सावन माह के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को नाग पंचमी मनाई जाती है क्या नहीं करना चाहिए नाग पंचमी में

खबर शेयर करें

समाचार सच, अध्यात्म डेस्क। नाग पंचमी का त्योहार 21 अगस्त 2023 को मनाया जाएगा। इस दिन सावन सोमवार भी है। सावन माह के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि पर नाग पंचमी मनाई जाती है। ये दिन नाग देवता को समर्पित है. नाग पूजा हमारी संस्कृति और परंपरा का भाग है।

कालसर्प दोष से मुक्ति पाने के लिए ये दिन सर्वश्रेष्ठ माना जाता है। शास्त्रों के अनुसार कुछ ऐसे काम है जो नाग पंचमी पर नहीं करना चाहिए, वरना आने वाली 7 पीढ़ियों तक इसका दोष लगता है। आइए जानते हैं नाग पंचमी का मुहूर्त, सर्पों की पूजा का महत्व और नियम।

नाग पंचमी 2023 पूजा मुहूर्त
सावन शुक्ल पंचमी तिथि शुरू – 21 अगस्त 2023, प्रातः 12.21
सावन शुक्ल पंचमी तिथि समाप्त – 22 अगस्त 2023, प्रातः 02 बजे तक रहेगी.
पूजा मुहूर्त – सुबह 05.33 – सुबह 08.30 (21 अगस्त 2023)

यह भी पढ़ें -   १७ जून २०२४ सोमवार का पंचांग, जानिए राशिफल में आज का दिन कैसा रहेगा आपका …

नाग पंचमी पर सर्पों की पूजा का लाभ
भविष्य पुराण के अनुसार सर्प काटने से किसी की मौत हुई हो तो उनकी सद्गति नहीं होती। ऐसी आत्माओं को मोक्ष नहीं मिलता। ऐसे में नाग पंचमी पर नाग देवता की पूजा करने से सांप के डसने का भय नहीं रहता, साथ ही जिन लोगों की अकाल मृत्यु हुई है उन्हें मुक्ति मिलती है।

ब्रह्मपुराण के अनुसार ब्रह्मा जी ने सर्पों को नाग पंचमी के दिन पूजे जाने का वरदान दिया है। इस दिन अनंत, वासुकी, तक्षक, कारकोटक और पिंगल नाग की पूजा का विधान है। इनकी पूजा से राहु-केतु जनित दोष और कालसर्प दोष से मुक्ति मिलती है।

नाग पंचमी पर न करें ये काम
नाग देवता के समान – हिंदू धर्म में सर्पों को देवता माना जाता है। वैसे तो सर्प को कभी नुकसान नहीं पहुंचाना चाहिए लेकिन खासकर नाग पंचमी के दिन सांपों को कष्ट न पहुंचाएं। ऐसा करने पर आने वाली सात जन्मों तक पीढ़ियों को दोष लगता है।

यह भी पढ़ें -   सीएम धामी आदि कैलाश में आयोजित अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर लेंगे भाग

वंशज को होता है नुकसान – इस दिन किसी भी कार्य के लिए जमीन की खुदाई न करें। ऐसा करने सें मिट्टी या जमीन में सांपों के बिल या बांबी के टूटने का डर रहता है। कहते हैं सांपों को नुकसान पहुंचने पर वंश का नाश हो जाता है। संतान सुख नहीं मिलता।

पूजा में न करें ये गलती – इस दिन जीवित सांप को दूध न पिलाएं। सांप के लिए दूध जहर के समान हो सकता है, इसलिए सिर्फ उनकी प्रतिमा पर ही दूध अर्पित करें।

नुकीली वस्तु से न करें काम – नाग पंचमी पर नुकीली और धारदार वस्तुओं जैसे चाकू, सूई का इस्तेमाल करना अशुभ माना जाता है। इस दिन सिलाई, कढ़ाई नहीं की जाती।

क्यों नहीं होता तवा का उपयोग – नाग पंचमी पर लोहे की कड़ाही और तवे में खाना न पकाएं। मान्यता के अनुसार रोटी बनाने के लिए जिस लोहे के तवे का इस्तेमाल किया जाता है उसे नाग का फन माना जाता है।

Ad Ad Ad Ad Ad
Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440