306 कैडेट बतौर सैन्य अफसर भारतीय सेना का बनें हिस्सा

खबर शेयर करें

-रक्षा मंत्री ने ली परेड की सलामी
-रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने सशस्त्र बल में शामिल हुए कैडटों से सेवा एवं शांति का संदेश दुनिया तक ले जाने के लिए कहा।

समाचार सच, देहरादून (एजेंसी)। भारतीय सैन्य अकादमी में पासिंग आउट परेड के बाद 306 कैडेट बतौर सैन्य अफसर भारतीय सेना का हिस्सा बन गए। इस ऐतिहासिक परेड में मित्र देशों के 71 कैडेट भी पास आउट होकर अपने-अपने देशों की फौज का हिस्सा बन जायेंगे। इस बार पासआउट होने वाले 306 भारतीय कैडेटों में उत्तराखंड राज्य के 19 कैडेट पासआउट हो रहे हैं। इस संख्या में इनमें मित्र देशों को मिले 2413 सैन्य अधिकारी भी शामिल हैं। इस अवसर पर देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बतौर रिव्यूइंग अफसर ऐतिहासिक चेटवुड भवन के सामने ड्रिल स्क्वायर पर पासिंग आउट परेड की सलामी ली। यह पहला मौक़ा है जब आईएमए पासिंग आउट परेड में उत्तराखंड का कोई मुख्यमंत्री शिरकत कर रहा है।

देहरादून में भारतीय सैन्य अकादमी की पासिंग आउट परेड को संबोधित करते हुए रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने सशस्त्र बल में शामिल हुए कैडटों से सेवा एवं शांति का संदेश दुनिया तक ले जाने के लिए कहा। सशस्त्र बलों में शामिल हुए कैडटों को बधाई देते हुए उन्होंने कहा, आपके प्रशिक्षण ने न केवल आपको शक्ति दी है बल्कि आपके जीवन को भी नया अर्थ दिया है।
इसी के साथ रक्षामंत्री ने कैडटों से कहा कि पाकिस्तान जैसे पड़ोसी से निपटने के लिए हमें हर वक्त तैयार रहने की जरूरत है। उन्होंने कहा, इतिहास गवाह है कि भारत की अतिरिक्त क्षेत्रीय महत्वाकांक्षाएं नहीं रही हैं। वह अपने पड़ोसी के साथ मैत्रीपूर्ण संबंधों में यकीन रखता है लेकिन हमें पाकिस्तान जैसे पड़ोसी से निपटने के लिए तैयार रहना होगा।

ऐतिहासिक पासिंग आउट परेड के साक्ष्य देश की सेवा में जुड़ने जा रहे कैडिट के परिजन सहित तमाम पूर्व सैन्य अधिकारी बने हैं। वहीं पासिंग आउट परेड को देखते हुए आइएमए परिसर सहित आस-पास के इलाकों की कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई है अफगानिस्तान, भूटान, तजाकिस्तान, मारीशस, श्रीलंका, नेपाल आदि देशों के अतिथि व वरिष्ठ सैन्य अधिकारी बीते दिन ही आईएमए पहुंच चुके थे। देश के भावी सैन्य अफसर बनने जा रहे भारतीय सैन्य अकादमी से पास आउट होने वाले कैडिट में अंतिम पग पार करते ही भारतीय सेना के अधिकारी बन जायेंगे।

शनिवार को एक बार फिर भारतीय सैन्य अकादमी उस ऐतिहासिक पल का गवाह बना जब देश के 306 कैडिट और मित्र देशों के 71 कैडेट जोश के साथ कदमताल करते हुए सैन्य क्षेत्र में अधिकारी बनकर अपनी एक नई जिम्मेदारी की तरफ कदम बढ़ाएंगे।

परेड के उपरांत सोमनाथ स्टेडियम में आयोजित होने वाली पीपिंग व ओथ सेरेमनी के बाद पासिंग आउट बैच के 377 जेंटलमैन कैडेट बतौर लेफ्टिनेंट देश-विदेश की सेना का अभिन्न अंग बन जाएंगे। इनमें 306 युवा सैन्य अधिकारी भारतीय थलसेना कों मिलेंगे। जबकि 71 युवा सैन्य अधिकारी दस मित्र देशों अफगानिस्तान, तजाकिस्तान, भूटान, मॉरीशस, लिसिथो, किर्गिस्तान, नेपाल, श्रीलंका, तंजानिया व वियतनाम की सेना का अभिन्न अंग बनेंगे।

इन राज्यों के बने अफसर
उत्तर प्रदेश से 56, हरियाणा 39, बिहार 24, राजस्थान 21, उत्तराखंड 19, महाराष्ट्र 19, हिमाचल प्रदेश 18, दिल्ली 16, पंजाब 11, केरला 10, मध्यप्रदेश 10, तमिलनाडु 9, कर्नाटक 7, आंध्र प्रदेश 6, जम्मू कश्मीर 6, वेस्ट बंगाल 6, तेलंगाना 5, मणिपुर 4, चंडीगढ़ 4, गुजरात 4, झारखंड 4, नेपाल 2, असम 2, मिजोरम, ओडिसा, सिक्किम, अंडमान निकोबार से 1-1 कैडेट पासआउट हुए हैं।

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440