बागपत में हुए सड़क हादसे में शहीद कांस्टेबल अरूण मौर्य को नम आंखों से दी अंतिम विदाई

खबर शेयर करें

समाचार सच, हल्द्वानी। बीते दिवस बागपत में हुए सड़क हादसे में शहीद कांस्टेबल अरूण कुमार मौर्य को नैनीताल पुलिस ने श्रद्धांजलि देकर नम आंखों से अंतिम विदाई दी।

आपकों बता दें कि मंगलवार को उत्तराखंड पुलिस बंदियों की हरियाणा की जींद की अदालत में पेशी कराकर नैनीताल वापस लौट रही थी। उत्तराखंड के नैनीताल पुलिस लाइन के एसआइ रमेश सिंह कम्बोज, कांस्टेबल अरुण कुमार मौर्य, कांस्टेबल प्रवीण, कांस्टेबल मनोज और कांस्टेबल नवीन, नैनीताल जेल में बंद तीन बंदी मोनू उर्फ मंडी पुत्र कर्मवीर व अमित उर्फ मित्ता पुत्र कृष्ण कुमार निवासीगण ग्राम नेहला भूना जनपद फतेहाबाद और अमरजीत सिंह उर्फ मीनू पुत्र बलवान सिंह निवासी ग्राम जुनेवान जनपद जींद (हरियाणा) को जानलेवा हमले के केस में मंगलवार को पेशी पर लेकर जनपद जींद की अदालत में गए थे। वहां से वापस लौटते समय शाम करीब साढ़े आठ बजे ईपीई पर ग्राम मवीकलां टोल बूथ के निकट पुलिस वाहन में पीछे से एक ट्रक ने टक्कर मार दी। अनियंत्रित होकर पुलिस वाहन डिवाइडर पर चढ़ गया। हादसे में पुलिसवाले और बंदी घायल हो गए। इस बीच देर रात मृतक कांस्टेबल अरूण मौर्य का पार्थिव शरीर उनके घर पहुंचा। जहां नैनीताल पुलिस ने शहीद कांस्टेबल को श्रद्घांजलि अर्पित की और उनके परिजनों को शोक संवेदना व्यक्त कर सांत्वना दी। अंतिम शव यात्रा में शामिल होकर नैनीताल पुलिस ने कांस्टेबल के पार्थिव शरीर को गार्द आफ आनर देकर नम आंखो से दिनेश पुर घाट में अंतिम विदाई दी।

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440

Leave a Reply

Your email address will not be published.