भारी मात्रा में स्मैक के साथ पुलिस के हत्थे चढ़े तस्कर

खबर शेयर करें

समाचार सच, हल्द्वानी (सुशील शर्मा)। पुलिस ने बड़ी मात्रा में स्मैक के साथ दो तस्करों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने स्मैक तस्करी में प्रयुक्त बाइक को सीज कर दिया है। जबकि तस्करों को एनडीपीएस एक्ट में कार्यवाही कर न्यायालय में पेश किया गया है।

जानकारी के अनुसार बीती रात कोतवाल मनोज रतूड़ी मंगल पड़ाव चौकी पुलिस के साथ क्षेत्र में गश्त पर थे। इस बीच मुखबिर ने सूचना दी कि डीके पार्क के पास दो तस्कर स्मैक बेचने के लिए ग्राहक के आने का इंतजार कर रहे हैं। इस सूचना को गंभीरता से लेते हुए पुलिस ने मुखबिर के बताये स्थान पर छापा मार दिया। जहां पुलिस को बाइक संख्या युपी 22 एपी-0152 में दो युवक बैठे दिखाई दिये। शक के आधार पर जब पुलिस कर्मियों ने युवकों की तलाशी ली तो उनके कब्जे से 73.15 ग्राम स्मैक बरामद हुई। मामले में जानकारी देते हुए एसपीसिटी डॉ जगदीश चन्द्र ने बताया कि पकड़े गये तस्कर तौफीक अली पुत्र अजमत अली के कब्जे से 42.95 ग्राम व मुफीद पुत्र अस्मत अली निवासी कजरहाई थाना भोंट जिला रामपुर उत्तर प्रदेश के पास से 30.20 ग्राम स्मैक बरामद हुई है। एसपी ने बताया कि पूछताछ में तस्करों ने उक्त स्मैक बिलासपुर में रहने वाले परवेज से खरीद कर लाने की बात कबूली है। दोनों इस कारोबार को लंबे समय से अंजाम देते चले आ रहे हैं। बीती रात भी वह यहां स्थानीय तस्कर को स्मैक उपलब्ध कराने आये थे। पुलिस ने स्थानीय तस्कर की जानकारी जुटाने के बाद उसकी गिरफ्तारी के प्रयास शुरू कर दिए हैं। पकड़े गये तस्करों के पास से पुलिस को मोबाइल फोन भी बरामद हुए हैं। जिनमें इस कारोबार से जुड़ी अहम जानकारियां भी पुलिस के हाथ लगना माना जा रहा है। पुलिस ने तस्करी में प्रयुक्त बाइक को सीज कर दिया है। जबकि पकड़े गये तस्करों को कार्यवाही के बाद न्यायालय में पेश किया गया है। सफलता प्राप्त करने वाली टीम में कोतवाल मनोज रतूड़ी के साथ मंगल पड़ाव चौकी प्रभारी देवेंद्र बिष्ट, कांस्टेबल कुंदन सिंह, विरेंद्र चौहान, इसरार, उमेश पंत, हितेंद्र वर्मा, भूपाल सिंह, गंगा प्रसाद शामिल रहे।

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440

Leave a Reply

Your email address will not be published.