इस फल में छिपे आयुर्वेदिक गुण, अल्सर से लेकर कैंसर तक रखेगा बचाव

Ad
खबर शेयर करें

समाचार सच, स्वास्थ्य डेस्क। भगवान हनुमान के बारे में तो सभी जानते होंगे लेकिन क्या आपने कभी हनुमान फल के बारे में सुना है। ऐसे कई फल होते हैं तो मार्केट में कम देखने को मिलते हैं, उन्हीं में से एक है हनुमान फल। आयुर्वेदिक गुणों से भरपूर हनुमान फल को अंग्रेजी स्रोसव फ्रूट या लक्ष्मण फल भी कहा जाता हैं, जो ज्यादातर दक्षिण भारत में पाया जाता है। चलिए आपको बताते हैं कि हनुमान फल खाने से सेहत को क्या क्या फायदे मिलते हैं

कैसे खाना चाहिए हनुमान फल
इस खट्टे फल का स्वाद स्ट्रॉबेरी और अनानास का कॉम्बो है, जिसे आमतौर पर आधा काटकर पल्प को खाया जाता है। इसके बीज हानिकारक हो सकते हैं इसलिए उसे निकाल दें। वहीं, इसके पल्प का इस्तेमाल पेय, मिठाई, स्मूदी, आइसक्रीम, शरबत और कैंडी बनाने के लिए भी किया जाता है।

यह भी पढ़ें -   रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करेंगे दादी मां के घरेलू नुस्खे

हनुमान फल में मौजूद पोषक तत्व
हनुमान फल में प्रोटीन, कैल्शियम, आयरन, पोटेशियम, फॉस्फोरस, फाइबर, विटामिन सी, जिंक, और ओमेगा -3 फैटी एसिड जैसे पौष्टिक तत्व पाए जाते हैं। शोध के मुताबिक, एंटी कैंसर, एंटीऑक्सीडेंट, एंटी इन्फ्लेमेटरी, एंटीमाइक्रोबॉयल हनुमान फल का सेवन कई बीमारियों को दूर रखने में मदद करता है।

चलिए आपको बताते हैं हनुमान फल खाने से सेहत को क्या क्या फायदे मिलते हैं…
कैंसर से बचाव

शोध के मुताबिक, एंटी-कैंसर हनुमान फल का सेवन इस रोग से बचाने में मदद करता है। कीमोथेरेपी ले रहे मरीजों के लिए भी इस फल का सेवन बहुत फायदेमंद है। इसके अलावा इसकी पत्तियां 12 तरह के कैंसर का खतरा घटाती हैं।

यूटीआई इंफेक्शन
यूटीआई इंफेक्शन से जूझ रही हैं तो हनुमान फल या इसका जूस बनाकर पीएं। विटामिन सी से भरपूर यह फल यूरिन में अम्लीय स्तर को बनाए रखता है, जिससे इंफेक्शन की समस्या दूर होती है।

यह भी पढ़ें -   देसी घी,अदरक और दालचीनी जैसे घरेलू उपायों से कम होगा माईग्रेन का दर्द, जानिए कैसे


पाचन को रखे दुरुस्त

यह एक सिट्रस फ्रूट है, जिसमें विटामिन सी की अच्छी मात्रा होती है। यही वजह है कि इसका सेवन पाचन संबंधी समस्याएं नहीं होने देता। इसमें फाइबर भी होता है, जिससे कब्ज, अपच, एसिडिटी जैसी समस्याएं दूर रहती है।

इम्यूनिटी बढ़ाए
चूंकि इसमें विटामिन सी भरपूर होती है इसलिए यह इम्यूनिटी बूस्ट करने में भी बहुत फायदेमंद है। साथ ही इससे ब्लड सर्कुलेशन भी बढ़ता है।

मसूड़ों की सूजन दूर करे
इसके एंटीबैक्टीरियल गुण मसूड़े की सूजन, दांतों की सड़न और यीस्ट इंफेक्शन को दूर करने में भी मददगार है।

अल्सर में फायदेमंद
पेट के अल्सरेटिव घावों या गैस्ट्रिक अल्सर को कम करने में भी यह फल बहुत फायदेमंद है क्योंकि इसमें अल्सर-रोधी गुण होते हैं।

यह भी पढ़ें -   मुलेठी एक ऐसी आयुर्वेदिक औषधि है जो कई प्रकार की बीमारियों से बचाती है

लिवर को करे डिटॉक्स
हनुमान फल का जूस बनाकर पीने से लिवर की सारी गंदगी बाहर निकल जाती है, जिससे आप कई समस्याओं से बचे रहते हैं।

गठिया दर्द से राहत
गठिया दर्द से परेशान रहते हैं तो इस फल का जूस या पत्तियों का काढ़ा बनाकर पीएं। साथ ही इसकी पत्तियों के अर्क से प्रभावित एरिया की मसाज करने पर भी दर्द से आराम मिलता है।

डायबिटीज कंट्रोल
एंटीडायबिटिक और हाइपोलिपिडेमिक गुण होने के कारण यह डायबिटीज मरीजों के लिए भी फायदेमंद है। शोध के अनुसार, रोजाना इसका सेवन खून ग्लूकोज की मात्रा को कंट्रोल करता है। साथ ही यह अग्न्याशय की बीटा कोशिकाओं को ऑक्सीडेटिव क्षति से बचाता है जो टाइप-2 डायबिटीज का कारण है।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *