मां पूर्णागिरि धाम के मुख्य मंदिर की पहाड़ी में लगी आग, श्रद्धालुओं में मची भगदड़

खबर शेयर करें

समाचार सच, देहरादून/चंपावत। उत्तराखंड के चंपावत जिले में स्थित मां पूर्णागिरि धाम के मुख्य मंदिर की पहाड़ी में रविवार को अचानक आग लग गई। जिससे श्रद्धालुओं में भगदड़ मच गई। घटना के वक्त धाम में करीब चार हजार श्रद्धालु थे। अच्छी बात ये रही कि आग से कोई नुकसान नहीं हुआ। भगदड़ में भी कोई श्रद्धालु चोटिल नहीं हुआ है। मंदिर समिति के स्वयंसेवक पहाड़ी पर लगी आग बुझाने में जुटे हैं। सूचना है कि अब मंदिर की पहाड़ी से दूसरी तरफ के जंगल में आग लगी है।सूचना पर वन, पुलिस व अग्निशमन दल भी पहुंच गया था। बताया गया कि पहाड़ी के जंगल में लगी आग फैलकर मुख्य मंदिर की पहाड़ी तक पहुंच गई थी। रविवार दोपहर करीब 12:30 की घटना बताई जा रही है।
देहरादून के घंघोड़ा में ट्रचिंग ग्राउंड के नीचे जंगल में किसी ने आग लगा दी। आग ट्रंचिंग ग्राउंड तक पहुंची तो कैंट बोर्ड गढ़ी के अधिकारियों, कर्मचारियों में हड़कंप मच गया। तत्काल कैंट बोर्ड कर्मचारियों के साथ ही स्थानीय लोग मौके पर पहुंचे और फायर ब्रिगेड को सूचना दी। करीब एक घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया गया।
प्रदेश में जंगलों की आग बेकाबू होती जा रही है। श्रीनगर में अलकनंदा घाटी के दोनों ओर जंगल जल रहे हैं। पेड़-पौधों के जलने से राख उड़कर घरों तक पहुंच रही है। शनिवार शाम पौड़ी व टिहरी जिलों में जंगल की आग विकराल हो गई। आग बस्तियों के समीप तक पहुंच गई।टिहरी के डांगचौरा, झिंझनीसैंण, पाली, दुगड्डा व नांडी, चौरास और पौड़ी के श्रीकोट, देलचौरी, बेडूला, खोला, सेमला व सांपला सहित अन्य क्षेत्रों में वन संपदा जलकर राख हो गई।वन क्षेत्राधिकारी श्रीनगर शीशपाल सिंह ने बताया कि श्रीकोट व देलचौरी क्षेत्र में लगी आग पर काबू पा लिया गया है। आग से डेढ़ हेक्टेयर क्षेत्र प्रभावित हुआ है। माणिकनाथ रेंजर देवेंद्र पुंडीर ने बताया कि अब तक 10 हेक्टेयर वन क्षेत्र में आग से नुकसान हुआ है।

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440

Leave a Reply

Your email address will not be published.