NEET पर सुप्रीम कोर्ट बड़ा फैसला! ग्रेस मार्क्स हटाया, एनटीए इन बच्चों की परीक्षा लेगा दोबारा

खबर शेयर करें

NEET UG Result 2024 Supreme Court LIVE Updates: समाचार सच, नई दिल्ली (एजेन्सी)। NEET (UG) 2024 Result 2024 पर बड़ी खबर आई है। आखिरकार नीट में धांधली के आरोपों को लेकर देशभर में चल रहे विरोध प्रदर्शन के बीच नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने बड़ा कदम उठाया है। परीक्षा आयोजित करने वाली राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी यानी NTA ने नीट यूजी 2024 ग्रेस मार्क्स वापस ले लिए हैं। इसी के साथ 1563 स्टूडेंट्स का नीट स्कोरकार्ड रद्द कर दिया है। ये वे छात्र छात्राएं हैं, जिन्हें NEET Grace Marks दिए गए थे। अब इन बच्चों का नीट रिजल्ट कैंसिल कर दिया गया है।

आपको बता दें कि NEET (UG) 2024 Result 2024 जारी होने के बाद लगातार विवादों में बना हुआ है जिसकी वजह है इस प्रवेश परीक्षा में बड़ी संख्या में एनईईटी यूजी 2024 कई उम्मीदवारों का अच्छा प्रदर्शन, जिसके चलते छात्रों से लेकर परिजनों तक ने 4 जून पर परिणाम घोषित होने के बाद इस रिजल्ट में गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए इन परिणामों की जांच करने की मांग उठाई है। कई पक्षों की तरफ से अदालत में याचिकाएं दाखिल करने के बाद ये विवाद इतना बढ़ चुका है कि सरकार को इस मामले में जांच कमेटी का गठन करना पड़ी है।

नीट रिजल्ट 2024 विवाद में सुप्रीम कोर्ट ने NEET UG रिजल्ट को रद्द करने की याचिका पर संज्ञान लेते हुए केंद्र सरकार और नेशनल टेस्टिंग एजेंसी यानी NTA को नोटिस जारी करते हुए पूछा है कि, क्या इस मेडिकल प्रवेश परीक्षा की पवित्रता प्रभावित हुई है। हालांकि, सुप्रीम कोर्ट ने ग्रेजुएट मेडिकल एंट्रेंस के लिए होने वाली काउंसलिंग प्रोसेस पर रोक लगाने के इंकार कर दिया है।

पूर्व यूपीएससी अध्यक्ष की अध्यक्षता वाली चार सदस्यीय समिति ने अपनी पहली कुछ बैठकों में सभी 1,563 उम्मीदवारों को या तो दोबारा परीक्षा में बैठने या “गैर-सामान्यीकृत स्कोर” स्वीकार करने की पेशकश पर चर्चा की है, जो कि इन छात्रों ने शामिल होने से पहले हासिल किया था।

यह भी पढ़ें -   १५ जुलाई २०२४ सोमवार का पंचांग, जानिए राशिफल में आज का दिन कैसा रहेगा आपका...

अगर आप या आपके घर में किसी ने नीट परीक्षा 2024 में भाग लिया है, तो यहां जान लीजिएः
याचिकाकर्ताओं ने NEET UG परीक्षा रद्द करने और इसे दोबारा आयोजित करने के सुप्रीम कोर्ट के निर्देश को गलत ठहराया है। उन्होंने लगभग 1,600 छात्रों को ग्रेस मार्क्स देने के राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी के फैसले को भी चुनौती दी है।

इलाहाबाद उच्च न्यायालय की लखनऊ पीठ ने बुधवार को राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी से उस छात्रा के मूल रिकॉर्ड पेश करने को कहा, जिसने आरोप लगाया है कि उसे अभी तक नीट का परिणाम नहीं मिला है। पीठ ने मामले में सुनवाई की अगली तारीख 18 जून तय की है.

ग्रेस मार्क्स मामले पर बढ़ते विवाद को देखने के बाद सुप्रीम कोर्ट द्वारा पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए कहा है कि जिन 1563 छात्रों को ग्रेस मार्क्स दिए गए थे, उनके लिए 23 मार्च को दोबारा नीट परीक्षा का आयोजन किया जाएगा जिसका परिणाम 30 जून से पहले जारी किया जाएगा।

NEET UG 2024 विवाद के संबंध में केंद्र ने गुरुवार (13 जून) को सुप्रीम कोर्ट को सूचित किया कि 1563 छात्रों को दिए गए ग्रेस अंक रद्द करने का निर्णय लिया गया है। केंद्र सरकार की ओर से पेश वकील ने आज सुप्रीम कोर्ट को बताया कि इन 1563 उम्मीदवारों को उनके वास्तविक अंकों (ग्रेस मार्क्स के बिना) के बारे में सूचित किया जाएगा और उन्हें दोबारा परीक्षा देने का विकल्प दिया जाएगा। यदि वे छात्र दोबारा परीक्षा नहीं देना चाहते हैं, तो 5 मई को आयोजित परीक्षा के आधार पर उनके अंकों को ध्यान में रखा जाएगा। (सोर्स-लाइव लॉ)

यह भी पढ़ें -   युवा उद्यमियों को आत्मनिर्भर बनाने को दी सरकारी योजनाओं की जानकारियां

केंद्र सरकार का प्रतिनिधित्व कर रहे वकील कनु अग्रवाल ने न्यायमूर्ति विक्रम नाथ और न्यायमूर्ति संदीप मेहता की अवकाश पीठ को बताया कि यह निर्णय छात्रों के डर को दूर करनेष् के लिए 12 जून को राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी (एनटीए) द्वारा गठित पैनल द्वारा लिया गया था। अग्रवाल ने कहा कि पैनल का विचार था कि समय की हानि के आधार पर 1563 छात्रों को प्रतिपूरक अंक देने के परिणामस्वरूप विषम स्थिति उत्पन्न हुई क्योंकि अनुग्रह अंक केवल अप्राप्य प्रश्नों तक ही सीमित रहना था। सभी पहलुओं की जांच करने के बाद, समिति ने निष्कर्ष निकाला कि 1563 छात्रों के स्कोरकार्ड रद्द करने की सिफारिश करना उचित होगा और उन्हें उनके वास्तविक अंकों (ग्रेस मार्क्स के बिना) के बारे में सूचित किया जाएगा।प्रवेश परीक्षा में बड़ी संख्या में एनईईटी यूजी 2024 उम्मीदवारों के अच्छा प्रदर्शन करने पर हंगामे के बाद राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी द्वारा गठित समिति – 67 ने 720/720 का सही स्कोर हासिल किया – आज तक अपना फैसला सुना सकती है। (सोर्स-लाइव लॉ)

एनटीए का कहना है कि दोबारा परीक्षा 23 जून को होगी और उसके नतीजे 30 जून से पहले जारी किए जाएंगे, जिसके बाद काउंसलिंग 6 जुलाई से शुरू होगी।

एनटीए ने Indianexpress.com को बताया कि प्रभावित उम्मीदवारों को अब दो विकल्प दिए जाएंगे – या तो वे उस अंक को स्वीकार करें जो उन्हें मूल रूप से दिया गया था, बिना ग्रेस मार्क्स के, या 23 जून को परीक्षा के लिए फिर से उपस्थित हों। वही छह शहर लेकिन अलग-अलग केंद्र, ”एनटीए के एक वरिष्ठ अधिकारी ने Indianexpress.com को बताया।

एक वरिष्ठ अधिकारी ने Indianexpress.com को बताया, ष्समय की हानि झेलने वाले सभी 1563 उम्मीदवारों के पास 23 जून को NEET UG 2024 के पुनर्परीक्षण में शामिल होने का विकल्प होगा। हम अदालत में याचिका दायर करने वाले किसी अन्य छात्र के लिए भी इस विकल्प पर विचार करेंगे।

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440