उत्तराखण्ड कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने नेता प्रतिपक्ष की भूमिका निभाने पर भरी हामी, रखी यह शर्त…

Ad
खबर शेयर करें

समाचार सच, नई दिल्ली/देहरादून (एजेन्सी)। उत्तराखण्ड कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने विधायक दल के नेता की भूमिका को निभाने पर हामी भर दी है परन्तु उन्होंने आलाकमान के समक्ष शर्त रख ही है कि वह विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष बनेंगे अगर उनकी जगह उनके नज़दीकी व्यक्ति को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष का पद सौंप जायेगा।

आपकों बता दें कि इसी माह 13 जून को इंदिरा हृदयेश के निधन होने से राज्य में नेता प्रतिपक्ष का पद खाली हो गया था। जिसके बाद से राज्य की कांग्रेस पार्टी लगातार इस पद के नेता के लिये विचार कर रही थी। बीते दिवस दिल्ली में आयोजित बैठक में नेता प्रतिपक्ष चुने जाने के साथ ही प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष बदलने की मुहिम भी दूसरे खेमे की ओर से तेज कर दी गई है। प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेदारी हटाए जाने की सूरत में प्रीतम सिंह को नेता प्रतिपक्ष पद देने की पैरवी की गई है। हालांकि प्रीतम सिंह ने चुनाव से महज चंद महीनों पहले और महज एक विधानसभा सत्र शेष रहते नेता प्रतिपक्ष की जिम्मेदारी लेने से इन्कार कर दिया है। बाद में सिंगल लाइन का प्रस्ताव पास किया गया था कि विधायक दल का नेता सोनिया गांधी चुनेंगी।
मंगलवार को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने विधायक दल के नेता की भूमिका को निभाने पर हामी भरते हुए आलाकमान के समक्ष शर्त रख दी। शर्त में उनका कहना है कि वह विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष बनेंगे अगर उनकी जगह उनके नज़दीकी व्यक्ति को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष का पद सौंप जायेगा।
फिलहाल सूत्रों के मुताबिक मंगलवार शाम तक नए विधायक दल के नेता की घोषणा संभव है। पार्टी औपचारिक तौर पर विधायक दल के नेता के नाम का ऐलान कर सकती है।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *