kabootar ko dana

कबूतर को दाना खिलाने के धार्मिक दृष्टि में बहुत सारे लाभ होते है

Ad Ad
खबर शेयर करें

समाचार सच, अध्यात्म डेस्क। बहुत से लोग ऐसे होते हैं। जिनको पक्षियों को दाना खिलाने बहुत अच्छा लगता है। और हमारे बहुत से भाई बंधु तो सुबह सुबह कबूतर को दाना डालते हैं। कबूतर को दाना खिलाने के क्या लाभ होते है ? या कबूतर को दाना खलाने का लाभ क्या है ? उसी बात को ध्यान मे रखते हुए हम यह पोस्ट लिख रहे हैं। वैसे देखा जाए तो वैज्ञानिक रूप से कबूतर को दाना डालने का कोई लाभ हमे नजर नहीं आ रहा है। लेकिन धार्मिक दृष्टि से कबूतर को दाना डालने के बहुत सारे लाभ हैं। और इस लेख के अंदर कबूतर को दाना खिलाने के धार्मिक लाभों की बात करने वाले हैं।

कबूतर को दाना डालने के अनेक फायदे हैं। यदि आप कबूतरों को दाना खिलाते हैं तो आपके घर के अंदर शांति और धन आता है। और इसी वजह से कबूतरों को दाना खिलाना बहुत फायदे मंद होता है। ऐसा माना जाता है कि घर के अंदर कबूतर दाने चुगने आते हैं तो आप पर धन की वर्षा होती है। तो आइए जानते हैं कबूतर को दाना खिलाने के लाभ के बारे मे।

Ad Ad Ad

कबूतर को दाना खिलाना एक पुण्य का काम है
जब हम किसी दीन दुखी व्यक्ति की कुछ भी मदद करते हैं तो यह एक पुण्य का काम होता है। इसी तरीके से जब हम कबूतरों को दाना डालते हैं तो यह भी एक पुण्य का ही तो काम है। दुनिया के हर धर्म के अंदर यह लिखा गया है कि जो इंसान पुण्य करेगा । उसे स्वर्ग नसीब होगा और जो पाप कर्म करेगा उसे नरक नसीब होगा। पुण्य की वजह से भी बहुत से लोग कबूतरों को दाना खिलाते हैं। इस वजह से कबूतर को दाना खिलाने का पहला लाभ है पुण्य कमाना।

gurukripa
raunak-fast-food
gurudwars-sabha
swastik-auto
men-power-security
shankar-hospital
chotu-murti
chndrika-jewellers
AshuJewellers

कबूतर को दाना खिलाने के लाभ अनेक बिमारियों का ईलाज
ऐसा माना जाता है कि कबूतर को दाना खिलाने से पिलिया और टाइफाइड जैसी बिमारियों पर असर पड़ता है। हालांकि यह सब ज्योतिष शास्त्र के अंदर माना जाता है कि कबूतर को दाना खिलाने से इन बिमारियों से निजात मिलती है।

धन लाभ
ऐसा माना जाता है कि जब आप अपने घर के आंगन के अंदर या बाहर कबूतरों को दाना खिलाते हैं तो आपके घर मे माता लक्ष्मी की क्रपा बनी रहती है। कबूतर माता लक्ष्मी के प्रिय होते हैं। तो कबूतरों को दाना खिलाने का लाभ धन की वर्षा होना। यदि आपके घर के अंदर पैसों की तनातनी बनी रहती है तो कबूतरों को दाना खिलाएं अवश्य ही फायदा होगा।

यह भी पढ़ें -   आज़ २७ जनवरी २०२३ शुक्रवार का पंचांग, राशिफल में जानिए कैसा बीतेगा पूरा दिन

कबूतर को दाना खिलाने के लाभ सुख और शांति

ऐसा माना जाता है कि कबूतर सुख और शांति का प्रतीक हैं। इस वजह से कबूतरों को जब आप अपने घर के अंदर दाना खिलाते हैं तो घर के अंदर सुख और शांति आती है। हालांकि इस प्रयोग को कई लोग कर चुके हैं। वास्तव मे यह काम करता है। और घर की स्थिति सुधरती है।

व्यवसाय और नौकरी मे तरक्की
यदि आप कोई छोटी मोटी नौकरी करते हैं या कोई व्यवसाय करते हैं। और उसके अंदर आपकी तरक्की नहीं हो रही है तो इसके लिए भी कबूतरों को दाना डाला जा सकता है। आप प्रतिदिन सुबह कबूतरों को दाना डालें। ऐसा करने से आपको बहुत कुछ फर्क देखने को मिलेगा ।

सकारात्मक उर्जा
ऐसा भी माना जाता है कि कबूतरों को दाना खिलाने से घर के अंदर सकारात्मक उर्जा आती है। और घर के अंदर की नकारात्मक उर्जा दूर होती है। यदि आप नियमित रूप से कबूतरों को दाना खिलाते हैं तो आपको इसका अच्छा प्रभाव देखने को मिलेगा ।

कबूतर को दाना खिलाने के लाभ फील गुड
कबूतर को दाना खिलाने का लाभ यह भी है। कि जब हम कबूतर को या अन्य पक्षियों को दाना खिलाते हैं तो हम काफी अच्छा महसूस करते हैं। हमे एक स्कून सा मिलता है। कि देखो कितने कबूतर हमारे द्वारा डाले गए दाने को चुगने आ रहे हैं। गुड फील करना भी काफी अच्छा है।

बुध ग्रह का प्रभाव अनूकूल करने के लिए
कबूतरों को दाना डालना बुध ग्रह से संबंध रखता है। और जिन लोगों की कुंडली के अंदर बुध का प्रभाव अच्छा नहीं होता है। उन लोगों को कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। बुध ग्रह को अनुकूल करने के लिए कबूतरों को दाना डालना भी एक अच्छा उपाय है।

बृहस्पति ग्रह के लिए फायदेमंद
यदि आपकी कुंडली के अंदर ब्रहस्पति नीच हो या पीड़ित हो तो ऐसा व्यक्ति यदि कबूतर को पिंजरे से आजाद कर देता है तो उस व्यक्ति का ब्रहस्पति शुभ फल देने लगता है। यह बात कई ज्योतिषी के द्वारा कहीं जा सकती है।

कबूतरों को दाना डालने का काम ईश्वर का वर्क
ईश्वर के बनाए हर जीव उसे बहुत ही प्रिय हैं। और जब कोई इंसान कबूतरों को दाना डालता है। तो एक तरह से वह ईश्वर के काम को कर रहा है। और ईश्वर यही तो चाहता है। कि दीन लोगों की मदद करने वाला, सत्य के पथ पर चलने वाला ही मेरा सबसे प्रिय शिष्य होगा ।

यह भी पढ़ें -   जनभागीदारी एवं जन सहयोग से उत्तराखंड को देश का अग्रणी राज्य बनाएंगे: मुख्यमंत्री धामी

पक्षी प्रेम का विकास
एक तरह से जब आप कबूतरों का दाना डालते हैं तो आपके अंदर पक्षी प्रेम का विकास होता है। और ऐसी स्थिति के अंदर आप यह भी सीखते हैं कि किस तरह से लोगों की मदद करनी चाहिए। आपके इस प्रेम की वजह से आपके अंदर दया भाव भी विकसित होता है।

कबूतरों को दाना खिलाते समय सावधानियां
कबूतरों को दाना खिलाना काफी अच्छी बात है। लेकिन उनको दाना खिलाते समय कुछ बातों का ध्यान भी अवश्य ही रखना चाहिए । दोस्तों कबूतर अपने जीवन साथी के प्रति बेहद ईमानदार होते हैं। कबूतरों को घर की छत पर कभी भी दाना नहीं डालना चाहिए। क्योंकि घर की छत का संबंध राहु से होता है। और कबूतरों को दाना डालना बुध का उपाय है। यदि आप घर की छत पर दाना खिलाते हैं तो इससे बुध और राहु का मेल होता है। कबूतर छत को गंदा करते हैं। मतलब राहु को गंदा करते हैं। जिसका परिणाम भयानक होता है। उसी तरह से जिस व्यक्ति की कुंडली के अंदर बुध और राहु का मेल होता है। उसकी मानसिक स्थिति खराब हो जाती है। आप कबूतरों को अपने घर के आंगन या घर के बाहर भी दाना डाल सकते हैं। इसमे आपको कोई परेशानी आने का डर भी नहीं रहेगा ।

कबूतरों को दाना खिलाने के नुकसान
वैसे देखा जाए तो हमारी राय तो यही है कि कबूतरों को घर के आंगन मे भी दाना नहीं खिलाना चाहिए। क्योंकि आंगन को कबूतर गंदा कर सकते हैं। जिससे कई प्रकार की बिमारियां होने का खतरा बढ़ जाता है। कुछ डॉक्टर यह बताते हैं कि खुले मे पड़ी कबूतरों की बींट से बर्ड फैंसीयर्स डिजीज हो सकता है। और फेफड़ों के अंदर संक्रमण हो सकता है। और सूखी खांसी व बुखार तक हो सकता है। हालांकि डॉक्टर कहते हैं कि कबूतरों को दाना खिलाना अच्छी बात है। लेकिन स्वस्था को भी नजर अंदाज नहीं किया जाना चाहिए।

Jai Sai Jewellers
AlShifa
BholaJewellers
ChamanJewellers
HarishBharadwaj
JankiTripathi
ParvatiKirola
SiddhartJewellers
KumaunAabhushan
OmkarJewellers
GandhiJewellers

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *