यूपी में होंगे सात चरणों में चुनाव, जानें मतदान का पूरा कार्यक्रम…

खबर शेयर करें

समाचार सच, यूपी/लखनऊ (एजेन्सी)। उत्तर प्रदेश में कोविड प्रतिबंधों के साथ सात चरणों में चुनाव कराए जा रहे हैं। 10 फरवरी को पहले चरण का मतदान होगा। जबकि दूसरे चरण का मतदान 14 फऱवरी, तीसरे चरण का मतदान 20 फरवरी को होगा। चौथे चरण का मतदान 23 फरवरी, पांचवे चरण का मतदान 27 फरवरी, छठे चरण का मतदान 3 मार्च और सातवें चरण का मतदान 7 मार्च का होगा। 10 मार्च को पांचों राज्यों की मतगणना होगी।

Ad

आपकों बता दें कि चुनाव आयोग (ईसी) ने उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए शनिवार की शाम को तारीखों का ऐलान कर दिया। ईसी ने दोपहर साढ़े तीन बजे एक प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाई, जिसमें उसने यूपी के अलावा चार और सूबों (उत्तराखंड, गोवा, पंजाब और मणिपुर) में विस चुनावों के शेड्यूल की घोषणा की।

चुनाव कार्यक्रम
प्रथम चरण 10 फरवरी: शामली, मुजफ्फरनगर, बागपत, मेरठ, गाजियाबाद, हापुड़, नोएडा, बुलंदशहर, अलीगढ़, मथुरा, आगरा
दूसरा चरण 14 फरवरी: सहारनपुर, बिजनौर, अमरोहा, मुरादाबाद, रामपुर, संभल, बदायूं, बरेली, शाहजहांपुर
तीसरा चरण 20 फरवरी: कासगंज, हाथरस, एटा, फिरोजाबाद, मैनपुरी, फर्रूखाबाद, कन्नौज, इटावा, औरैया, कानपुर देहात, कानपुर नगर, जालौन, हमीरपुर, महोबा, झांसी, ललितपुर
चौथा चरण 23 फरवरी: पीलीभीत, लखीमपुर खीरी, सीतापुर, हरदोई, उन्नाव, लखनऊ, रायबरेली, फतेहपुर, बांदा
पाचवां चरण 27 फरवरी: बहराइच, श्रावस्ती, बाराबंकी, गोण्डा, अयोध्या, अमेठी, सुल्तानपुर, प्रतापगढ़, कौशाम्बी, चित्रकूट प्रयागराज
छठा चरण 3 मार्च: बलरामपुर, सिद्धार्थनगर, महराजगंज, बस्ती, संतकबीर नगर, गोरखपुर, कुशीनगर, अम्बेडकरनगर, देवरिया, बलिया
सातवां चरण 7 मार्च: जौनपुर, आजमगढ़, मऊ, वाराणसी, गाजीपुर, संत रविदासनगर, मिर्जापुर, चंदौली, सोनभद्र
परिणाम: 10 मार्च 2022

यह भी पढ़ें -   स्मैक बेचने के लिए कर रहा था ग्राहक का इंतजार, आया पुलिस के गिरफ्त में

यूपी में 403 सीटों में से
पहले चरण में -58
दूसरे चरण में-55
तीसरे चरण में-59,
चौथे चरण में-60
पांचवे चरण में-60
छठे चरण में-57 और
सांतवे चरण में -54 सीटों पर चुनाव होंगे

यह भी पढ़ें -   उत्तराखण्ड में कोरोना को लेकर बढ़ायी पाबंदी, 16 तक नहीं हो सकेंगी राजनीतिक रैलियां, 12वीं तक के स्कूल हुए बंद

दरअसल, यूपी में मौजूदा विधानसभा का कार्यकाल मई में समाप्त होगा, जबकि अन्य चार राज्यों में विधानसभाओं का कार्यकाल मार्च में अलग-अलग तिथियों पर समाप्त हो रहा है। यूपी में कुल 403 विधानसभा सीटें हैं, जबकि किसी भी पार्टी को बहुमत के लिए 202 सीटों का आंकड़ा चाहिए होगा। सूबे में पिछला चुनाव सात चरण में 11 फरवरी से आठ मार्च, 2017 के बीच हुआ था। उस चुनाव में 61.04 फीसदी वोटिंग हुई थी, जो कि बीते चुनाव के मुकाबले अधिक थी।

बीजेपी को पिछले चुनाव में 312 सीटें, मायावती की बसपा को 19, अखिलेश यादव की सपा को 47, कांग्रेस को सात, अनुप्रिया पटेल के अपना दल को नौ, ओम प्रकाश राजभर के एसबीएसपी को चार और निर्दलीय को तीन सीटें हासिल हुई थीं। रोचक बात है कि भारतीय जनता पार्टी यानी कि बीजेपी ने बगैर किसी सीएम कैंडिडेट को घोषित किए चुनाव जीता था। यह चुनाव भगवा पार्टी ने अपने फायरब्रांड नेता नरेंद्र मोदी की छवि के बलबूते लड़ा था।

यह भी पढ़ें -   पांच राज्यों में चुनाव की तारीख का एलान, 10 फरवरी से लेकर 7 मार्च तक सात चरणों में होगा चुनाव, 10 मार्च को आएगा रिजल्ट

18 मार्च, 2017 को योगी आदित्यनाथ सीएम बनाए गए थे, जबकि उनके साथ दो डिप्टी सीएम बने थे, जो कि केशव प्रसाद मौर्य और दिनेश शर्मा हैं। यूपी आबादी के हिसाब से बड़ा सूबा है और सियासी तौर पर भी महत्वपूर्ण राज्य है। मौजूदा समय में यहां बीजेपी की सरकार है, जबकि सपा और बसपा प्रमुख विपक्षी दल हैं। इस बार असल टक्कर बीजेपी और सपा के बीच मानी जा रही है। प्रमुख उम्मीदवारों की बात करें तो इनमें सीएम योगी से लेकर अखिलेश, मायावती, राजभर, ओवैसी, अदिति सिंह और शिवपाल यादव आदि हैं।

Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *