श्री महादेव गिरि संस्कृत महाविद्यालय द्वारा आयोजित शिविर में 22 लोगों ने किया रक्तदान

खबर शेयर करें

समाचार सच, हल्द्वानी। श्री महादेव गिरि संस्कृत महाविद्यालय देवलचौड़ हल्द्वानी के नैनीताल राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई द्वारा श्री कालीचौड़ मन्दिर गौलापार में स्वैच्छिक रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। जिसमें 42 लोगों ने पंजीकरण कराया तथा 22 बाईस लोगों ने रक्तदान किया। शिविर की सबसे बड़ी बात यह रही कि महाविद्यालय के प्राचार्य डा0 नवीन चन्द्र जोशी ने 28 वीं तथा कार्यक्रम अधिकारी डा चन्द्र बल्लभ बेलवाल ने 20वीं बार रक्तदान किया।

शिविर का उद्घाटन जिला समन्वयक एलएम पाण्डेय व कालीचौड़ मन्दिर समिति के पदाधिकारी पंकज बिष्ट व बसन्त सनवाल ने संयुक्त रूप से किया गया। प्राचार्य डा0 नवीन चन्द्र जोशी ने अतिथियों व शिविर सहयोगियों का आभार व्यक्त करते हुए रक्तदान महादान के विषय में बताया। छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष महेश जोशी ने कहा कि रक्तदान से बढ़ा कोई दान नहीं है। इस मौके पर मन्दिर समिति के पदाधिकारीयों ने सभी को प्रतीक चिन्ह प्रदान किये।

यह भी पढ़ें -   केंद्रीय रक्षा मंत्री अजय भट्ट ने आंधी और तूफान से हुए जान-माल के नुकसान की ली जानकारी, दिये आवश्यक दिशा-निर्देश

रक्तदान शिविर में कार्यक्रम में समाज सुरक्षा अधिकारी नगरनिगम सुरेश अधिकारी व अभियन्ता के डी उपाध्याय ने भी रक्तदान किया। रक्तदान करने वाले भैरव सिंह देऊपाए सूरज बिष्टए निखिल बिष्टए मोहित बिष्टए अनुराग जोशीए नितिन भट्टए कैलाश गुरुरानीए विवेक तिवारीए हर्षित पंतए भाष्करानंद जोशीए दीपक तिवारीए विनोद पाठकए तनुज बिष्टए कौशल देवराडीए गोकुल भट्टए कमलेश भट्टए चारु काण्डपाल सहित 22 रक्तदाता शामिल थे।

यह भी पढ़ें -   दोस्त के साथ नहाने गए युवक की नदी में डूबने से मौत

इस अवसर पर मुख्य रूप से सोहन सिंह जीना बेस हास्पिटल के डा0 सीएस हयांकीए डा0 ऊषा भट्टए अंजू सिंहए सरिता रावत सोनालीए उमेश चंद्रए सुरेश पाठकए विशन रौतेलाए लता जोशी आदि ने रक्तदान मौजूद रहे। कार्यक्रम का आयोजन एवं संचालन कार्यक्रम अधिकारी डा चन्द्र बल्लभ बेलवाल ने किया।

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440

Leave a Reply

Your email address will not be published.