अखिल ब्राह्मण महासभा ने रखा दस सूत्रीय मांग पत्र, निराकरण न होने पर होगा आंदोलन

Ad
Ad
खबर शेयर करें

समाचार सच, हल्द्वानी। अखिल ब्राह्मण महासभा ने दस सूत्रीय मांग पत्र रखते हुए सरकार को 15 सितम्बर तक निस्तारण का समय दिया है। ऐसा न होने पर आमरण अनशन की चेतावनी दी गई है।

यहां पत्रकारों से वार्ता में संस्था के प्रदेश अध्यक्ष पंडित विशाल शर्मा ने ब्राह्मण समाज का 10 सूत्रीय मांगो का खुला पत्र रखा। जिसमें सरकार द्वारा उत्तराखंड चार धाम देवस्थानम बोर्ड को तुरंत भंग करने एवं भगवान परशुराम जयंती सार्वजनिक अवकाश घोषित एवं धार्मिक स्थलों में पूजा करने वाले पुरोहितों के लिए मासिक भत्ता एवं गरीब ब्राह्मण कन्याओं के लिए शिक्षा एवं विवाह हेतु आर्थिक सहायता देने, स्वर्ण आयोग का शीघ्र गठन किया जाए एवं प्रत्येक शहर में भगवान परशुराम की प्रतिमा लगाने की सरकार अनुमति दें और जो राजनीतिक दल सत्ता नहीं है आने वाले चुनाव में अपने घोषणा पत्र में ब्राह्मण हित के लिए क्या-क्या योजनाएं लाने एवं ब्राह्मणों को विशेष अधिकार देने के लिए क्या क्या करने जा रही है इसको अपने घोषणा पत्र में शामिल करें।

यह भी पढ़ें -   प्रवेश की संख्या बढ़ाने को लेकर छात्रों ने किया हंगामा

कहा कि अगर वर्तमान सरकार इन मांगों पर अमल नहीं करती है तो प्रदेश अध्यक्ष पंडित विशाल शर्मा ने 15 सितंबर तक का सरकार को समय देते हुए सरकार को चेताया कि अगर मांगों पर गौर नहीं करा तो प्रदेश अध्यक्ष पंडित विशाल शर्मा अपने पदाधिकारियों के साथ 16 सितंबर से हल्द्वानी बुद्ध पार्क में आमरण अनशन करेंगे एवं धरने पर बैठेंगे और अगर फिर भी सरकार नहीं मानी तो जरूरत पड़ने पर आत्मदाह करेंगे ब्राह्मण हितों को एवं युवाओं को सरकार गुमराह ना करें और सिर्फ वोट बैंक के लिए इस्तेमाल ना करें बहुत शीघ्र ब्राह्मण महासभा का प्रतिनिधिमंडल प्रदेश के मुखिया शीघ्र मिलने देहरादून जाएगा। पूर्व उप सूचना निदेशक योगेश मिश्रा को प्रदेश वरिष्ठ उपाध्यक्ष, सलाहकार समिति के पद पर मनोनीत करते हुए अखिल उत्थान ब्राह्ममण महासभा का पटका पहनाकर स्वागत भी किया गया। पत्रकार वार्ता में प्रदेश अध्यक्ष सलाहकार समिति संजीव शर्मा, प्रदेश महामंत्री एडवोकेट उमेश जोशी, प्रदेश उपाध्यक्ष विवेक वशिष्ठ, जिलाध्यक्ष राकेश जोशी, प्रदेश सचिव रविंद्र श्रोत्रिय, जिला महामंत्री बृजेश तिवारी एवं सुनीता तिवारी आदि उपस्थित थे।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *