घायल लोगों ने सुनायी रानीपोखरी पुल घ्वस्त की खतरनाक मंजर की दास्ता

Ad
खबर शेयर करें

समाचार सच, देहरादून। गुरूवार को जौलीग्रांट एयरपोर्ट और ऋषिकेश के बीच रानीपोखरी का पुल अचानक ध्वस्त होने की हादसे में ओमिनी लोडर वाहन के चालक और सहयोगी को चोट आई है। दोनों को उपचार के लिए राजकीय चिकित्सालय ऋषिकेश में भर्ती कराया गया है। देहरादून से आ रहा ओमिनी लोडर वाहन का चालक पिंटू (30 वर्ष) पुत्र प्रधान चौहान निवासी अखाड़ा मोहल्ला देहरादून और उसका सहयोगी संदीप (19 वर्ष) राम सिंह निवासी इंदिरा कॉलोनी चक्कू मोहल्ला देहरादून दुर्घटना में घायल हुए हैं। घायल लोगों ने रानीपोखरी पुल घ्वस्त की खतरनाक मंजर की दास्ता सुनायी हैं जो इस प्रकार है-

यह भी पढ़ें -   हल्द्वानी व्यापार मण्डल चुनाव शांतिपूर्ण हुए , अध्यक्ष पद योगेश निर्विरोध अध्यक्ष बने, महामंत्री पद में मनोज ने मारी बाजी

चालक पिंटू ने बताया कि शुक्रवार दोपहर 12 बजकर पांच मिनट पर वह अपने वाहन में बेकरी का सामान लेकर ऋषिकेश आ रहे थे। इस बीच पुल का एक हिस्सा अचानक बैठ गया। उनसे आगे दो छोटा हाथी वाहन थे, जो आगे बढ़ गए थे। उनका वाहन मुंह के बल टूटे हिस्से में फंस कर तिरछा हो गया, जबकि आगे बढ़ गए दो अन्य लोडर वाहन पुल के दूसरे हिस्से की ओर से पीछे की ओर लुढ़के। इसमें एक वाहन पलट गया।

यह भी पढ़ें -   आईपीएल मैच में सट्टा लगाते तीन आये पुलिस की गिरफ्त में

पिंटू और संदीप ने बताया कि एक बार उनके सामने मानो मौत आकर खड़ी हो गई हो। कुछ समझ में नहीं आ रहा था कि अचानक यह क्या हुआ। किसी तरह से स्वयं को वाहन से बाहर निकाला और पुल के टूटे हिस्से की चढ़ाई में किसी तरह निकलकर वह बाहर आए। राजकीय चिकित्सालय में चिकित्सकों ने बताया कि दोनों की हालत खतरे से बाहर है।

यह भी पढ़ें -   उत्तराखंड बन रहा फिल्म शूटिंग का पसंदीदा डेस्टीनेशन : सतपाल महाराज

आपको बता दें कि गुरूवार को अचानक रानीपोखरी के ऊपर बना पुल टूट गया। उस वक्त पुल के ऊपर से कई वाहन गुजर रहे थे। पुल का जो हिस्सा टूटा, वहां कुछ वाहन फंस गए और कुछ पलट गए। वहीं, पुल के टूटने से दून का ऋषिकेश से संपर्क कट गया है। अब अगर किसी को ऋषिकेश से देहरादून आना है तो उन्हें नेपाली फार्म होते हुए आना होगा।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *