मुलेठी एक ऐसी आयुर्वेदिक औषधि है जो कई प्रकार की बीमारियों से बचाती है

Ad
Ad
खबर शेयर करें

समाचार सच, स्वास्थ्य डेस्क। मुलेठी एक ऐसी आयुर्वेदिक औषधि है जो कई प्रकार की बीमारियों से बचाती है। अगर हम आमतौर पर देखे तो मुलेठी को लोग चूसना या पान में लेना पसंद करते हैं। अगर हम इसके औषधीय गुणों की बात करें तो इसमें कैल्शियम, वसा ग्लिसराइजिकऐसिड, एंटीऑक्सिडेंट, एंटीबायॉटिक और प्रोटीन अधिक मात्रा पाई जाती है। तो चलिए आज हम आपको मुलेठी के सेवन के फायदे के बारे में बताते है।

मुलेठी क्या है..?
मुलेठी एक झाड़ीनुमा पौधा होता है। इस पौधे के तने को छाल सहित सुखाकर उसका उपयोग किया जाता है। इसके तने में कई औषधीय गुण होते हैं। यह स्वाद में मीठा होता है। यह दांतों, मसूड़ों और गले के लिए अमृत समान है। इसी वजह से आजकल कई टूथपेस्ट में मुलेठी का इस्तेमाल किया जाता है।

मुलेठी के पोषक तत्व
मुलेठी में विटामिंस भरपूर मात्रा में पाए जाते है। इसमें विटामिन ई और विटामिन बी भरपूर मात्रा में होता है। साथ ही फास्फोरस, कैल्शियम, कॉलिन, आयरन, पोटेशियम, सेलेनियम, सिलिकॉन और जिंक भी अच्छी मात्रा में होते हैं।

यह भी पढ़ें -   कान का दर्द मिनटों में हो जाएगा छूमंतर, बस आजमाएं यह आसान उपाय

मुलेठी के फायदे –

थकान दूर करें
मुलेठी से हम शरीर की थकान को आसानी से दूर कर सकते है। अगर हम रोजाना 2 ग्राम मुलेठी पाउडर को 1 टी स्पून घी और 1 टी स्पून शहद के साथ गर्म दूध में मिक्स कर पिएं इससे आपकी थकान कुछ ही क्षणो में छू मन्त्र हो जाएगी। मुलेठी का सेवन करने से सर्दी-जुकाम और खांसी में भी आराम मिलता है। यह वायरल इंफेक्शन से भी बचाती है।

स्किन और बालों के लिए –
अगर आप स्किन या बालों की समस्या से पीड़ित है तो इसके लिए आपको मुलेठी और आंवले का चूर्ण बनाकर पानी के साथ पीना होगा। ऐसा करने से आपकी स्किन में ग्लो आएगा और बालों की सेहत भी अच्छी रहेगी।

यह भी पढ़ें -   दिनभर रहती है थकान तो डाइट में शामिल करें ये चीज़ें, रहेंगे हमेशा ऊर्जावान

माइग्रेन के दर्द में लाभकारी –
अगर किसी को माइग्रेन की समस्या है तो उसको नियमित रूप से मुलेठी पाउडर में शहद मिलाकर इसे नेजल ड्राप की तरह नाक में डालें। यह तरीका आपको माइग्रेन में काफी हद तक में आराम दिलाएगा।

आँखों के लिए फायदेमंद –
आंखों में जलन या आंखों से जुड़ा कोई रोग होने पर भी मुलेठी का इस्तेमाल करने से फायदा पहुँचता है। इसके लिए मुलेठी के काढ़ा से आंखों को धोएं। इसके चमत्कारी गुण आँख आने पर उसके दर्द, जलन जैसे लक्षणों से आराम दिलाने में भी बहुत सहायता करती है।

डिप्रेशन से छुटकारा –
अगर हम मुलेठी का सेवन करते है तो हमे डिप्रेशन जैसी समस्या से भी छुटकारा मिलता है। यह एड्रेनल ग्लैंड्स के कार्य में इजाफा लाती है। इसमें मौजूद मैग्निशियम, कैल्शियम और बीटा और करोटिन जैसे खनिज भी उपलब्ध होते हैं, जिसकी वजह से भी डिप्रेशन से छुटकारा मिलता है।

यह भी पढ़ें -   आयुर्वेद के इन रामबाण नुस्खों को अपनाएं और स्वस्थ जीवन की तरफ बढ़ाएं कदम

खांसी में फायदेमंद –
मुलेठी मुंह में रखकर कुछ देर तक चूसते रहने से खांसी से काफी हद तक आराम मिलता है। अगर आपको सूखी खांसी है तो एक चम्मच मुलेठी को शहद के साथ मिलाकर दिन में 2-3 बार चाटें आराम मिलेगा।

गला बैठने की समस्या से आराम –
कई बार गले में संक्रमण हो जाता है जिसकी वजह से गला बैठ जाता है जिससे आवाज भारी हो जाती है या आवाज नहीं निकलती है। मुलेठी को मुंह में लेकर चूसते रहने से गला बैठने की समस्या में काफी हद तक आराम मिलता है। मुलेठी चूसने से गले के कई अन्य रोगों में भी जल्दी फायदा होता है।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *