गिलोय एक आयुर्वेदिक जड़ी बूटी है, जानें इसे बेहतरीन फायदे और लेने का तरीका

Ad
Ad
खबर शेयर करें

समाचार सच, स्वास्थ्य डेस्क। आजकल बीमारी के इस दौर में लोग अपनी सेहत के प्रति काफी सतर्क नजर आते हैं। खुद को हेल्दी रखने के लिए लोग मॉडर्न तरीकों से लेकर घरेलु नुस्खों को अपनाने तक अपनी जान झोंक देते हैं। ऐसे में किसी भी बीमारी से बचे रहने का सबसे पहला और इम्पॉर्टेंट तरीका है अपनी इम्युनिटी को स्ट्रोंग बनाना। ऐसे में इम्युनिटी बूस्टर के तौर पर जाने जाने वाला गिलोय एक अच्छा ऑप्शन हो सकता है। गिलोय एक आयुर्वेदिक जड़ी बूटी है जिसका कई तरह के इलाजों में बड़े पैमाने पर इस्तेमाल किया जाता है और इसे अक्सर ‘ अमरता की जड़’ कहा जाता है।

गिलोय सिर्फ इम्यूनिटी ही नहीं बढ़ाता, बल्कि शरीर के लिए भी बहुत फायदेमंद है क्योंकि यह एंटीऑक्सिडेंट का एक पावरहाउस है, जो आपके सेल्स को मुक्त कणों से सेफ रखता और उन्हें बेहतर तौर पर डेवेलप होने में मदद करता है। गिलोय बीमारियों को शरीर में पनपने से रोकता है। काढ़े के अलावा, आप गिलोय को कई अन्य तरीकों से भी अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं और इसका फायदा उठा सकते हैं।

यह भी पढ़ें -   कान का दर्द मिनटों में हो जाएगा छूमंतर, बस आजमाएं यह आसान उपाय

कब्ज और गैस में खाएं गिलोय की चटनी
गिलोय डाइजेशन को बेहतर बनाता है। ये कब्ज़, सूजन, पेट में मरोड़ और गैस को कम करता है। गिलोय कमज़ोर डाइजेशन वाले लोगों के लिए अमृत सामान है। अगर आपको रोजाना गैस की परेशानी रहती है या आप डायबिटीज के मरीज़ हैं तो आपको गिलोय ज़रूर खाना चाहिए। आप गिलोय को खट्टी-मिठी चटनी के रूप में भी खा सकते हैं। इसे बनाने में ज्यादा मेहनत नहीं लगती है।

इसके लिए आप –

  • 3 से 5 टमाटर और गिलोय की 2 पत्तियां लेकर एक साथ पीस लें
  • कढ़ाई में हल्का तेल डालें और गर्म होने दें
  • गर्म तेल में कढ़ी पत्ता, दालचीनी और राई के कुछ दानें डाल लें
  • फिर टमाटर और गिलोय का पिसा हुआ पेस्ट डालें
  • हल्का सा लाल मिर्च पाउडर, हल्दी पाउडर, गुड़ और नमक डालें
  • आखिर में पानी डालकर उबलने दें
  • गाढ़ा हो जाने पर गैस बंद कर दें और हो गई तैयार आपकी गिलोय की चटनी
यह भी पढ़ें -   दिनभर रहती है थकान तो डाइट में शामिल करें ये चीज़ें, रहेंगे हमेशा ऊर्जावान

कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल करे दही और गिलोय पाउडर

गिलोय जहरीले पदार्थों को हटाकर खून को साफ करने में मदद करता है। इसके अलावा ये अन्य रोग पैदा करने वाले बैक्टीरिया से भी लड़ता है। गिलोय लिवर को स्ट्रोंग बनाने और पैंक्रियाज़ से जुड़े रोगों का मुकाबला करने में भी कारगर है वहीं ब्लड प्रेशर कंट्रोल करने के लिए गिलोय बहुत ही फायदेमंद माना जाता है। दरअसल, ब्लड प्रेशर कंट्रोल करने के लिए बॉडी में हाई कोलेस्ट्रॉल को बैलेंस्ड करना बहुत ज़रूरी होता है जिसमें गिलोय एक जड़ीबूटी की तरह काम करता है। आप गिलोय को दोपहर या रात के खाने में दही में मिलाकर भी खा सकते हैं। इसके लिए आप

  • एक कटोरी दही में गिलोय के जड़ों को कूट कर मिला लें
  • फिर इसमें काला नमक मिला लें और खाने के बाद इस दही का सेवन करें
यह भी पढ़ें -   कान का दर्द मिनटों में हो जाएगा छूमंतर, बस आजमाएं यह आसान उपाय

गिलोय स्ट्रेस से भी दिलाये राहत
गिलोय मेंटल हेल्थ के लिए बहुत फायदेमंद है. यह स्ट्रेस को कम करने में मदद करता है और आपकी मेमोरी पॉवर को बढ़ाता है। साथ ही, ये आपके मन को शांत करता है और अन्य जड़ी-बूटियों के साथ मिलकर एक अद्भुत हेल्थ टॉनिक बनाता है। गिलोय का ये टॉनिक अच्छी नींद दिलाने में असरदार है. इस टॉनिक को बनाना बेहद ही आसान है। इसके लिए आप

  • 8 से 10 गिलोय के पत्ते, 2 बड़े चम्मच गुलाब जल और 2 टी स्पून शहद लें
  • गिलोय के पत्तों को दरदरा पीसकर बारीख पेस्ट बनाएं और इसमें शहद और गुलाब जल मिलाएं
  • अब हर दिन सोने से पहले इसका एक चम्मच सेवन करें और गुनगुना पानी पी लें
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *