शीतकाल के लिए हुए द्वितीय केदार मध्यमेश्वर के कपाट बंद

खबर शेयर करें

समाचार सच, रुद्रप्रयाग (एजेन्सी)। पंचकेदार में शामिल द्वितीय केदार मध्यमेश्वर धाम के कपाट गुरुवार सुबह 11 बजे शीतकाल के लिए बंद हो गये। 24 नवंबर को बाबा की उत्सव डोली पंचकेदार गद्दीस्थल ओंकारेश्वर मंदिर ऊखीमठ पहुंचेगी। इसके बाद अगले छह माह तक बाबा यहीं अपने भक्तों को दर्शन देंगे।

श्री बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति के कार्याधिकारी एनपी जमलोकी ने बताया कि कपाट बंद होने के तुरंत बाद बाबा की उत्सव डोली ओंकारेश्वर मंदिर के लिए रवाना हो गयी।
उन्होंने बताया भगवान मध्यमेश्वर की डोली गुरुवार कपाट बंद होने के बाद गौंडार के लिए रवाना हुई ,भगवान की डोली शुक्रवार 22 नवंबर को राकेश्वरी मंदिर रांसी और शनिवार 23 नवंबर को गिरिया में रात्रि प्रवास करने के बाद 24 नवंबर को उखीमठ के पौराणिक ओंकारेश्वर मंदिर में अपनी शीतकाल गद्दी पर विराजमान हो जाएंगे।

यह भी पढ़ें -   राहु-मंगल का अशुभ योग, प्राकृतिक आपदा या हिंसक घटनाओं में हो सकता है जान-माल का नुकसान

गौरतलब हो कि भगवान रुद्रनाथ की डोली के उखीमठ में पहुँचने परस्थानीय लोगों और श्रद्धालुओं द्वारा जोरदार स्वागत किया जाता है इस अवसर पर हर साल ऊखीमठ में मध्यमेश्वर मेला आयोजित किया जाता है। इस बार भी मंदिर समिति ने इसकी तैयारियां पूरी कर ली हैं।

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440

Leave a Reply

Your email address will not be published.