हल्द्वानी में यहां चली जमीनी विवाद को लेकर गोली, चार घायल

Ad - Harish Pandey
Ad - Swami Nayandas
Ad - Khajaan Chandra
Ad - Deepak Balutia
Ad - Jaanki Tripathi
Ad - Asha Shukla
Ad - Parvati Kirola
Ad - Arjun-Leela Bisht
खबर शेयर करें

समाचार सच, हल्द्वानी। सोमवार को यहां महानगर के मुखानी थाना क्षेत्र में एक जमीनी विवाद को लेकर दो पक्षों के बीच विवाद हो गया। जिसके चलते एक पक्ष ने दूसरे पक्ष पर गोली चला दी। जिससे क्षेत्र में दहशत फैल गयी है। इस फायरिंग में चार लोगों घायल हो गये हैं। आनन-फानन में उन्हें बेस चिकित्सालय में ले गये। जहां उनका उपचार चल रहा है। सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस टीम द्वारा मुख्य आरोपी के दो पुत्रों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है। पुलिस ने मौके से एक 12 बोर की बंदूक दो तमंचे बरामद किए है।

सोमवार की दोपहर थाना मुखानी क्षेत्र के सरस्वती विहार जयदेव पुरम यूनिवर्सल स्कूल के समीप आरटीओ रोड कुसुम खेड़ा निवासी शमशेर सिंह और उसके दो बेटे कैप्टन सिंह व अमिताभ से जमीन के विवाद को लेकर दूसरे पक्ष कुलविंदर सिंह पुत्र अनूप सिंह निवासी हरियाणा साहिल सिंह पुत्र यशपाल सिंह निवासी हरियाणा और कश्मीर सिंह पुत्र गुरचरण सिंह निवासी जगदेवपुर अमृतपाल पुत्र रंजीत सिंह निवासी बिलासपुर और हरपाल सिंह पुत्र दर्शन सिंह निवासी बाजपुर उधम सिंह नगर वह कर्मवीर सिंह पुत्र यशपाल सिंह निवासी बिलासपुर उधम सिंह नगर एवं दर्शन सिंह पुत्र लाला सिंह निवासी निवासी बाजपुर के साथ मारपीट हो गई। इस दौरान शमशेर सिंह ने 12 बोर की बंदूक से उक्त लोगों पर फायर झोंक दिया जिसमें दर्शन सिंह तथा कुलविंदर एवं साहिल सिंह व उनका एक साथी 4 लोग घायल हो गए। जिन्हें उपचार के लिए बेस अस्पताल पहुंचाया गया।

यह भी पढ़ें -   बैंक अधिकारी बन पूछा विवरण, उड़ाई लाखों की रकम

घटना की सूचना पर पुलिस क्षेत्राधिकारी, मुखानी थाना प्रभारी और आरटीओ चौकी इंचार्ज मय पुलिस टीम के मौके पर पहुंचे। लेकिन आरोपी शमशेर सिंह मौके से भाग गया। जबकि उसके दोनों पुत्र अमिताभ गुरसेवक को पुलिस ने मौके से गिरफ्तार कर लिया। जिन की निशानदेही पर पुलिस ने एक 12 बोर की बंदूक व दो तमंचे बरामद किए है।

पकड़े गये अमिताभ ने पूछताछ के दौरान बताया कि उक्त बंदूक लाइसेंसी है, जिसका लाइसेंस पंजाब से बना हुआ है। इधर पुलिस का कहना है कि जांच पड़ताल के बाद ही पता चलेगा की बंदूक लाइसेंसी है या नहीं। पुलिस ने बताया कि जयदेव पुरम मैं 55 सो स्क्वायर फीट प्लॉट का कुलविंदर सिंह और शमशेर सिंह के बीच लंबे समय से विवादित है पुलिस ने बताया कि कुलविंदर का कहना है के शमशेर सिंह द्वारा उक्त प्लाट में कब्जा किया जा रहा था। जिसकी जानकारी मिलने के बाद आज वह मौके पर पहुंचे जहां उनका शमशेर सिंह के साथ प्लाट को लेकर कहासुनी हो गयी। शमशेर व उसके पुत्रों ने उन पर अवैध हत्यारों से फायर कर उन्हें घायल कर दिया है।

यह भी पढ़ें -   उत्तराखंड के मानसखंड कॉरिडोर से जुड़ेगा रानीबाग चित्रशिला धाम, पर्यटन मंत्री ने त्वरित कार्यवाही के निर्देश

इधर सीओ भूपेंद्र धोनी ने बताया कि घटना की जांच की जा रही है जांच के दौरान जो व्यक्ति दोषी पाए जाएंगे उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

इधर हरपाल सिंह का कहना है कि वह आज अपने ससुर 72 वर्षीय दर्शन सिंह व साले हरपाल सिंह के साथ हल्द्वानी आए थे। उनके साथ उनके हरियाणा के दोस्त साहिल और कुलविंदर सिंह भी थी। इसी बीच जब वे सभी लोग खेतों में टहल रहे थे तभी शमशेर सिंह ने अपने घर के अंदर से पहले तीन राउंड हवाई फायर किए और बाद में उन्हें निशाना बनाते हुए उन पर भी तीन फायर झोंक दिये।
जमीन स्वामी हरपाल सिंह इस हमले में बाल बाल बच गए। उन्होंने मुखानी थाने में घटना की शिकायत दी है। पुलिस मामले की छानबीन में जुट गई है।

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440

Leave a Reply

Your email address will not be published.