holika dhan

इस साल हस्त नक्षत्र और 6 शुभ योगों में जलेगी होली, ये समृद्धि और उन्नति का संकेत है

खबर शेयर करें

समाचार सच, अध्यात्म डेस्क। गोधुलि वेला में पूजा और प्रदोष काल में पूर्णिमा के संयोग में होलिका दहन होना सुख और समृद्धि देने वाला रहेगा रविवार, 28 मार्च यानी आज फाल्गुन महीने की पूर्णिमा तिथि पर प्रदोष काल यानी शाम को होलिका दहन होगा। इस समय हस्त नक्षत्र के साथ ही 6 बड़े शुभ योग भी रहेंगे। वहीं, भद्रा काल दोपहर करीब 1रू55 तक ही रहेगा। उसके बाद पूरा दिन शुभ रहेगा। इस बार होलिका दहन पर विशेष यह है कि होलिका दहन पर चंद्रमा अपने ही नक्षत्र में रहेगा, 3 राजयोग और 3 अन्य बड़े शुभ योग भी बन रहे हैं। ये अपने आप में एक दुर्लभ संयोग है। सितारों की इस खास स्थिति में होलिका दहन का होना देश में समृद्धि और उन्नति का संकेत है। 29 मार्च, सोमवार को आपस में रंग लगा कर धुलेंडी उत्सव मनाया जाएगा।
होलिका दहन मुहूर्त
केंद्रीय संस्कृत विश्वविद्यालय जगन्नाथ पुरी के ज्योतिषाचार्य डॉ. गणेश मिश्र का कहना है कि प्रदोष काल में होलिका दहन किया जाना चाहिए। प्रदोष काल यानी दिन खत्म होने और रात शुरू होने के बीच का समय। इस बार प्रदोष काल में पूर्णिमा और हस्त नक्षत्र का संयोग रहेगा और भद्रा दोष नहीं रहेगा। इसलिए होलिका पूजन और दहन के लिए शुभ मुहूर्त शाम 6.38 से रात 8.55 मिनिट तक रहेगा।
होलिका दहन से खुशी, सुख और समृद्धि
डॉ. मिश्र बताते हैं कि इस बार हस्त नक्षत्र में होली मनेगी। इस नक्षत्र का स्वामी चंद्रमा है। जो कि अमृत, सुख और समृद्धि का कारक है। ये ग्रह उत्सव, उल्लास और खुशी का भी कारक है। इससे मानसिक शांति और प्रसन्नता मिलती है। आज फाल्गुन पूर्णिमा है। इस तिथि का भी स्वामी चंद्रमा है इसलिए चंद्रमा का प्रभाव ज्यादा रहेगा। जिससे बीमारियों से लड़ने की ताकत बढ़ेगी। हस्त नक्षत्र लक्ष्मी कारक माना जाता है। इस नक्षत्र में चंद्रमा होने से लक्ष्मी योग का फल मिलता है।
6 शुभ योग: बीमारियों से छुटकारा और उन्नति का संकेत
डॉ. के मुताबिक शाम को होलिका दहन के समय पर्वत, शंख और लक्ष्मी नाम के राजयोग बन रहे हैं। इसके साथ ही शुक्र से शारीरिक सौख्य योग बनेगा। इनके अलावा सर्वार्थसिद्धि, अमृतसिद्धि और वृद्धि नाम के योग भी रहेंगे। इन शुभ योगों में होलिका दहन होने से लोगों में बीमारियों से छुटकारा मिलेगा। साथ ही ये शुभ योग देश में सुख, समृद्धि और उन्नति का संकेत दे रहे हैं। देश की प्रशासनिक व्यवस्था में बड़े और अच्छे बदलाव देखने को मिलेंगे। उद्योग और व्यापार के साथ ही रोजगार बढ़ेगा साथ ही गेहूं की फसल भी अच्छी होगी।

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440

Leave a Reply

Your email address will not be published.