Earthquake: नेपाल में भूकंप से 6 की मौत, दिल्ली, उत्तराखण्ड और आसपास के इलाकों में भी महसूस किए गए झटके

खबर शेयर करें

समाचार सच, देहरादून/नई दिल्ली (एजेन्सी)। दिल्ली, उत्तराखण्ड व उत्तर प्रदेश और आसपास के इलाकों में मंगलवार देर रात भूकंप के झटके महसूस किए गए। राष्ट्रीय भूकंप विज्ञान केंद्र के मुताबिक 6.3 की तीव्रता वाले इस भूकंप का केंद्र नेपाल में था। इधर बुधवार सुबह करीब 6.27 बजे उत्तराखण्ड के पिथौरागढ़ में एक बार फिर धरती हिलने से लोग दहशत में आ गए और अपने-अपने घरों से बाहर निकल आए।

Earthquake in Nepal: पड़ोसी देश नेपाल में मंगलवार (9 नवंबर 2022) देर रात 6.3 तीव्रता का भूकंप आया। जिसके झटके राजधानी दिल्ली सहित पूरे उत्तर भारत में महसूस किए गए। मंगलवार रात करीब 1.57 बजे नेपाल में 6.3 तीव्रता का भूकंप आया। भूकंप का एपिसेंटर नेपाल के मणिपुर में रहा। इसकी गहराई जमीन से 10 किमी नीचे थी। वहीं, नेपाल में भूकंप से 6 की मौत हो गयी।

नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी के मुताबिक, दिल्ली में भी भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए। भूकंप विज्ञान केंद्र के अनुसार इसका केंद्र उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिले से 90 किमी दक्षिण पूर्व नेपाल की सीमा के पास था। दिल्ली के अलावा उत्तराखंड, हिमाचल और उत्तर प्रदेश में कुछ जगहों पर इस भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं।

नेपाल में 6 की मौतः
पुलिस के मुताबिक, नेपाल के डोती जिले में स्थानीय समयानुसार लगभग 2.12 बजे भूकंप के बाद एक घर गिरने से 6 लोगों की मृत्यु हो गयी। वहीं, 9 नवंबर की सुबह करीब 6.27 बजे उत्तराखंड के पिथौरागढ़ में भी 4.3 तीव्रता का भूकंप आया। नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी के मुताबिक, भूकंप की गहराई जमीन से 5 किमी नीचे थी।

यह भी पढ़ें -   मामूली कहासुनी में पति ने पत्नी का गला घोंटकर ली जान, आरोपी गिरफ्तार, दहेज और हत्या का केस दर्ज

अधिकारियों के मुताबिक, मृतकों की पहचान अभी नहीं हो पाई है। मृतकों में एक महिला और दो बच्चे होने की आशंका है। डोटी की मुख्य जिला अधिकारी कल्पना श्रेष्ठ ने बताया कि 5 लोग घायल हैं और उन्हें अस्पताल ले जाया गया है। जिले भर में विभिन्न स्थानों पर भूस्खलन से दर्जनों घर क्षतिग्रस्त हुए हैं। नेपाल सेना को भूकंप प्रभावित इलाकों में बचाव अभियान के लिए भेजा गया है। वहीं, नेपाल के डोती जिले में गिरे मकान की तलाशी एवं बचाव अभियान जारी है।

नेपाल के प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा ने कहा कि भूकंप के बाद राहत और बचाव कार्यों के आदेश दिए गए हैं। उन्होंने ट्विटर पर लिखा, “सुदूर पश्चिम के खाप्ताद क्षेत्र में आए भूकंप में जान गंवाने वालों के परिवारों के प्रति अपनी हार्दिक संवेदना व्यक्त करता हूं। साथ ही मैंने संबंधित एजेंसियों को प्रभावित क्षेत्रों में राहत और बचाव के साथ-साथ घायलों और पीड़ितों के लिए तत्काल उचित उपचार की व्यवस्था करने का निर्देश दिया है।”

लोगों ने बताया आंखों देखा हाल:
वहीं, उत्तराखण्ड के पिथौरागढ़, देहरादून, नैनीताल, हल्द्वानी सहित आदि शहरों में भी झटके महसूस किए गए। ग्रेटर नोएडा के एक निवासी ने बताया, “मैं मेरे कुछ दोस्तों के साथ अपने घर पर फिल्म देख रहा था तभी मुझे झटके महसूस हुए। मुझे लगा मेरा दोस्त मेरी कुर्सी हिला रहा है लेकिन फिर उन सब ने भी इसे महसूस किया। हम कुछ देर के लिए खंभे के पास खड़े रहे, यह सामान्य होने के बाद हम बाहर निकले।”

यह भी पढ़ें -   २३ अप्रैल २०२४ मंगलवार का पंचांग, जानिए राशिफल में आज का दिन कैसा रहेगा आपका …

हल्द्वानी महानगर के लोगों ने बताया, हम सो रहे थे तभी भूकंप के झंटके महसूस हुए फिर हम सब बाहर आ गये। हमने थोड़े समय के लिए इसे महसूस किया।”
भारत भूकंप विज्ञान केंद्र के मुताबिक बुधवार सुबह पिथौरागढ़ और आस-पास के इलाकों में 4.3 तीव्रता के झटके महसूस किए गए. इसका केंद्र उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिले से 90 किमी दक्षिण पूर्व नेपाल की सीमा के पास था. बता दें कि उत्तराखंड का उत्तरकाशी और पिथौरागढ़ का इलाका भूकंप की दृष्टिकोण से काफी संवेदनशील है।
मिल रही जानकारी के मुताबिक देहरादून, हल्द्वानी, पिथौरागढ़ में भूकंप के झटके महसूस होने के बाद लोग घरों से बाहर निकल आए। बता दें कि रविवार को भी उत्तरकाशी और पिथौरागढ़ में भूकंप के झटके महसूस किए गए थे। अगर वैज्ञानिकों की मानें तो हिमालय के क्षेत्र में इस तरह के भूकंप के झटके महसूस होना आम बात हैं। आपको बताते चले कि मंगलवार रात से बुधवार सुबह तक भारत के विभिन्न हिस्सों में चार बार भूकंप के झटके आ चुके हैं। हालांकि अभी तक कहीं से किसी तरह के नुकसान की सूचना नहीं आई है, लेकिन बार-बार आ रहे झटकों से लोगों में दहशत है। भूवैज्ञानिकों का भी मानना है कि बार-बार आ रहे झटके बड़े खतरे का संकेत हो सकते हैं। भूकंप से अल्मोड़ा जिले के द्वाराहाट के भंटी गांव के कुछ मकानों में दरारें पड गईं।

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440