केदारनाथ में विकास कार्यों के लिए शासन ने जारी किए 168.96 लाख रुपये

Ad
Ad
खबर शेयर करें

समाचार सच, देहरादून। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट में शामिल केदारनाथ धाम के पुनर्निर्माण कार्यों को लेकर उत्तराखंड सरकार तेजी से कदम बढ़ा रही है। इस कड़ी में केदारनाथ विकास प्राधिकरण/टिहरी विशेष क्षेत्र प्राधिकरण के लिए स्वीकृत 422.39 लाख रुपये की लागत वाली योजना के लिए मंगलवार को शासन की ओर से 168.96 लाख रुपये की पहली किस्त जारी की गई। इसके तहत श्री केदारनाथ धाम के पैदल मार्ग में कई जगह फैब्रिकेटेड रेन शेल्टर का निर्माण किया जाएगा। इसका सीधा लाभ केदारनाथ आने वाले घरेलू और विदेशी तीर्थयात्रियों को मिलेगा।

यह भी पढ़ें -   आयुक्त ने गैस वितरण परियोजना के जीएम को दिए निर्देश - क्षतिग्रस्त न हो शहर की पानी पाइप लाइन व सीवर लाइन

केदारनाथ विकास प्राधिकरण/टिहरी विशेष क्षेत्र प्राधिकरण के अंतर्गत 133.25 लाख रुपये की लागत से श्री केदारनाथ धाम पैदल यात्रा मार्ग के गौरीकुंड से जंगल चट्टी मार्ग खंड में निश्चित अंतराल पर फैब्रिकेटेड रेन शेल्टर शेड का निर्माण किया जाएगा। इसके लिए शासन की ओर से 53.30 लाख रुपये की धनराशि जारी की गई है। जबकि लगभग 145.30 लाख रुपये की लागत से श्री केदारनाथ धाम पैदल मार्ग के अंतर्गत भीमबली से रामबाड़ा मार्ग खंड (वाया नवनिर्मित वैकल्पि‌क‌ मार्ग) के मध्य निश्चित अंतराल पर फैब्रिकेटेड रेन शेल्टर शेड का निर्माण किया जाना है। इसके लिए शासन की ओर से 58.12 लाख रुपये का बजट जारी किया गया। ऐसे ही 143.84 लाख रुपये की लागत से बनने वाले श्री केदारनाथ धाम पैदल यात्रा मार्ग के अंतर्गत जंगल चट्टी से भीमबली मार्ग खंड में निश्चित अंतराल पर फैब्रिकेटेड रेन शेड के निर्माण के लिए शासन की ओर से 57.54 लाख रुपये जारी किए गए।

यह भी पढ़ें -   हल्द्वानी में विजय संकल्प शंखनाद जनसभा के माध्यम से कांग्रेस ने भरी हुंकार, यशपाल व हरीश सहित दिग्गज भाजपा सरकार पर जमकर बरसे

दिलीप जावलकर, सचिव पर्यटन ने कहा, ‘‘मास्टर प्लान के तहत श्री केदारनाथ धाम को उसकी भव्यता के अनुरूप संवारा जा रहा है। पैदल मार्ग में तीर्थयात्रियों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए फैब्रिकेटेड रेन शेल्टर का निर्माण किया जा रहा है। करीब 422.39 लाख रुपये की लागत से होने वाले विकास कार्यों के लिए शासन की ओर से पहली किस्त के रूप में 168.96 लाख रुपये का बजट जारी किया गया है। इसका सीधा लाभ केदारनाथ आने वाले देश-विदेश के तीर्थयात्रियों को मिलेगा।“

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *