ताजा हरी दूब शरीर को रखती है दुरुस्त

Ad
Ad
खबर शेयर करें

समाचार सच, स्वास्थ्य डेस्क। हरी दूब की कोमल पत्तियों को कई रोगों के इलाज में इस्तेमाल किया जाता है। इसकी ताजा पत्तियों को साबुत खाने के अलावा जूस बनाया जाता है। यह उल्टी, कफ, कब्ज, गर्भावस्था संबंधी समस्याओं को दूर करती है ।

नकसीर – गर्मियों में नाक से खून निकलने की समस्या (नकसीर) से ज्यादातर लोग परेशान रहते हैं। इसे बंद करने के लिए ताजा दूब की पत्तियों को पानी से धो लें। फिर पीस कर उस का रस निकालें। इस रस की 2-2 बूंदें दोनों नथुनों में डाल ने से नकसीर बंद हो जाती है ।

यह भी पढ़ें -   दिनभर रहती है थकान तो डाइट में शामिल करें ये चीज़ें, रहेंगे हमेशा ऊर्जावान

घाव – घाव के इलाज में भी दूब बेहद कारगर है। दूब को पीस कर पके हुए फोड़े पर लगा ने से फोड़ा आसानी से बिना दर्द के फूट जाता है ।

झाइयां – झाइयों को दूर करने के लिए 40 ग्राम हरी दूब की जड़ का काढ़ा सुबह-शाम पीएं । इससे चेहरे की झाइयां आसानी से मिट जाती हैं ।

यह भी पढ़ें -   कान का दर्द मिनटों में हो जाएगा छूमंतर, बस आजमाएं यह आसान उपाय

खुजली – गर्मियों में पसी ने और सर्दियों में रुखे पन के कारण शरीर में खुजली होना आम बात है। 2 चम्मच दूब के रस को तिल के 100 ग्राम तेल में मिला कर खुजली वाले स्थान पर लगा ने से इस सम स्या में काफी राहत मिल ती है ।

गठिया – बढ़ती उम्र में कम जोर हड्डियों वाले शरीर में गठिया रोग होना आम है। हरी दूब की पत्तियों का रस बनाएं और इस से दर्द वाली जगह पर मालिश करें ।

यह भी पढ़ें -   दिनभर रहती है थकान तो डाइट में शामिल करें ये चीज़ें, रहेंगे हमेशा ऊर्जावान

त्वचा रोगों का इलाज – हरी दूब को हल्दी के साथ मिला कर पीस लें । इस का घोल बना कर त्वचा पर लगा ने से खाज-खुजली और दाद में लाभ मिलता है ।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *