पर्यावरण प्रेमी डॉ आशुतोष पन्त 15 जुलाई से 30 अगस्त तक चलायेंगे वृहद वृक्षारोपण अभियान, निःशुल्क भेंट किए जायेंगे फलों के पौधे

खबर शेयर करें

समाचार सच, हल्द्वानी। पूर्व जिला आयुर्वेद अधिकारी एवं पर्यावरण कार्यकर्ता डॉ आशुतोष पन्त द्वारा पिछले वर्षों की तरह इस वर्ष भी 20 हजार से अधिक पौधे लगाने की योजना है। इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए डॉ. पन्त आगामी 15 जुलाई से 30 अगस्त 2024 तक वृहद वृक्षारोपण अभियान चलायेंगे। उन्होंने बताया कि इच्छुक लोगों को उनकी अपनी भूमि पर लगाने के लिए उनके द्वारा आम, अमरूद, कटहल, तेज़पत्ता, नींबू, सहजन, शरीफा, अंगूर, अनार, करौंदे आदि के पौधे निःशुल्क भेंट किए जाएंगे।

उन्होंने बताया कि जो जनप्रतिनिधि, समाजसेवी व पर्यावरण प्रेमी अपने क्षेत्र में इस तरह के आयोजन कराना चाहें तो वह 12 जुलाई तक मुझे मेरे मोबाइल नंबर 9997019501 पर संदेश भेज दें सकते हैं। कार्यक्रम के दिन और समय के लिये वह स्वयं उनसे संपर्क कर लेंगे। पौधे मेरे द्वारा निशुल्क उपलब्ध कराए जाएंगे, उन्हें क्षेत्र के लोगों को सूचित करके निर्धारित समय पर एकत्र करना होगा। उन्होंने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में कार्यक्रम आयोजित करके बड़े पेड़ों के पौधे और शहरी क्षेत्र में जहाँ लोगों के पास जमीन कम होती है वहां छोटे पौधे भेंट किए जाएंगे।

यह भी पढ़ें -   आंचल ने 6 लीटर पॉलीपैक में स्टैंडर्ड एवं फुल क्रीम दूध किया लांच

डां. पन्त का कहना है कि सरकारी या गैर सरकारी संस्थाएं, जिनके पास जानवरों से बचाव और सिंचाई की व्यवस्था हो वह भी संस्था में पौधे लगाना चाहें तो संपर्क कर सकते हैं। गेट बंद कॉलोनियों में भी पौधे लगाना चाहें तो wattsapp 9997019501 पर संपर्क कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि नैनीताल और उद्यम सिंह नगर जिले में लगाना प्राथमिकता है क्योंकि पौधे दूर ले जाने में परिवहन में कठिनाई होती है।

यह भी पढ़ें -   दून मेडिकल कालेज में नर्सिंग स्टाफ को बायोमैट्रिक हाजिरी न लगाना पड़ा महंगा, वेतन पर लगी रोक

पूर्व जिला आयुर्वेद अधिकारी/पर्यावरण कार्यकर्ता डॉ. आशुतोष पन्त का परिचय तथा अपीलः
डॉ. आशुतोष पन्त आयुर्वेद विभाग में 1988 से कार्यरत रहें। तभी से सरकारी काम के साथ-साथ पर्यावरण संरक्षण के लिए कार्य कर रहे हैं। अभी प्रतिवर्ष 20 हज़ार से अधिक पौधे लगाने का लक्ष्य है। उनका कहना है कि आप सबके सहयोग से अब तक 4 लाख 10 हज़ार पौधे लगाए गए हैं। अप्रैल 2023 में सेवानिवृत्ति के बाद इसे और बढ़ाने का विचार है। उन्होंने बताया कि वह इस कार्य के लिए अभी तक किसी व्यक्ति, सरकार या एनजीओ से कोई आर्थिक मदद नहीं ली है और जब तक ईश्वर की कृपा है अपनी क्षमता के अनुसार प्रयास जारी रखेंगे। उनका मुख्य उद्देश्य है पृथ्वी पर हरियाली हो, ग्लोबल वार्मिंग कम हो, भूमिगत जल बढ़े, नदियां-जल स्रोत सलामत रहें। आइए हम सब पेड़ लगाकर धरती को सुन्दर बनाएं.

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440