उत्तराखण्ड में बर्फवारी व शीतलहर अलर्ट के मद्देनजर शासन-प्रशासन मुस्तैद

खबर शेयर करें

-वीडियो कांफ्रेसिंग द्वारा मुख्य सचिव ने आयुक्त एवं जिलाधिकारियों को व्यवस्थायें सुनिश्चित करने के दिये निर्देश

समाचार सच, हल्द्वानी। उत्तराखण्ड में बर्फवारी व शीतलहर अलर्ट के मद्देनजर शासन-प्रशासन हुआ मुस्तैद हो गये हैं। गौरतलब है कि बीते दिन उत्तराखण्ड में मौसम विभाग ने अलर्ट जारी करते हुए बताया कि 13 और 14 दिसम्बर को राज्य के ऊंचाई वाले हिस्सों में जहां भारी बर्फबारी हो सकती है वहीं तराई वाले इलाकों में कपकपाने वाली ठण्ड पड़ेगी।

प्रदेश में बर्फवारी व शीतलहर के अलर्ट के मद्देनजर बृहस्पतिवार को मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिह ने आयुक्त एवं जिलाधिकारियों से वीडियो कांफ्रेसिंग द्वारा वार्ता करते हुये कहा कि बर्फवारी शीतलहर से पूर्व सभी व्यवस्थायें सुनिश्चित कर लें। उन्होंने कहा कि जिलाधिकारी अपने जनपदों मे बर्फवारी सम्भावित क्षेत्रों मे दो माह का खाद्यान, दवायें, गैस आदि व्यवस्थायें सुनिश्चित कर ली जांए। उन्हांेने कहा कि शीतलहर का प्रभाव मैदानी क्षेत्रों मे अधिक रहता है इसलिए शीतलहर क्षेत्रों में रैनबसेरों का निरीक्षण स्वयं जिलाधिकारी अथवा उच्च अधिकारियों से करायें, रैनबसेरों मे बिजली, पानी, शौचालय, सफाई व्यवस्थायें सनिश्चित करें।

उन्होंने कहा कि बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन व सार्वजनिक स्थानों पर अलाव जलाने की व्यवस्थायें सुनिश्चित की जांए तथा रैनबसेरों मे प्रवास करने वाले गरीब व निसहाय लोगों के लिए गर्म कब्बल आदि के साथ ही गर्म चाय एवं खाद्य पदार्थ की भी व्यवस्था करने के निर्देश दिये। श्री कुमार ने कहा कि बर्फवारी के दौरान जो गांव मुख्यधारा से कट जाते हैं उन्हे चिन्हित करते हुये उन क्षेत्रों मे खाद्यान, दवायेें, गैस, डीजल, पेट्रोल आदि व्यवस्थायें अभी से सुनिश्चित कर ली जांए तथा जिन जनपदों में शीतकाल में टूर-ट्रेकिंग की जाती है वहां के जिलाधिकारी टूर-ट्रैकरोें पर पैनी नजर रखें व खराब व बर्फबारी मौसम मे टूर-ट्रैकिंग की अनुमति कतई ना दी जाए।

मण्डलायुक्त राजीव रौतेला ने बताया कि मण्डल में शीतकालीन बर्फवारी व शीतलहर सम्बन्धित सभी तैयारियां पूर्ण कर ली गई है। बर्फवारी क्षेत्रों मे सभी जनपदों मे खाद्यान गैस, दवाओं आदि व्यवस्था सुनिश्चित कर ली गई है। मण्डल के जिलाधिकारियो से नियमित वार्ता की जा रही है।

वीडियों काफ्रेसिक के दौरान जिलाधिकारी सविन बंसल ने बताया कि जनपद में 7 रैनबसेरे है जिनमें सभी व्यवस्थायें सुनिश्चित कर ली गई है, 82 सार्वजनिक स्थान अलाव जलाने हेतु चिन्हित कर लिये है मौसम के अनुसार अलाव जलाने के निर्देश दे दिये गये है। उन्होने कहा कि बर्फबारी के बाद सडकों पर से तत्काल बर्फ हटाने के लिए सम्बन्धित क्षेत्रों में जेसीबी की व्यवस्था के साथ ही स्टाफ की तैनाती कर दी गई है। मुक्तेश्वर, रामगढ, गागर, भटेलिया, धानाचुली, किलबरी, बारापत्थर, शेरकाडांडा मे काफी बर्फबारी होती हेै लिहाजा इन स्थानों पर अतिक्ति जेसीबी तैनात कर दी गई हैै ताकि हिमपात होेने के बाद तत्काल सडकों को खोला जा सके। उन्होने बताया कि हिमपात के दौरान तथा बाद मेें किसी भी प्रकार से विद्युत आपूर्ति ना हो इसके लिए बर्फबारी क्षेत्रों मे जो जीर्णशीर्ण पेड़ है उनको हटाने तथा पेडों की छटाई का काम कर लिया गया है, ताकि हिमपात के दौरान विद्युत आपूर्ति बाधित ना होने पाये। श्री बंसल ने कहा कि बर्फवारी क्षेत्रों के लिए प्रचुर खाद्यान, कैरोसिन, डीजल पेट्रोल, दवायें व गैस की व्यवस्था सुनिश्चित कर ली गई है।

वीडियों कांर्फ्रेसिंग में सचिव आपदा प्रबन्धन,वित्त अमित नेगी, आईजी संजय गुंज्याल,वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार मीणा,अपर आयुक्त संजय खेतवाल, अपर जिलाधिकारी एसएस जंगपांगी, अधीक्षण अभियन्ता लोनिवि आरएस रावत,डीजीएम बीएसएनएल गणेश प्रसाद, डा0 बलवीर सिह आदि मौजूद थे।

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440