matdata

समाज में निर्भीक, स्वतंत्र एवं निष्पक्ष शांतिपूर्ण मतदान का दें संदेश

खबर शेयर करें

देहरादून। राष्ट्रीय मतदाता दिवस के उपलक्ष में स्वयं संस्था ने एक ऑनलाइन गोष्ठी का आयोजन किया। जिसमें देहरादून, अल्मोड़ा, हरिद्वार, पौड़ी, उधमसिंह नगर, पिथौरागढ़, चंपावत व टिहरी आदि जनपदों के कक्षा नौ से लेकर बारहवीं तक अध्ययनरत पचास छात्र-छात्राओं द्वारा प्रतिभाग किया।

इस अवसर पर कार्यक्रम के मुख्य अतिथि देवेश जोशी ने बताया कि हमारे देश के युवा और भावी मतदाता प्रजातंत्र की रीढ़ होते हैं तथा मजबूत लोकतंत्र में युवा मतदाताओं की सबसे महत्वपूर्ण एवं निर्णायक भूमिका होती है। अतः अट्ठारह साल की आयु प्राप्त करते ही जागरूक नागरिक मतदाता सूची में नाम लिखवा कर मतदाता पहचान पत्र अवश्य बनवा लें व समाज में निर्भीक, स्वतंत्र एवं निष्पक्ष शांतिपूर्ण मतदान का संदेश भी दे। मतदान करना हमारा एक नैतिक कर्तव्य है। इस अवसर पर मतदान के प्रति जागरूकता फैलाने के लिए एक कविता पाठ का भी आयोजन किया गया। जिसमें बच्चों ने बढ़ चढ़कर भाग लिया। कु आशिमा कक्षा बारह की कविता ‘मतदान है बहुत जरूरी–‘ व मिहिर तिवारी कक्षा नौ की कविता’ मतदान में रहें सबसे आगे–‘ को सबसे अधिक सराहा गया।

यह भी पढ़ें -   जनता ने नकारा फिर भी अपनी कमियों पर चिंतन नही करते कांग्रेसी: भाजपा

इस अवसर पर संस्था की उपाध्यक्षा मंजू सक्सेना ने बच्चों की प्रस्तुतियों की बहुत तारीफ की। उन्होंने संस्था की गतिविधियों पर प्रकाश डालते हुए अवगत कराया कि पिछले पंद्रह सालों से यह संस्था निरंतर विभिन्न महत्वपूर्ण जागरूकता दिवसों एवं पर्यावरण संरक्षण के प्रति छात्र-छात्राओं को जागरूक कर रही है। संस्था की सचिव श्रीमती मीना देवी ने कार्यक्रम में भाग लेने वाले छात्र-छात्राओं को मतदान का महत्व एवं अनिवार्यता बताई। उन्होंने कार्यक्रम में भाग लेने वाले सभी बच्चों की सराहना की तथा मुख्य अतिथि व अध्यक्ष का धन्यवाद किया। इस अवसर पर संस्था की ओर से उमेश चंद्र , इंदु चावला, कौशल्या, कुसुम रानी नैथानी, शांति, नेहा, दिनेश जोशी, सोनाली, नितिन आदि उपस्थित रहे।

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440

Leave a Reply

Your email address will not be published.