संस्कृत भाषा देवो की भाषा है समस्त ज्ञान विज्ञान का भण्डार इसमें समाया हुआ: स्वामी परेशयति महाराज

खबर शेयर करें

श्री महादेव गिरि संस्कृत महाविद्यालय देवलचौड़ हल्द्वानी में संस्कृत सप्ताह समापन समारोह

समाचार सच, हल्द्वानी। श्री महादेव गिरि संस्कृत महाविद्यालय देवलचौड़ हल्द्वानी में संस्कृत सप्ताह समापन समारोह के अवसर पर वरिष्ठ महामण्डलेश्वर स्वामी परेशयति महाराज ने कहा कि संस्कृत भाषा देवो की भाषा है समस्त ज्ञान विज्ञान का भण्डार इसमें समाया हुआ है।

डॉ0 चन्द्र प्रकाश उप्रेती हुए ब्रह्मविद्या यति सम्मान से सम्मानित
इस अवसर पर संस्कृत भाषा के प्रचार प्रसार में निरन्तर कार्य करने वाले संस्कृत भाषा विद्वान डा चन्द्र प्रकाश उप्रेती को श्री महादेव गिरि संस्कृत महाविद्यालय देवलचौड हल्द्वानी ओर से संस्कृत भाषा के क्षेत्र में सराहनीय कार्य करने के लिए ब्रह्मविद्या यति सम्मान से सम्मानित किया गया।

यह भी पढ़ें -   श्रावण माह 2024: सावन में करें भगवान शिव का रुद्राभिषेक और पाएं ग्रह बाधाओं से मुक्ति

संस्कृत भाषा में विशाल साहित्य व ज्ञान का भण्डार भरा है: प्राचार्य डा0 नवीन चन्द्र जोशी
मुख्य वक्ता विद्यालय के प्राचार्य डॉ नवीन चन्द्र जोशी ने कहा कि संस्कृत शिक्षा निदेशालय के अनुपालन में सभी विद्यालयों में संस्कृत सप्ताह मनाया गया इसी क्रम में हमारे महाविद्यालय में भी छात्रों को सरल संस्कृत सम्भाषण का अभ्यास कराया गया जिसके अन्तर्गत संस्कृत प्रचार रैली तथा श्लोकोच्चारण सहित विविध कार्यक्रम आयोजित किए गए। डा0 नवीन चन्द्र जोशी ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा संस्कृत भाषा को जन जन तक पहुंचाने के प्रयास किए जा रहे हैं। संस्कृत भाषा में विशाल साहित्य व ज्ञान का भण्डार भरा है अतः सभी को संस्कृत भाषा का ज्ञान होना आवश्यक। राज्य में संस्कृत को द्वितीय राज़ भाषा का दर्जा प्राप्त है लेकिन बिना जन सहयोग के ये जनभाषा नहीं बन सकती है। इन्हीं उद्देश्यों की पूर्ति हेतु संस्कृत सप्ताह राज्य सरकार द्वारा मनाया जा रहा है।

यह भी पढ़ें -   श्रावण माह 2024: सावन के दौरान सभी ग्रहों को प्रसन्न करने के लिए करें ये उपाय, दूर होंगी परेशानियां

कार्यक्रम में अध्यक्ष संस्कृत भारती उत्तराखंड की प्रान्ताध्यक्षा श्रीमती जानकी त्रिपाठी ने लोगों को संस्कृत व उसकी उपादेयता के बारे में बताया। कार्यक्रम में चौधरी समरपाल सिंह, डा चन्द्र बल्लभ बेलवाल, डा कैलाश चंद्र सनवाल, आचार्य राकेश पंत, डा राजेश कुमार जोशी, श्रीमती कंचन डालाकोटी, आचार्य महेश जोशी, छात्र संघ अध्यक्ष अनुराग जोशी, डा0 राकेश चन्द्र गुणवन्त, मंजीत पवन जोशी, सचिन पाण्डेय ने भी विचार रखे। सम्मान प्राप्त विद्वान डा0 चन्द्र प्रकाश उप्रेती सभी छात्रों ने को सरल संस्कृत सम्भाषण का अभ्यास भी कराया। कार्यक्रम का संचालन डा चन्द्र बल्लभ बेलवाल ने किया।

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440