बसंत पंचमी में इन नामों को लेने से प्रसन्न होती है मां सरस्वती

खबर शेयर करें

समाचार सच, अध्यात्म डेस्क। इस वर्ष श्री सरस्वती जयंती या मां सरस्वती का जन्म दिवस 14 फरवरी, बुधवार को मनाया जाएगा। इस दिन संपूर्ण भारत में वसंत पंचमी उत्सव मनाया जाता है। इसी दृष्टि से सभी के लिए वसंत का मौसम बहुत मायने रखता है। यह दिन ज्ञान की देवी मां सरस्वती के जन्म दिवस के रूप भी मनाया जाता है।

कैसे करें पूजन-

वसंत पंचमी के अबूझ नक्षत्र में मां सरस्वती का विधि-विधानपूर्वक पूजन करने से जीवन में निश्चित ही सफलता मिलती है। इस दिन साधकों पर मां की विशेष कृपा होती है। इस दिन पीले रंग के वस्त्र धारण करके पीला चंदन, पीले अक्षत, पीले पुष्प, पान के पत्ते, सुपारी, लौंग, इलायची, पीले वस्त्र, गंगा जल, वाद्य यंत्र, धूप, दीप, नैवेद्य, पुस्तकें आदि से सरस्वती की प्रतिमा को ऊंचे आसन पर रख कर पूजा करना चाहिए तथा खड़े होकर मां सरस्वती की आरती करनी चाहिए। साथ ही इस दिन मां सरस्वती को प्रसन्न करने के लिए उनके 12 नामों का उच्चारण करना चाहिए। देवी सरस्वती के ये 12 नाम आपके जीवन से अज्ञानता का नाश करके प्रकाश की ओर ले जाते हैं।

यह भी पढ़ें -   जानिए आज क्या रहेगा उत्तराखंड के मौसम का हाल, पहाड़ से लेकर मैदान तक सर्द हवाओं की रहेगी ठिठुरन

आइए यहां जानते हैं देवी वीणावादिनी के 12 शुभ नाम –

मां सरस्वती के बारह नाम – भारती, सरस्वती, शारदा, हंसवाहिनी, जगती, वागीश्वरी, कुमुदी, ब्रह्मचारिणी, बुद्धिदात्री, वरदायिनी, चंद्रकांति, भुवनेश्वरी।

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440