जिलों की सीमा में प्रवेश करने वाले कांवड़ियों को किया जाएगा क्वारन्टीन

Ad
खबर शेयर करें

समाचार सच, देहरादून। कोविड-19 संक्रमण के दृष्टिगत इस वर्ष आयोजित होने वाली कांवड़ यात्रा को राज्य सरकार द्वारा प्रतिबंधित किया गया है। जिसके दृष्टिगत पुलिस मुख्यालय द्वारा सभी संबंधित जनपदों के लिए निर्देश जारी किए गए है, जिसके तहत कांवड़ियों का हरिद्वार, देहरादून व अन्य स्थानों पर प्रवेश वर्जित किया गया है। साथ ही स्पष्ट निर्देश दिए गए हैं कि यदि कोई कांवड़िया किसी भी जनपद की सीमा प्रवेश करता है तो उसे संबंधित जनपद में स्थित क्वारन्टीन सेंटर में 14 दिन के लिए क्वारन्टीन किया जाएगा।

यह भी पढ़ें -   पेशावर कांड के महानायक वीर चंद्र सिंह गढवाली की पुण्यतिथि पर उनको किया नमन

उक्त निर्देशों का अनुपालन में देहरादून में नगर क्षेत्र में जैन धर्मशाला तथा विकासनगर क्षेत्र में वैश्य धर्मशाला को क्वारन्टीन सेन्टर बनाया गया है। उक्त क्वारन्टीन सेन्टर में जनपद की सीमा में प्रवेश करने वाले कांवड़ियों को क्वारन्टीन किया जाएगा। इसके अतिरिक्त जनपद कि सीमा पर स्थित थानों व चेक पोस्टों पर समुचित संख्या में पुलिस बल को नियुक्त किया गया है, जिनके द्वारा जनपद की सीमा में प्रवेश करने वाले प्रत्येक वाहन की सघन चेकिंग की जा रही है। जनपद कि सीमा में स्थित चेक पोस्टों आशा रोड़ी, कुल्हाल, दर्रा रेट पर कांवड़ यात्रा के दौरान कांवड़ियों के प्रवेश को रोकने के लिए 11 सब इंस्पेक्टर, 3 महिला सब इंस्पेक्टर, 02 हेड कांस्टेबल, 42 पुरुष कांस्टेबल तथा 10 महिला कांस्टेबल की अतिरिक्त तैनाती की गई है। साथ ही सीमा पर स्थित चेक पोस्ट आशा रोड़ी में 01 प्लाटून पुरुष पी0ए0सी तथा डेढ़ सेक्शन महिला पीएसी, कुल्हाल में डेढ़ सेक्शन पुरुष पीएसी तथा ऋषिकेश क्षेत्र में एक प्लाटून पुरुष पीएसी को नियुक्त किया गया है।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *