आरटीओ में कार्य बहिष्कार का दूसरा दिन-पदोन्नति सभी कार्मिकों का न्यायापूर्ण अधिकार: सुषमा

Ad
Ad
खबर शेयर करें

समाचार सच, हल्द्वानी। संभागीय परिवहन कार्यालय में वरिष्ठ प्रशासिनक अधिकारी के पद पर पदोन्नति की मांग को लेकर परिवहन मिनिस्ट्रियल कर्मचारी संघ के आहवान पर संभागीय परिवहन कार्यालय हल्द्वानी कार्यालय में संघ द्वारा घोषित अनिश्चितकालीन पूर्ण कार्य बहिष्कार दूसरे दिन भी जारी रहा। संघ की प्रदेश अध्यक्षा सुषमा चौधरी द्वारा सभा को सम्बोधित कर रोष प्रकट करते हुए कहा कि समय से पदोन्नति की प्रतिक्रिया पूर्ण न कर शासन द्वारा कार्मिकों के अधिकारों का हनन किया जा रहा है। पदोन्नति सभी कर्मिकों का न्यायापूर्ण अधिकार है। जिसे नियत समय पर प्रदत्त किए जाने से कार्मिकों की कार्यक्षमता में बढ़ोत्तरी होती है तथा कार्य के प्रति उत्साह बना रहता है। सभी को सम्बोधित करते हुए प्रधान सहायक हरिन्दर बाफिला का कहना था कि बड़ी ही निराशा विषय है कि कार्मिकों की पदोन्नति जैसे विषय पर आन्दोलन का रास्ता अपनाना पड़ रहा है। संघ के पर्यवेक्षक चारू चन्द्र का कहना था कि परिवहन कर्मिकों द्वारा सौंपे गये सभी दायित्वों का निष्ठापूर्ण निर्वहन करने के पश्चात भी कार्मिकों का प्रमोशन समय पर न हो पाना दुर्भाग्यपूर्ण है। जून 2020 में परिवहन विभाग का नया ढांचा स्वीकृत किया गया था जिसका शासनादेश जारी करते समय वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी के पदों को त्रुटिवश गलत अंकित कर दिया गया। मिनिस्ट्रियल कर्मचारियों को आन्दोलन हेतु बाध्य होना पड़ रह है। प्रर्दशन करने वालों में जिलाध्यक्ष नीरज चौहान, अनिल कुमार रावत, महेन्द्र नेगी, आनंद बल्लभ पाण्डे, श्रीमती पूजा खुल्बे, आनन्द बल्लभ उप्रेती, श्रीमती ज्योति बड़ौला, श्रीमती कल्पना भण्डारी, चंदन मेहरा, खेमसिंह नेगी, राकेश गंगोला, नवनीत जोशी, गिरजा शंकर पाण्डे, हिमांशु तड़ागी आदि उपस्थित थे।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *