हार्ट अटैक के जोखिमों से बचने के लिए अपनाएं आसान तरीके

Ad
खबर शेयर करें

समाचार सच, अध्यात्म डेस्क। दुनिया भर में सबसे ज्यादा लोगों की मौत हृदय रोग के वजह से होती है। एक रिसर्च के अनुसार हर साल लगभग 17.9 मिलियन लोगों की मृत्यु हृदय रोग के कारण होती है। हृदय संबंधी समस्याओं से होने वाली सभी मौतों में से 85 प्रतिशत लोगों की मौत सिर्फ हृदयघात यानी हार्ट अटैक और स्ट्रोक के कारण होती हैं। हृदय रोगों का ज्यादातर खतरा लोगों की खराब जीवनशैली और अस्वस्थ आहार के कारण होता है। हालांकि यह कहना बहुत ही मुश्किल है कि किसको दिल का दौरा कब पड़ सकता है। लेकिन आप अपनी जीवनशैली में कुछ आदतों को सुधार कर हार्ट अटैक के जोखिमों को कम कर सकते हैं। आइए जानते हैं किन आदतों को अपना कर आप हृदयाघात के जोखिम को कम कर सकते हैं।

स्वस्थ आहार का सेवन करें

हार्ट अटैक के जोखिमों को कम करने के लिए आपका आहार सबसे पहला और महत्वपूर्ण चीज है। एक संतुलित और पौष्टिक आहार दिल की बीमारियों और कई अन्य स्वास्थ्य समस्याओं से लड़ने में बहुत मददगार होता है। अगर आप नियमित रूप से अस्वस्थ आहार का सेवन करते हैं तो इससे आपका कोलेस्ट्रॉल स्तर, रक्तचाप और रक्त शर्करा का स्तर बढ़ सकता है। ये सभी समस्याएं आपके दिल की सामान्य कार्यप्रणाली को प्रभावित कर सकती हैं और आपको दिल का दौरा भी पड़ सकता है।

यह भी पढ़ें -   रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करेंगे दादी मां के घरेलू नुस्खे

हमेशा ऐक्टिव रहें

लंबे और रोग मुक्त जीवन जीने के लिए सभी उम्र के लोगों को हमेशा ऐक्टिव रहना चाहिए। ऐक्टिव रहने का मतलब यह नहीं है कि आपको किसी जिम की महंगी सदस्यता लेनी होगी। आपको केवल यह सुनिश्चित करना है कि आप अपने शरीर को लंबे समय तक आराम ना दें। खुद को ऐक्टिव रखने के लिए आप चाहे तो अपने घर का कुछ काम कर सकते हैं । सुबह और शाम टहलने के लिए घर से बाहर जा सकते हैं या योगाभ्यास भी कर सकते हैं। अगर हो सके तो अपने दिनचर्या में कार्डियोवस्कुलर एक्सरसाइज को शामिल करें। इससे आपके हृदय की मांसपेशियां मजबूत होती हैं।

यह भी पढ़ें -   मुलेठी एक ऐसी आयुर्वेदिक औषधि है जो कई प्रकार की बीमारियों से बचाती है

ब्लड-प्रेशर को नियंत्रण में रखें

उच्च रक्तचाप या हाई ब्लड-प्रेशर हृदय रोग के जोखिमों को बढ़ाने के प्रमुख कारणों में से एक है। लगातार उच्च रक्तचाप धमनियों को नुकसान पहुंचा सकता है। यह आपके हृदय में रक्त और ऑक्सीजन दोनों के प्रवाह को कम कर देता है, जिससे आपको दिल का दौरा पड़ता है। यहां तक कि लो ब्लड प्रेशर से भी दिल का दौरा पड़ सकता है। इसलिए आपको नियमित रूप से हार्ट रेट चेक करना चाहिए और इसे नियंत्रण में रखने के लिए सभी आवश्यक कदम उठाने चाहिए।

वजन को नियंत्रित रखें

एक शोध के अनुसार अधिक वजन और मोटे लोगों को दूसरों की तुलना में दिल का दौरा पड़ने का खतरा अधिक होता है। क्योंकि अधिक वजन होने से उच्च रक्तचाप और कोलेस्ट्रॉल स्तर का बढ़ जाता है और ये दोनों हृदय रोग के जोखिमों को और बढ़ाता है। इसलिए हमेशा अपने वजन को नियंत्रण में रखने का प्रयास करें और इसके लिए स्वस्थ भोजन और नियमित रूप से व्यायाम करें।

यह भी पढ़ें -   देसी घी,अदरक और दालचीनी जैसे घरेलू उपायों से कम होगा माईग्रेन का दर्द, जानिए कैसे

शराब और धूम्रपान का सेवन ना करें

अत्यधिक शराब और धूम्रपान का सेवन करने से हार्ट फेलियर, हृदय गति रुकने, दिल का दौरा और संबंधित बीमारियों के विकास का जोखिम कई गुना बढ़ जाता है। सिगरेट और शराब आपके रक्त शर्करा के स्तर को बढ़ा सकता है, जिससे आपका वजन बढ़ता है और दिल का दौरा पड़ सकता है। अगर आप लंबा और स्वस्थ जीवन जीना चाहते हैं तो आज ही आपको धूम्रपान और शराब दोनों का सेवन बंद कर देना चाहिए।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *