ज्येष्ठ अमावस्या 2024: इन उपाय जिनको करने से आपको शनि देव का आशीर्वाद प्राप्त होगा

खबर शेयर करें

समाचार सच, अध्यात्म डेस्क। शनि जयंती का हिंदू धर्म में विशेष महत्व है और पंचांग के अनुसार हर साल ज्येष्ठ माह की अमावस्या तिथि को शनि जयंती मनाई जाती है। इस दिन लोग अपनी- अपनी तरह से उपाय करके शनि देव को प्रसन्न करने की कोशिश करते हैं। आपको बता दें कि इस दिन शनि देव का जन्म हुआ था। इस साल शनि जयंती 6 जून को मनाई जाएगी। वहीं हम यहां आपको ऐसे उपायों को बताने जा रहे हैं, जिनको करने से आपको शनि देव का आशीर्वाद प्राप्त होगा। साथ ही धन- समृद्धि की प्राप्ति होगी। आइए जानते हैं ये उपाय कौन से हैं…

इन वस्तुओं का करें दान
शनि जंयती पर काले कपड़े, काले जूते, काली दाल का दान करें। ऐसा करने से आपकी आर्थिक स्थिति में सुधार आएगा। साथ ही ऐसा करने से शनिदेव प्रसन्न होते हैं और शनि दोष, महादशा, साढ़ेसाती-ढैय्या के अशुभ प्रभाव में कमी आती है। साथ ही शनि देव को प्रसन्न करने के लिए शनि जयंती के दिन उपवास रख सकते हैं।

यह भी पढ़ें -   बालों को काला करने के लिए नियमित आहार में इन पौष्टिक तत्वों को शामिल करें

इस मंत्र का करें दान
शनि जयंती के दिन कुत्ते, कौवे, गाय, दिव्यांग, रोगी आदि के साथ भोजन ही करवाएं। साथ ही इस दिन एकाक्षरी मंत्र ‘ऊँ शं शनैश्चाराय नमः’ का सुबह शाम 108 बार जप करें। ऐसा करने से आरोग्य की प्राप्ति होगी।

पीपल के पेड़ की करें पूजा
शास्त्रों के अनुसार पीपल के पेड़ की पूजा करने से शनि देव और पितृ प्रसन्न होते हैं। शनि जयंती के दिन पीपल के पेड़ पर सरसों के तेल में लोहे की कील डालकर चढ़ाएं। पीपल के पेड़ के चारों तरफ कच्चा सूत 7 बार लपेटे। ऐसा करने से शनि दोष से मुक्ति मिलती है। साथ ही सभी कष्टों से मुक्ति मिलती है।

यह भी पढ़ें -   गर्मियों के मौसम के लिए फिट और स्वस्थ रहने के कुछ सुझाव गर्मी में खुद को स्वस्थ और फिट रखने के तरीके

धन- समृद्धि की होगी प्राप्ति
अगर आप आर्थिक स्थिति से परेशान हैं तो आप शनि जंयती के दिन कांसे के कटोरे में सरसों का तेल भरकर, उसमें अपना चेहरा देखकर किसी मंदिर में किसी ब्राह्मण या जरूरतमंद को दे दें। ऐसा करने से शनि देव प्रसन्न होते हैं। साथ ही धन में वृद्धि होती है।

भगवान शिव और बजरंगबली की करें पूजा
शनि जयंती के दिन शनिदेव के साथ साथ भगवान शिव और हनुमानजी की भी आराधना करें। साथ ही सुबह शाम हनुमान चालीसा या सुंदरकांड का पाठ अवश्य करें। ऐसा करने से शनि देव की विशेष कृपा आपको प्राप्त होगी।

Ad Ad Ad Ad Ad
Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440