1 4

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने भारी बरसात के दृष्टिगत सभी थाना प्रभारियों को दिए अलर्ट मोड पर रहने का निर्देश

Ad - Harish Pandey
Ad - Swami Nayandas
Ad - Khajaan Chandra
Ad - Deepak Balutia
Ad - Jaanki Tripathi
Ad - Asha Shukla
Ad - Parvati Kirola
Ad - Arjun-Leela Bisht
खबर शेयर करें

समाचार सच, देहरादून। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून ने वायरलेस सेट के माध्यम से सभी अधिकारियों की गोष्ठी ली।इस दौरान उन्होंने आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किए। गोष्ठी के उपरान्त स्वयं क्षेत्र में उतरकर शराब पीकर हुडदंग करने तथा रैश ड्राइविंग करने वाले व्यक्तियों के विरूद्ध कार्यवाही की।
वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, जनपद देहरादून द्वारा वायरलेस सेट के माध्यम से जनपद के समस्त राजपत्रित अधिकारियों/थाना प्रभारियों तथा चौकी प्रभारियों के साथ गोष्ठी आयोजित की गयी। गोष्ठी के दौरान एसएसपी द्वारा उपस्थित अधिकारियों को दिशा-निर्देश निर्गत करते हुए कहा कि वर्तमान में हो रही भारी बरसात के दृष्टिगत सभी थाना प्रभारी अलर्ट मोड में रहेंगे तथा अपने-अपने थाना क्षेत्रों में सवेंदनशील स्थानों को चिन्हित कर वहां रहने वाले लोगों को किसी भी आपात स्थिति के प्रति सचेत करेंगे। इसके अतिरिक्त प्रत्येक थाने पर 24 घंटे आपदा प्रशिक्षण प्राप्त किये हुए पुलिसकर्मियों को आपदा राहत उपकरणों के साथ तैयारी की हालत में रखा जायेगा, जो किसी भी आकस्मिक स्थिति पर तत्काल कार्य करेंगे। जनपद में किसी भी थाना क्षेत्र में किसी भी प्रकार की आपदा की स्थिति उत्पन्न होने पर तत्काल उसके आस-पास के थाने भी अपने-अपने राहत उपकरणों के साथ मौके पर पहुँचकर राहत एवं बचाव कार्य में उनकी सहायता करेंगे। इसी प्रकार जनपद के सीमावर्ती थाने अपने सीमा से लगे जनपदों में इस प्रकार की स्थिति उत्पन्न होने पर उनकी सहायता करेंगे। इस दौरान इस बात का विशेष ध्यान रखा जाये कि पुलिस का रिस्पांस टाइम कम से कम हो। सभी क्षेत्राधिकारी/थाना प्रभारी अपने-अपने थाना क्षेत्रों में ऐसे भवन, प्रतिष्ठान, स्कूल, जो जर्जर अवस्था में हैं तथा आवास व अन्य कार्यों के लिये उपयोग में लाये जा रहे हों तथा वहां किसी अप्रिय घटना घटित होने की सम्भावना बन रही हो, को चिन्हित कर लें तथा राजस्व विभाग के साथ समन्वय स्थापित कर उन्हें समय रहते खाली कराने की कार्यवाही करा लें। इसके अतिरिक्त थाना/चौंकियो/पुलिस लाइन में भी ऐसे जर्जर अवस्था वाले भवनों को चिन्हित कर लिया जाये, जो भारी बरसात के कारण प्रभावित हो सकते हैं। सभी थाना/चौकी प्रभारी अपने-अपने क्षेत्रों में घटित किसी भी घटना की सूचना तत्काल उच्चाधिकारियों को देंगे तथा उक्त सूचना पर तत्काल रिस्पांस करते हुए स्वयं मौके पर पहुंचकर आवश्यक कार्यवाही करना सुनिश्चित करेंगे।सभी थाना प्रभारी अपने-अपने थाना क्षेत्रों में स्थित होटल/ढाबों/रेस्टोरेन्ट/स्पा सेन्टरों/हुक्का बार आदि में नियमित रूप से चौकिंग करते हुए उक्त स्थानों पर किसी भी प्रकार की अनियमितता पाये जाने पर तत्काल उनके विरूद्ध वैधानिक कार्यवाही करना सुनिश्चित करेंगे। किसी भी दशा में कोई होटल/रेस्टोरेन्ट/बार व अन्य व्यवसायिक प्रतिष्ठान निर्धारित समयावधि के बाद नहीं खुलेंगे। आकस्मिक चैकिंग के दौरान यदि किसी थाना क्षेत्र में कोई व्यवसायिक प्रतिष्ठान निर्धारित समयावधि के उपरान्त खुला पाया जाता है तो सम्बन्धित थाना/चौकी प्रभारी की जवाबदेही तय की जायेगी। रात्रि के समय सभी थाना/चौकी प्रभारी अपने-अपने थाना क्षेत्रों में नियमित रूप से भ्रमणशील रहते हुए शराब पीकर हुडदंग करने व रैश ड्राइविंग करने वालों के विरूद्ध वैधानिक कार्यवाही करना सुनिश्चित करेंगे। थानों पर उपलब्ध करायी गयी सरकारी सम्पत्ति के रख-रखाव के प्रति सवेंदनशीलता बरतते हुए सभी थाना प्रभारी इस बात को सुनिश्चित करेंगे कि अधीनस्थ अधिकारी/कर्मचारियों द्वारा उनकी सुविधा के लिये उपलब्ध करायी गयी सम्पत्ति का रख रखाव ठीक ढंग से किया जाये ताकि भविष्य में भी अन्य व्यक्तियों द्वारा उसका उपयोग किया जा सके। सभी अधिकारी/कर्मचारी इस बात को सुनिश्चित कर लें कि अनुशासनहीनता को किसी भी दशा में बर्दाश्त नहीं किया जायेगा, सभी अधिकारी/कर्मचारी इस बात का पूरा ध्यान रखेंगे। प्रत्येक पुलिसकर्मी जनता के साथ अपना व्यवहार शालीन रखते हुए उनकी समस्याओं को सुने तथा उसका समयबद्ध निस्तारण सुनिश्चित करे। अपराधों के अनवारण में सभी थाना प्रभारी सीसीटीवी तथा सर्विलांस पर अपनी निर्भरता को कम करते हुए बेसिक मैनुअल पुलिसिंग पर ध्यान दें तथा अपने मुखबिर तंत्र को और अधिक मजबूत करें। प्रयास रहे कि किसी भी अपराध के अनावरण में महत्वपूर्ण भूमिका मैनुअल पुलिसिंग की रहे। पूर्व में जनपद देहरादून तथा हरिद्वार में कच्ची शराब के सेवन से लोगों की जान जाने की घटनाएं घटित हुई हैं, इसलिये सभी थाना प्रभारी इस बात को सुनिश्चित करेंगे कि उनके क्षेत्र में किसी भी दशा में कच्ची/अवैध शराब की भट्टियां संचालित न हों और ना ही उसका विक्रय हो। इस प्रकार का कृत्य करने वाले लोगों को चिन्हित कर उनके विरूद्ध कठोर वैधानिक कार्यवाही अमल में लायी जाये। नशे के विरूद्ध कार्यवाही, यातायात संचालन, शिकायती प्रार्थना पत्रों के निस्तारण तथा भूमि सम्बन्धी अपराधों पर त्वरित कार्यवाही करने हेतु सभी थाना प्रभारियों को निर्देशित किया गया है। सभी थाना प्रभारी प्रत्येक दिवस उक्त सम्बन्ध में उनके द्वारा की गयी कार्यवाही का विवरण वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून के साथ-साथ सम्बन्धित क्षेत्राधिकारी, पुलिस अधीक्षक को भी उपलब्ध कराना सुनिश्चित करेंगे। उक्त सम्बन्ध में थाना स्तर पर की गयी कार्यवाही की नियमित रूप से समीक्षा की जायेगी तथा अच्छा कार्य करने वाले थाना/चौकी प्रभारियों को पुरूस्कृत किया जायेगा व अपेक्षानुरूप परिणाम परिलक्षित न करने वाले थाना/चौकी प्रभारियों को हटाया जायेगा। गोष्ठी के पश्चात वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून द्वारा नगर क्षेत्र के समस्त राजपत्रित अधिकारियों व थाना प्रभारियों को घंटाघर पर बुलाकर उन्हें आवश्यक निर्देश दिये गये तथा स्वयं उनके साथ क्षेत्र में उतरकर जनपद के विभिन्न स्थानों पर पुलिस द्वारा की जा रही रात्रि चौकिंग का आकस्मिक निरीक्षण किया। इस दौरान एसएसपी द्वारा राजपुर रोड, दिलाराम चौक, जाखन, डायवर्जन आदि क्षेत्रों में स्वयं उपस्थित रहते हुए शराब पीकर वाहन चलाने वाले तथा हुडदंग करने वाले 57 व्यक्तियों के विरूद्ध पुलिस एक्ट में कार्यवाही करते हुए 22 वाहनों को सीज करवाया गया।

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440

Leave a Reply

Your email address will not be published.