसिड भोजन को एकदम बारीक टुकड़ों में बदल देते हैं। पाचन की इस प्रक्रिया के दौरान पेट से गैस निकलती है। जब स्वास्थ्य विशेषज्ञ हमें कहते हैं कि खाने के हर निवाले को इतनी बार चबाकर खाएं कि वो भोजन, पानी के जैसा तरल हो जाए तो ऐसी सलाह के पीछे मकसद यही होता है कि पेट में ज्यादा गैस ना बनें। जब पेट में लगातार गैस बनती है तो कई बार पेट और शरीर के दूसरे हिस्सों में सूजन आ जाती है।

यह भी पढ़ें -   रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करेंगे दादी मां के घरेलू नुस्खे

क्या करना चाहिए

पेट में गैस ना बने, इसके लिए सबसे जरूरी है कि जितनी भूख लगी हो, उससे एक रोटी कम ही खाएं। ज्यादा खाने और पाचन समस्या के कारण पेट में अधिक गैस बनती है। जब खाना खाएं, उस दौरान बातचीत से बचें, क्योंकि बातचीत करते हुए खाना खाने से पेट में खाने के साथ हवा भी चली जाती है। स्मॉक करने, तेज मसालेदार खाना खाने आदि से भी पेट में गैस बनती है, इसलिए इन सबसे परहेज करें।

यह भी पढ़ें -   देसी घी,अदरक और दालचीनी जैसे घरेलू उपायों से कम होगा माईग्रेन का दर्द, जानिए कैसे

गैस की समस्या दूर करता है अदरक

अदरक से भी गैस से बचाव संभव है। इसके लिए अदरक को कद्दूकस करके चटनी की तरह खाएं, लेकिन इसमें हल्का-सा नीबू, कालीमिर्च और काला नमक बुरक लें। इससे पेट में गैस नहीं बनती। इसे सलाद के तौर पर खाएं। अगर दिनभर गैस की समस्या रह-रहकर ज्यादा परेशान करती हो तो दिन में कम से कम दो या तीन बार अदरक की चाय पीएं, इससे भी गैस में राहत मिलती है।

इन पर भी करें अमल

मौसमी का करें सेवन

हर रोज सुबह कम से कम 150 ग्राम मौसमी फल जरूर खाएं। इससे पेट साफ रहता है, गैस की समस्या नहीं रहती।

हर सुबह गुनगुना पानी पीएं

हर दिन सुबह गुनगुने पानी में आधा या एक नीबूं, जितनी जरूरत महसूस करें, निचोड़कर पीएं, इससे भी राहत मिलती है।

यह भी पढ़ें -   मुलेठी एक ऐसी आयुर्वेदिक औषधि है जो कई प्रकार की बीमारियों से बचाती है

रोजाना एक्सरसाइज करें

एक्सरसाइज अगर नहीं करते हैं तो वीक में कम से कम तीन दिन चार किलोमीटर की वॉक जरूर करें। लगातार बैठे रहने से शरीर में गैस बनती रहती है। इसलिए अगर ऑफिस में दिनभर बैठे रहने का काम है, तो भी हर आधे घंटे बाद कम से कम 60 से 80 कदम चलें। एक बार पैर, हाथ में खिंचाव करें और फिर अपनी सीट पर बैठ जाएं।

अपनी डाइट में प्लांट बेस्ड फूड्स शामिल करें

सौंफ की चाय पीने से भी पेट में गैस की समस्या कम होती है। अगर पेट में लगातार गैस बनने के कारण सूजन आ गई है तो सौंफ की चाय पीएं या सौंफ के पानी को हल्का गुनगुना करके पीएं। हमेशा हल्का गुनगुना पानी पीने से भी गैस नहीं बनती है।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *