बाबा नीब करौरी महाराज के कैंची धाम का 60वें स्थापना दिवस पर हुई पूजा अर्चना, मेले में उमड़ा आस्था का सैलाब

खबर शेयर करें

समाचार सच, नैनीताल/भवाली। नैनीताल जिले के भवाली से कुछ दूरी पर स्थित भगवान हनुमान जी के परम उपासक, महान संत, विश्व प्रसिद्ध नीम करौली बाबा के परम पावन श्री कैंची धाम के 60वें स्थापना दिवस के अवसर पर श्रद्धालुओं ने विशेष पूजा अर्चना की। इस अवसर पर विश्व प्रसिद्ध कैंची धाम में भव्य मेले का भी आयोजन किया गया। मेला परिसर व आस-पास सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। Worship of Kainchi Dham of Baba Neeb Karauri Maharaj on 60th foundation day, flood of faith gathered in the fair.

आज देवभूमि उत्तराखंड की वादियों में स्थित महान संत, गुरु, दिव्यदर्शी नीम करोली बाबा जी के श्रद्धा एवं भक्ति के पावन स्थल कैंची धाम का प्रतिष्ठा दिवस अपार श्रद्धा भाव के साथ मनाया गया। इस पावन अवसर पर लाखों श्रद्धालुओं ने नीम करौली बाबा के दर्शन कर आशीर्वाद ग्रहण किया। नीम करौली बाबा ने आध्यात्म के जरिए हजारों लोगों के जीवन में बदलाव लाया। श्री नीम करौली बाबा जी को हनुमान जी के अंश के रूप में माना जाता है।

शुक्रवार 14 जून को शाम को देश के कोने-कोने से पहुंचे 20 हजार से ज्यादा श्रद्धालुओं ने रात भर हनुमान चालीसा का पाठ किया। बाबा के जयकारों से कैंची धाम गूंज उठा। मंदिर समिति की ओर से 10 हजार से अधिक श्रद्धालुओं को भोजन कराया गया। सुबह से शाम तक मंदिर में बाबा नीब करौरी महाराज के दर्शन के लिए श्रद्धालुओं की भीड़ लगी रही। 14 जून को देर रात से ही मंदिर परिसर से बाहर श्रद्धालुओं की आमद शुरू हो गई थी। दोपहर तक भारी संख्या में श्रद्धालुओं का पहुँचना जारी है। जिससे कुछ ही घंटों में करीब दो लाख श्रद्धालु मंदिर दर्शन कर चुके है। मेले को शांतिपूर्ण संपन्न कराने में जिला प्रशासन, पुलिस प्रशासन, मंदिर ट्रस्ट समेत तमाम भक्त जुटे पड़े है। शनिवार को करीब सुबह साढ़े पांच बजे मंदिर गेट खुलते ही मंदिर के भीतर बाबा के अनुयायियों का ताता लग गया। परिसर में स्थित बाबाजी, वैष्णवी देवी, विंध्यवासिनी, हनुमान, सिद्धिमाई समेत अन्य देवताओं को भोग लगाने के बाद सुबह साढ़े पांच प्रसाद वितरित शुरू किया गया। जो रात्रि 9 बजे तक जारी रहेगा। मंदिर में भारी संख्या में श्रद्धालुओं की भारी भीड़ बनी हुई है। मंदिर गेट से भवाली की ओर करीब तीन किमी तो अल्मोड़ा रोड की ओर एक किमी लंबी कतार लगी हुई है। कड़ी धूप में भक्त बाबा के भजन कीर्तन और जयकारों के साथ दर्शन कर रहे थे। प्रशासन के अनुसार बाबा के दर्शन को करीब दो लाख श्रद्धालु धाम पहुँच गए है। देर सायं तक श्रद्धालुओं के पहुँचने का सिलसिला जारी रहा। आज सुबह से ही भवाली से कैंची धाम और पनीराम ढाबे तक निजी जमीनों पर कई लोगों ने स्टाल लगाकर पानी, जूस, हलुआ, पूरी, लड्डू, दूध श्रद्धालुओं को वितरित कर पुण्य कमाया।

यह भी पढ़ें -   श्रावण माह 2024: सावन के महीने में रोजाना करें ये काम, भगवान शिव हो जाएंगे खुश

मेले को शांतिपूर्ण तरीके से निपटाने के लिए प्रशासन और पुलिस मुस्तैद दिखी। गेट खुलने से पूर्व ही एसएसपी प्रहलाद नारायण मीणा मंदिर के बाहरी गेट पर डटे रहे। जहां से उनकी निगरानी में श्रद्धालुओं ने मंदिर में प्रवेश पाया। व्यवस्था बनाने में भारी पुलिस बल तैनात किया गया है।

यह भी पढ़ें -   सावधान हल्द्वानी में घूम रहे शातिर ठग, मॉर्निंग वॉक पर निकले बुजुर्ग से ले उड़े सोने की अंगूठी व नगदी

एसएसपी प्रहलाद नारायण मीणा ने कहा-उनकी सेवा करने का अवसर सौभाग् की बात
नैनीताल वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रहलाद नारायण मीणाने स्थापना दिवस की बधाई देते हुए कहा कि जिला प्रशासन, पुलिस एवं मन्दिर समिति द्वारा जो भी व्यवस्थायें मेले के सकुशल सम्पन्न कराने हेतु की गयी है भक्त इस व्यवस्था को बनाये रखने में काफी सहयोग कर रहे हैं। अत्यधिक संख्या में भक्त अब तक दर्शन कर चुके हैं, शान्तिपूर्ण, खुशहाल तरीके से मेला चल रहा है। उन्होंने बताया कि शटल सर्विस सुगम रूप से चल रही हैं पार्किग में भी भक्तों की संख्या काफी हैं जिन्हें लगातार दर्शन कराये जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि पूरी उम्मीद है कि आज स्थापना दिवस का यह कैची धाम मेला ऐतिहासिक होने के साथ-साथ शान्तिपूर्ण तरीके से सम्पन्न होगा। बाबा जी के दरबार में आये भक्तों की सेवा करना उनको सुविधा प्रदान करना ये हमारे ड्यूटी एवं कर्तव्य है। उनकी सेवा करने का अवसर मुझे एवं मेरे विभाग को मिल रहा है ये सौभाग्य की बात है।

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440