उत्तराखण्ड में यहां वनाग्नि की चपेट में आया स्कूल, तीन कमरे और फर्नीचर जलकर राख

खबर शेयर करें

समाचार सच, चमोली। उत्तराखंड में जंगल लगातार धधक रहे हैं। इससे वन संपदा के साथ-साथ अब सरकारी संपत्ति को भी नुकसान पहुंचने लगा है। ऐसी ही घटना चमोली जनपद के कर्णप्रयाग में सामने आई है। यहां देवाल के पास के जंगल में लगी स्कूल तक पहुंच गई। forest fire in uttarakhand

बृहस्पतिवार की रात्रि को इंटर कॉलेज के पीछे के जंगल में लगी अचानक आग से टीन सेट से बने तीन कमरे जलकर नष्ट हो गए हैं। इन कमरों के अंदर का फर्नीचर भी नष्ट हो गया है। कमरों में हाईस्कूल की कक्षाऐं संचालित होती थी। विद्यालय के प्रधानाचार्य एमआर घुनियाल के द्धारा दी गई जानकारी में बताया कि को जंगल की आग से विद्यालय के तीन कमरे व फर्नीचर जलकर नष्ट हो गया है।

यह भी पढ़ें -   आषाढ़ माह में इन चीजों का दान खोलेगा धन आगमन के रास्ते, पितृ प्रसन्न होंगे दूर होगी हर बाधा

बता दें प्रदेश भर से जंगलों में आग लगने की घटनाएं सामने आ रही है। प्रदेश में एक नवंबर 2023 से अब तक वनाग्नि की 544 घटनाएं सामने आ चुकी हैं, जिनमें 656.55 हेक्टेयर जंगल प्रभावित हुआ है। लगातार बढ़ती वनाग्नि की रोकथाम में वन महकमा विफल साबित हुआ है। इससे सरकार की चिंता बढ़ गई है।

Ad Ad Ad Ad Ad
Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440