बुढ़वा मंगल किस दिन पड़ेगा और किस पूजा विधि से बजरंगबली का आशीर्वाद मिलेगा

खबर शेयर करें

समाचार सच, स्वास्थ्य डेस्क। हिंदू धर्म में ज्येष्ठ माह के सभी मंगलवारों का बड़ा महत्व है। ज्येष्ठ माह में पड़ने वाले मंगलवार को बुढ़वा मंगल या बड़ा मंगल कहते हैं। इस दिन पूरे विधि-विधान से हनुमान जी पूजा-अर्चना की जाती है।

बुढ़वा मंगल के दिन हनुमान जी के वृद्ध स्वरुप की पूजा की जाती है। उनके इस रूप की पूजा करने से जीवन के सारे दुख-दर्द दूर हो जाते हैं। जानते हैं कि ज्येष्ठ माह में बुढ़वा मंगल किस-किस दिन पड़ेगा और इस दिन किस पूजा विधि से बजरंगबली का आशीर्वाद मिलेगा।

ज्येष्ठ माह में आने वाले बुढ़वा मंगल
ज्येष्ठ महीने पहला बड़ा मंगल- 28 मई 2024
ज्येष्ठ महीने दूसरा बड़ा मंगल- 4 जून 2024
ज्येष्ठ महीने तीसरा बड़ा मंगल- 11 जून 2024
ज्येष्ठ महीने चौथा बड़ा मंगल- 18 जून 2024

यह भी पढ़ें -   सेहतमंद होता है हंसना, कई बीमारियों को दूर भगा सकती है, जानिए हंसना क्यों है जरूरी

बुढ़वा मंगल की पूजन विधि
ज्येष्ठ माह में आने वाले मंगल का विशेष महत्व होता है। इस दिन हनुमान मंदिर में जाकर बजरंगबली को चोला चढ़ाना चाहिए। इस दिन सुंदरकांड का पाठ करना बहुत शुभ माना जाता है। इस दिन हनुमान जी की आराधना करने से सारे संकट दूर हो जाते हैं।

बड़ा मंगल के दिन हनुमान जी की पूजा में सिंदूर अर्पित करना चाहिए। माना जाता है कि इससे आर्थिक समस्या दूर होती है और धन प्राप्ति के योग बनते हैं। इस दिन राहगीरों को पानी और शरबत पिलाना चाहिए।

बड़ा मंगल के दिन हनुमान जी को पूजा के दौरान उन्हें पान का बीड़ा चढ़ाएं. इससे कार्यक्षेत्र में तरक्की के योग बनते हैं. सभी परेशानियों से मुक्ति पाने के लिए इस दिन हनुमान जी को गुलाब का फूल केवड़े के इत्र के साथ अर्पित करना चाहिए।

यह भी पढ़ें -   १८ जुलाई २०२४ बृहस्पतिवार का पंचांग, जानिए राशिफल में आज का दिन कैसा रहेगा आपका…

बढ़े मंगल पर करें इस मंत्र का जाप

ऊँ नमो हनुमते रुद्रावताराय विश्वरूपाय अमित विक्रमाय
प्रकटपराक्रमाय महाबलाय सूर्य कोटिसमप्रभाय रामदूताय स्वाहा।

क्यों मनाते हैं बुढ़वा मंगल
पौराणिक मान्यताओं के मुताबिक, महाभारत काल में भीम को अपने बल पर घमंड हो गया थां उस समय हनुमान जी ने मंगलवार के दिन बूढ़े वानर का रूप धारण करके भीम के घमंड को तोड़ा था। एक अन्य पौराणिक कथा के अनुसार, जब भगवान श्री राम वन में विचरण कर रहे थे तो उनका हनुमान जी से मिलन इसी दिन हुआ था।

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440