पैरों के तलवों में यदि जलन का अनुभव होता है तो कुछ आसान घरेलू नुस्खों से दूर करें

Ad
खबर शेयर करें

समाचार सच, स्वास्थ्य डेस्क। गर्मियों के मौसम में त्वचा पर जलन होना एक आम समस्या है। यह समस्या किसी भी उम्र के व्यक्ति को प्रभावित कर सकती है। मगर कुछ लोगों को पैर के तलवों पर जलन का अनुभव होता है। वैसे यह कोई गंभीर समस्घ्या नहीं है, मगर इसके कई कारण हो सकते हैं। अगर आपके शरीर में विटामिन की कमी है या हार्माेनल बदलाव हो रहे हैं तो आपको पैर के तलवों पर जलन महसूस हो सकती है।
-गर्मियों के मौसम में यह समस्या और भी बढ़ जाती है। खासतौर पर अगर आप धूप में घर से बाहर निकलती हैं या फिर अधिक समय तक गर्मी में रहती हैं और पानी कम पीती हैं तो आपको इस दिक्कत का सामना करना पड़ सकता है।
-पैर के तलवों में जलन की समस्या को दूर करने के लिए मेडिकल उपचार भी हैं और घरेलू उपचार से भी इस समस्या से निजात पाई जा सकती है। आज हम आपको ऐसे ही कुछ आसान नुस्खे बताएंगे जो आपकी इस समस्या को दूर करने में मदद करेंगे।
-अगर आपके शरीर में विटामिन-बी 12 या बी 6 की कमी है तो पैरों में जलन हो सकती है।
-अगर आप बहुत अधिक मात्रा में शराब का सेवन करते हैं तो पैरों में जलन हो सकती है।
-किडनी को रोग होने के कारण भी पैर के तलवों में जलन हो सकती है।
-शरीर में हार्माेनल डिसबैलेंस भी जलन का करण हो सकता है।
-अगर आपकी किसी बीमारी की दवाएं चल रही हैं तो उसके कारण भी आपको जलन का अनुभव हो सकता है।
घास पर नंगे पैर चलें-
फायदा- घास पर नंगे पैर चलने के कई फायदे हैं।
-घास पर चलने से अच्छी नींद (गहरी नींद के लिए आजमाएं ये 10 उपाय) आती है।
-घास पर चलने से पैरों की सूजन कम होती है।
-मानसिक स्वास्थ्य के लिए भी घास पर चला अच्छा माना गया है।
-घास पर चलना हृदय स्वास्थ्य के लिए बहुत ही अच्छा होता है।
-घास पर चलने से आंखों के स्वास्थ्य पर भी अच्छा असर पड़ता है।
अगर आपके पैरों में जलन हो रही है तो आपको सुबह के वक्त कुछ देर के लिए हरी घास पर नंगे पैर टहलना चाहिए। आपको बता दें कि घास में एंटी- इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं। साथ ही सुबह की हल्की धूप में टहलने से आपको विटामिन-डी प्राप्त करने में भी मदद मिलेगी।
टिप- कोशिश करें की गीली घास पर न चलें। इससे आपके पैरों की खाल गल कर फट सकती है।
हिना का प्रयोग करें-
फायदे- पैरों में मेहंदी लगाने के फायदे जानें।
-मेहंदी को गरम करके पैरों में लगाने से दर्द कम हो जाता है।
-मेहंदी ठंडी होती है। इसे पैर के तलवों पर लगाने से जलन कम हो जाती है।
-अगर पैरों में थकावट महसूस हो रही है तो तलवों में मेहंदी लगाने से फायदा मिलता है।
-अगर आपके पैर फट रहे हैं तेा आप मेहंदी लगा लें। इससे लाभ मिलेगा।
हाथ और पैर में मेहंदी लगाने का केवल धार्मिक महत्व ही नहीं है बल्कि यह सेहत के लिहाज से भी बहुत फायदेमंद है। गर्मियों के मौसम में अगर आपको शरीर को ठंडा रखना है तो हाथ और पैर में मेहंदी लगने से आपको बहुत राहत महसूस होगी।
टि– केमिकल बेस्ड हिना का प्रयोग करने से बेहतर है कि हिना की पत्तियों को पीस कर उसका उपयोग करें।
हल्दी का प्रयोग करें-
फायदे- पैरों के लिए हल्दी के अनेक फायदे हैं।
-अगर आपके पैरों में टैनिंग हो रही है तो हल्दी के पानी में पैरों को डिप करने पर यह कम हो जाएगी।
-ड्राई स्किन की समस्घ्या भी हल्दी से दूर हो जाएगी।
-पैरों में डैड स्किन जमा है तो हल्दी के पानी से इसे आप रिमूव कर सकती हैं।
अगर पैरों में सूजन के कारण जलन का अनुभव हो रहा है तो आपको हल्दी का प्रयोग करना चाहिए। हल्दी में मैग्नीशियम सल्फेट होता है। इसे ऐसे स्घ्थान पर लगाने, जहां दर्द हो रहा है और सूजन है, बहुत राहत मिलती है। अगर आपको पैरों में जलन हो रही है तो आप हल्घ्दी का प्रयोग इस तरह से कर सकती हैं-
-एक ठंडे पानी से भरे टब में हल्दी और सेंधा नमक डालें।
-इस पानी में 15 से 20 मिनट के लिए पैरों को डिप करके बैठ जाएं।
-फिर पैरों को पोछ लें। ऐसा नियमित रूप से करने से जलन की समस्या में राहत मिल जाएगी।
टिप- हल्दी का लेप पैरों में न लगाएं और न ही अधिक हल्दी का सेवन करें। ऐसा करने पर आपको कोई लाभ नहीं होगा।
अदरक से होगा फायदा-
फायदा-
पैरों की सेहत के लिए अदरक के फायदे।
अदरक में एंटीआक्सीडेंट्स की भरपूर मात्रा होती है। इसे त्वचा पर लगाने से जलन अैर खुजली की समस्या में राहत मिलती है।
-अदरक के तेल से पैरों की मालिश करने पर वह फटते नहीं हैं।
-अदरक का पानी या तेल लगाने से त्वचा की ड्राईनेस भी दूर होती है।
-नारियल के तेल में कपूर और अदरक का रस मिक्स करके पैर के तलवों पर लगाएं। इससे -जलन में राहत मिल जाएगी। आप चाहे तो अदर के रस के आइस क्यूब्स तैयार करके उनसे पैरों की आइसिंग कर सकती हैं।
टिप-आप अदर के पानी का नियमित सेवन करके भी जलन की समस्घ्या को कम कर सकती हैं। इससे पैरों में ऐंठन की समस्या भी कम होगी।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *